x ray Technician Course Details in Hindi

मेडिकल क्षेत्र सिर्फ डॉक्टर, फार्मासिस्ट, नर्स और मेडिकल लैब टेक्नीशियन तक सीमित नहीं है। इंसमे और भी कई सारे डिपार्टमेंट है जिसके बिना मेडिकल क्षेत्र की कल्पना भी नहीं कि जा सकती, ऐसे ही एक मेडिकल कोर्स है x-ray technician, जिसकी डिमांड दिन प्रतिदिन तेजी बढ़ रही है।

ऐसे में अगर आप x ray technician बनना चाहते है तो ध्यानपूर्वक यह आर्टिकल पूरा पढ़े, यहां हम एक्सरे टेक्नीशियन कैसे बने उसकी पूरी प्रॉसेस के बारे में बारीकियों से चर्चा करेंगे।

जैसे की x ray technician क्या है, एक्सरे टेक्नीशियन के काम क्या है, x ray technician kaise bane, एक्सरे टेक्नीशियन बनने के लिए कौन सा कोर्स करना होता, इत्यादि x ray technician course Details in hindi में।

x ray technician course Details in hindi

जिन्हें यह पता नहीं है कि x ray technician क्या है उनके लिए बता दे, जब किसी ब्यक्ति को अंदरूनी चोट लगती है और बाहर से ठीक तरीके से अंदाजा नहीं कि जाति तब डॉक्टर उस ब्यक्ति को उस चोटिल हुए हिस्से को एक्सरे करने के लिए कहती है।

एक्सरे-एक इमेज की तरह ही है जिसमे मरीजों के चोटिल हुए हिस्से में रेडियो तरंगों संचालित करके तस्बीर लिया जाता है। उसी तस्बीर को ही एक्सरे कहते है जिसमे रेडियो तरंग संचालन की गई हिस्सो का तस्बीर बन जाता।

x ray technician course Details in hindi, x ray technology course

उस तस्बीर यानी एक्सरे को डॉक्टर द्वारा देखने के बाद उसी के हिसाब से आगे की चिकित्सा प्रक्रिया सुरु किया जाता। जिन लोग एक्सरे बनाने का काम करते है उन्हें ही एक्सरे टेक्नीशियन कहते और एक्सरे टेक्नीशियन बनने के लिए एक्सरे टेक्नीशियन का कोर्स करना होता।

x ray Technology Course क्या है

यह एक ऐसा पैरामेडिकल कोर्स है जिसे एक्सरे टेक्नीशियन बनने के लिए किया जाता है। इसके अंतर्गत विभिन्न डिग्रियां है जिसके लिए अलग अलग योग्यता होनी चाहिए। कौन सा डिग्री के लिए क्या योग्यता चाहिए उसके बारे में आपको आगे जानने को मिलेगा।

इस कोर्स में अभ्यर्थियों को रेडियो तरंगों के प्रयोग,उसके दुष्प्रभाव, कितने मात्रा में रेडियो तरंगों की उपयोग करना चाहिए, उसके मशीनरी को मेन्टेन कैसे किया जाता है, इत्यादि के बारे में बारीकियों से चर्चा की जाती है।

कोर्स पूरा होने के बाद जब एक्सरे टेक्नीशियन बन जाएंगे तब उम्मीदवारों के लिए मेडिकल क्षेत्र में करियर बनाने का मौका मिलना सुरु हो जाएगा। ऐसे में आप चाहे तो सरकारी तथा निजी क्षेत्र में एक्सरे टेक्नीशियन के तौर पर अपना करियर बना सकते है।

x ray Technician बनने के लिए योग्यता

एक्सरे टेक्नीशियन बनने के लिए कई तरह के डिग्रियां है जिसके पात्रता भी भिन्न है। कुछ कोर्स ऐसे है जिसे 10वी के बाद किया जा सकता और कुछ ऐसे कोर्स है जिसे करने के लिए कम से कम 12वी पास करना होता फिजिक्स, केमिस्ट्री, तथा बायोलॉजी से।

ध्यान रहे 12वी या उसके समकक्ष किसी भी डिग्री करेंगे उंसमे न्यूनतम 45 प्रतिशत नंबर का होना अनिवार्य है जनरल वर्ग के छात्रों के लिए वही किसी अनुसूचित जनजातियों के छात्रों के लिए न्यूनतम 40 प्रतिशत।

एक्सरे टेक्नीशियन बनने के लिए जो भी कोर्स उपलब्ध है उसके योग्यता, फीस, कॉलेज, स्कोप और सैलरी के बारे में आगे बारीकियों से चर्चा की गई है।

यह पढ़े:

D.OPT/DOT Course Details

Bsc agriculture Course

Nursing course information in Hindi
DMLT Course Details in Hindi
D pharma Course Details in Hindi
GNM Course Details in Hindi
BMLT Course Details in Hindi

DOTT Course Details in Hindi
MBBS Course Details in Hindi

PGDMLT Course Details

x ray Technician कैसे बने

एक्सरे टेक्नीशियन या रेडियोलॉजिस्ट बनने के लिए मुख्यतः तीन डिग्रियां उपलब्ध है। जैसे, सर्टिफिकेट कोर्स, डिप्लोमा कोर्स, ग्रेजुएशन कोर्स। इन कोर्स के डिटेल्स आगे देखिए:

एक्सरे टेक्नीशियन के लिए सर्टिफिकेट कोर्स: एक्सरे टेक्नीशियन बनने के लिए जो भी सर्टिफिकेट कोर्स है उसके नाम C.X.R. & E.C.G. (Certificate in X-ray and Electrocardiogram)

यह एक सर्टिफिकेट कोर्स, जिसका समयावधि है 1 साल। इंसमे दाखिला लेने हेतु कम से कम 10वी पास करना होता किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से। इस कोर्स में लड़के और लड़की, दोनों ही दाखिला ले सकते है।

एडमिशन की बात करे तो, मुख्यतः डायरेक्ट एडमिशन ही होता है। ऐसे में अभ्यर्थियों को कॉलेज के साथ संपर्क करना होता और एडमिशन फीस भरकर कोर्स में एडमिशन लेना होता।

इस सर्टिफिकेट कोर्स के 1 साल में दो सेमेस्टर लिया जाता है जिसमे जनरल फिजिक्स एंड रेडिएशन फिजिक्स, ह्यूमन एनाटोमी, फिजियोलॉजी, रेडियोग्राफी टेक्निक, एडवांस इमेजिंग टेक्निक, प्रैक्टिकल जैसे चीजों के बारे में बारीकियों से सिखाया जाता है।

एक्सरे टेक्नीशियन के लिए डिप्लोमा कोर्स: डिप्लोमा इन एक्सरे टेक्नोलॉजी एक ऐसा कोर्स है जिसे करके आप एक्सरे टेक्नीशियन बन सकते है। यह 2 साल की एक डिप्लोमा कोर्स है। जिसे 12वी के बाद किया जा सकता है।

इंसमे दाखिला लेने हेतु अभ्यर्थियों को कम से कम 12वी पास करना होता किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से फिजिक्स, केमिस्ट्री तथा बायोलॉजी से न्यूनतम 45 प्रतिशत नंबर से।

उसके बाद ही इस कोर्स दाखिला मिलता। एडमिशन प्रॉसेस की बात करे तो, मुख्यतः डायरेक्ट एडमिशन होता लेकिन कुछ कॉलेज है जहां वह अपने कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम लेते है।

और उंसमे प्राप्त नंबर के आधार पर ही कोर्स में एडमिशन कराया जाता है। एडमिशन के दौरान ही कोर्स की एडमिशन फीस जमा करना होता। ध्यान रहे जिस कोर्स में डायरेक्ट एडमिशन मिलता है वहा किसी प्रकार की कोई एग्जाम देने की आवश्यकता नहीं, सिर्फ कॉलेज से संपर्क करके एडमिशन लेना होता।

यह 2 साल की कोर्स होने के नाते इंसमे हर छह माह के बाद में एक सेमेस्टर आयोजित किया जाता यानी पूरे कोर्स में कुल 4 सेमेस्टर देना होता, किसी किसी कॉलेज वार्षिक एग्जाम भी आयोजित होता, वैसे कॉलेज में कुल 2 बार एग्जाम पड़ता।

दो साल की कोर्स पूरा होने के बाद अभ्यर्थियों को सरकारी तथा निजी अस्पताल और दूसरे मेडिकल क्षेत्र में एक्सरे टेक्नीशियन के तौर पर नौकरी प्राप्त होती। एक एक्सरे टेक्नीशियन के लिए क्या क्या करियर स्कोप है उसके बारे में हमने नीचे बताये है आप उसे पढ़ सकते है।

एक्सरे टेक्नीशियन के लिए ग्रेजुएशन कोर्स: अगर कोई बैचलर डिग्री करना चाहते है तो बैचलर इन रेडियोलोजी या B.sc in Radiography के कोर्स कर सकते है, यह 3 साल की ग्रेजुएशन कोर्स है

जिसमे कुल छह सेमेस्टर देना होता, हर सेमेस्टर के बीच छह माह के गैप दिया जाता। इस कोर्स में दाखिला लेने हेतु अभ्यर्थियों को न्यूनतम12वी पास करना होता फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट लेकर किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कम से कम 45 प्रतिशत नंबर के साथ।

कोर्स में दाखिला लेने के लिए अभ्यर्थियों के आयु न्यूनतम 17 साल की होनी चाहिए, आयु की कोई सीमा नहीं है, 17 साल से अधिक कोई भी उम्मीदवार इस कोर्स में दाखिला ले सकते है।

कोर्स में दाखिला लेने की दो प्रॉसेस है, डायरेक्ट और एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर।

कुछ ऐसे कॉलेज है जो अपने कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम आयोजित करते है और उंसमे प्राप्त नंबर के आधार पर कोर्स में एडमिशन कराया जाता। एंट्रेंस एग्जाम देने के लिए कॉलेज के ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर एप्लीकेशन फीस देकर फॉर्म भरना होता।

उसके बाद एग्जाम पास करना है जिसमे मुख्यतः बायोलॉजी, फिजिक्स और केमिस्ट्री के प्रश्न पूछे जाते है। एक्सम में प्राप्त नंबर के आधार पर मेरिट लिस्ट तैयार किया जाता और एडमिशन की प्रॉसेस आगे बढ़ाया जाता।

और अगर कोई डायरेक्ट एडमिशन लेते है तो उन्हें कोई एग्जाम देने की जरूरत नहीं, 12वी के बाद उन्हें सिर्फ कॉलेज के साथ संपर्क करना होता, उसके बाद कोर्स फीस जमा करके एडमिशन लेना होता।

x ray Technology College

इंडिया में बहुत से कॉलेज है जहां से आप एक्सरे टेक्नोलॉजी का किसी भी कोर्स कर सकते है। यहां हमने ऐसे ही कुछ कॉलेज के नाम बताये है:

• Glocal University, Saharanpur,Uttar Pradesh
• Himalayan University, Itanagar, Arunachal Pradesh
• Apex University, Jaipur, Rajasthan
• Noida International University, Greater Noida,Uttar Pradesh
• Asian Institute Of Medical Sciences, Faridabad,Haryana
• ITM University, Gwalior,Madhya Pradesh
• Dayananda Sagar Institutions, Bangalore, Karnataka
• Sarvepalli Radhakrishnan University, Bhopal,Madhya Pradesh
• Excel Group Of Institutions, Namakkal,Tamil Nadu

x ray Technology Course fees

एक्सरे टेक्नीशियन बनने के लिए अलग अलग कॉलेज में अलग अलग कोर्स फीस होते है। आमतौर पर सरकारी कॉलेज में कोर्स फीस बहुत कम लगते है परंतु प्राइवेट कॉलेज में सरकारी कॉलेज के तुलना में कई गुना अधिक फीस देना होता।

आमतौर पर कोर्स फीस की बात करे तो, हर साल ₹10,000 से ₹60,000 तक कोर्स फीस लग जाता है। कॉलेज और राज्य के हिसाब से यह राशि भिन्न हो सकता है।

x ray Technician Scope

एक्सरे टेक्नीशियन बनने के बाद उम्मीदवारों के लिए मेडिकल क्षेत्र में अच्छे अवसर मिलना सुरु हो जाते है। हमारे देश के अलावा विदेशों में भी ऐसे उम्मीदवारों के लिए सुनहरे अवसर प्रदान किया जाता है। यहां हमने कुछ पद तथा क्षेत्र के नाम बताये है।

• मेडिकल लेबोरेटरी सुपरवाइजर
• सरकारी अस्पतालों में एक्सरे टेक्नीशियन
• प्राइवेट अस्पतालों में एक्सरे टेक्नीशियन
• असिस्टेंट एक्सरे टेक्नीशियन
• प्राइवेट एक्सरे डायग्नोस्टिक सेंटर
• रिसर्च सेंटर
• लैक्चरार
• फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्रीज
• डेयरी इंडस्ट्री मेटल एंड स्टील इंडस्ट्रीज

x ray Technician ke salary

स्टूडेंट्स के लिए सैलरी पैकेज पढ़ाई में मोटिवेशन की काम करती है। हर स्टूडेंट्स के मन मे यह सवाल अवश्य होती है कि पढ़ाई के बाद उन्हें कितना सैलरी मिलेगा। यदि आपके मन मे भी यह सवाल है तो आपको बता दे, बहुत से चीजों के ऊपर निर्भर करके सैलरी निर्धारित किया जाता है।

जैसे, क्वालिफिकेशन, काम के क्षेत्र, काम के पद, इत्यादि। आमतौर पर एक्सरे टेक्नीशियन को सुरुवात में ₹12,000 से ₹25,000 हर महीने सैलरी मिलते है। जैसे जैसे काम के एक्सपीरियंस बढ़ता है सैलरी में भी बढ़ोतरी होना सुरु हो जाते है।

निष्कर्ष: इस आर्टिकल में हमने x ray technician course details in hindi के बारे में बात की है। ऐष्म करते है आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। अगर आपको कोई सवाल पूछना हो तो कमेंट सेक्शन में पूछ सकते है, 24 घंटे के अंदर आपको जवाब दिया जाएगा।

यह पढ़े:

Bsc Nursing kya Hai
B tech kya Hai
Polytechnic kya Hai
ITI kya Hai
B pharma kya Hai

CS Course Details in Hindi

4 thoughts on “x ray Technician Course Details in Hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Telegram