Software Engineer Kaise Bane

यदि आप software engineer बनना चाहते है तो आज की आर्टिकल आपके लिए काफी फायदेमंद होने वाला है।

इस आर्टिकल पे आप जनेंगे की software engineer kaise bane, इसके लिए कौन सा कोर्स करना पड़ता है, कोर्स की फीस कितना होता, क्या स्कोप है,सैलरी कितना मिलेगा, इत्यादि।

आप कृपया इस पोस्ट को आखिरी तक ध्यानपूर्वक पढ़े तभी आपको software engineering कोर्स के बारे में बारीकी से समझ आएगा।

इसे पढ़े: Radiology Course Details in Hindi

Software engineer kaise bane, software engineering kya hai,
Software engineer kaise bane

पढ़ाई के दौरान कई सारे स्टूडेंट्स सोचते है कि वे आगे जाकर B tech कोर्स करके इंजीनियर बनेंगे या फिर पॉलिटेक्निक करके इंजीनियर बनेंगे।

लेकिन वे तय नहीं कर पाते कि उन्हें कौन सी कोर्स करना चाहिए कि आगे जाकर भविष्य उज्जवल बने। अगर आप भी इन परेशानियों से गुजर रहे है तो आपको बता दूं, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग एक ऐसी कोर्स है जिसकी मांग दिन प्रति दिन बढ़ रहे है।

जैसे जैसे समय आगे बढ़ रहे है सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल भी काफी तेजी से हो रहा है। आज के तारीख में लगभग सभी क्षेत्र में सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल बड़े पैमाने पर किया जाता है।

आज के समय पढ़ाई से लेकर नौकरी और खेती से बिजनेस से लेकर चिकित्सा, हर क्षेत्र में सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जा रहा है।

और इन सारे सॉफ्टवेयर तथा एप्लीकेशन बनाने के पीछे सिर्फ सॉफ्टवेयर इंजीनियर का ही हाथ है। जिनका काम ही है नई नई सॉफ्टवेयर बनाकर किसी भी काम को आसान बनाना।

Software engineering in hindi (सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के पूरे डिटेल्स)

अगर आप भी ऐसे सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते है तो आइए जानते है कि software engineer कैसे बने। लेकिन उससे पहले यह जान लीजिए कि सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग क्या है।

Software engineering kya hai (what is software engineer in hindi)

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के नाम सुनकर पता चल रहा होगा कि ये एक इंजीनियरिंग कोर्स है। यह एक प्रकार की स्नातकोत्तर डिग्री कोर्स (Master’s Degree) है।

क्योंकि, सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए सबसे पहले B tech करना होता है computer science engineering (CSE) में या फिर BCA (Bachelor of Computer Applications) करना होता किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी से।

इसके बाद ही आपको सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग बनने के लिए पोस्टग्रेजुएट डिग्री करने का मंजूरी मिलते जो दो साल की होती है। इंसमे सॉफ्टवेयर कैसे बनाते, कैसे मेंटेनेंस करना होता, इसका उपयोग कैसे की जा सकती है उसके बारे में बारीकियों से सिखाई जाती है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के कोर्स करने के लिए इंडिया में कई सारे कॉलेज है जहां से आप कोर्स करके सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकते है।

जैसे ही कोर्स कम्पलीट होते है उसके बाद अभ्यर्थियों के लिए हमारे देश तथा विदेशों मे काम करने का सुनहरा अवसर मिलते है। ऐसे उम्मीदवारों को बड़े बड़े कंपनियों द्वारा हाई सैलरी पर नियुक्त किया जाता है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर का क्या काम होता है

सॉफ्टवेयर इंजीनियर के कार्य है, प्रोग्रामिंग करना, नई नई सॉफ्टवेयर तथा एप्लीकेशन (App) डेवेलोप करना, कंप्यूटर गेम बनाना, इत्यादि।

इन सारे काम के लिए तरह तरह के प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखना पड़ता है।

अब आइए जानते है की सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने जाते।

Software engineer बनने के लिए योग्यता

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए 12 वी में फिजिक्स, केमिस्ट्री, तथा मैथेमेटिक्स होनी चाहिए।

और 12 वी के फाइनल एग्जाम में इन सारे सब्जेक्ट्स में न्यूनतम 60 प्रतिशत नंबर हो तो अच्छा है।

यदि 12 वी में आपके साइंस सब्जेक्ट्स नहीं थे तो भी आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकते है। उस मार्ग को जानने के लिए आप पूरी आर्टिकल ध्यानपूर्वक पढ़े।

Software Engineer kaise Bane (सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने)

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने की इस पार्ट को मैंने दो भाग में बंटा है।

पहला है, साइंस स्टूडेंट्स सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनेंगे और दूसरा है, आर्ट्स तथा कॉमर्स वाले सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनेंगे।

साइंस स्टूडेंट्स सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने

यदि आप साइंस क्षेत्र से है तो आपको इन स्टेप्स फॉलो करना होगा।

12 वी पास करे: आप किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12 वी पास करे वे भी फिजिक्स, केमिस्ट्री, तथा मैथेमेटिक्स के साथ न्यून्यतम 50 प्रतिशत नंबर से।

ध्यान रखे, हमेसा कोशिश करे न्यून्यतम नंबर से अधिक नंबर लाने की, 65 प्रतिशत से ज्यादा होगा तो आपके लिए अच्छा है। आपको आगे जाकर अछि नौकरी मिलेगा।

B tech या BE करे: इंटरमीडिएट के बाद आप कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग (CSE) में बीटेक कर सकते है। ये चार साल की एक स्नातक डिग्री है।

बीटेक के अलावा आप बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन (BCA) में BE कर सकते है। ये तीन साल की एक स्नातक कोर्स है।

Polytechnic कोर्स करके इंजीनियर बने

B tech कोर्स की पूरी जानकारी

Plastic Engineer कैसे बने

Agriculture engineer कैसे बने

Civil engineer kaise Bane

M tech या ME: बीटेक या बी ई करने के बाद अब बारी है सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने का अंतिम चरण में प्रवेश करने का।

यदि आप बीटेक किये है तो अब आपको एम टेक करना है सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में। ये दो साल की एक स्नातकोत्तर डिग्री।

और यदि आप BE किये है तो अब आप मास्टर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन (MCA) कर सकते है। इसकी आबादी है दो साल।

Programing सही से सीखे: अछि सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए अछि से प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सही से सीखना होगा।

ये है कुछ प्रोग्रामिंग लैंग्वेज, C, C++, Java, Python, Scala, JavaScript, Ruby इत्यादि।

इन लैंग्वेज के अलावा आप किसी सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट के कोडिंग नहीं कर सकते।

अब आइये जानने है कि आर्ट्स तथा कॉमर्स के स्टूडेंट्स कैसे सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकते है।

आर्ट्स और कॉमर्स के स्टूडेंट्स सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने

जिन स्टूडेंट्स के 12 वी में साइंस नहीं थे उन्हें software engineer बनने के लिए इन स्टेप्स फॉलो करना होगा।

12 वी पास करे: आप किसी भी सब्जेक्ट्स लेकर अछि नंबर से 12 वी पास करे।

पॉलिटेक्निक करे: 12 वी के बाद किसी अछि पॉलिटेक्निक कॉलेज से आप डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग (DCSE) के कोर्स लीजिए।

B tech करे: जैसे ही आपके डिप्लोमा कोर्स कम्पलीट हो जाये उसके बाद आपको बीटेक में एडमिशन ले लेना है।

बीटेक में आपको कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग (CSE) कोर्स चुनना है। इसके अलावा किसी दूसरे कोर्स मत चुनना।

अछि बात ये है कि, पॉलिटेक्निक के बाद आप जब बीटेक करेंगे आपको सीधा दूसरे वर्ष में लेटरल एडमिशन मिल जाएगा।

M tech: बीटेक खत्म होने के बाद सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग लेकर एम टेक करना है।

Congratulations अब आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन गए है।

Software engineering कोर्स के फीस

कोर्स फीस कितना होगा ये कॉलेज के ऊपर निर्भर करते है। प्राइवेट कॉलेज के तुलना में सरकारी कॉलेज में फीस काफी कम होते है।

आमतौर पर सरकारी कॉलेज में हर सेमिस्टर लगभग 20,000 से 50,000 फीस देना पड़ता है।

और प्राइवेट कॉलेज में लगभग 30,000 से 3,00,000 तक फीस होते है।

Software Engineering के सकोप

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग डिग्री धारकों के लिए हमारे देश तथा विदेशों में जॉब करने काफी अच्छी अवसर है।

कोर्स कम्पलीट होने के बाद आप इन क्षेत्र में काम कर सकते:

• सॉफ्टवेयर इंजीनियर

• सॉफ्टवेयर डेवलपर

• सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट

• सिस्टम एनालिस्ट

• IT प्रोजेक्ट मैनेजर

• वेब एडिटर

• IT सिक्योरिटी को-ऑर्डिनेटर

• मोबाइल ऐप डेवलपर

• IT ट्रेनर

• फॉरेंसिक कंप्यूटर एनालिस्ट

• कंप्यूटर गेम डेवलपर

• वीडियो गेम डेवलपर

• कंप्यूटर टेक्नीशियन

• टेक्निकल कंसलटेंट

D pharma course की डिटेल्स

B pharma करके फार्मासिस्ट बने

DMLT करके लैब टेक्नीशियन बने

GNM नर्स कैसे बने – पूरी जानकारी

Mechanical engineer कैसे बने

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग सैलरी

सैलरी की बात करे तो, इस कोर्स करने के बाद आपको अछि खासी सैलरी पैकेज मिल जाते है।

यदि एवरेज सैलरी देखा जाए तो हर महीने 35,000 से 1.5 लाख तक सैलरी मिलते है।

गूगल, माइक्रोसॉफ्ट जैसे कंपनी में सालाना करोड़ों का सैलरी पंकज मिलते है।

निष्कर्ष: आज की इस लेख में आपको software engineer kaise bane जाते है उसके बारे में जानकारी प्रदान किए गए है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स के बारे जानकर आपको किसी लगी कमेंट सेक्शन में अवश्य बताएं।

अगर कोई सवाल या सुझाव है तो भी बता सकते है। और आपके जिन दोस्तो को सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के बारे खास रुचि है उनके साथ ये आर्टिकल साझा करना मत भूलना।

मिलते है अगले पोस्ट में तब तक के लिए मुस्कुराते रहिये। धन्यवाद!

4 thoughts on “Software Engineer Kaise Bane”

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Telegram