Psychology क्या है और Psychologist kaise Bane पूरी जानकारी

यदि आप आम फील्ड से हटकर थोड़ा अलग क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है? अगर ऐसा है तो Psychology आपके लिए एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है। आज के तारीख में Psychology Course का मांग भी तेजी से बढ़ रही है।

इस डिमांड के चलते बहुत से स्टूडेंट्स साइकोलॉजी के फील्ड में भविष्य बनाने का सपना देख रहे है परंतु उन्हें इसके बारे में सही जानकारी नहीं है कि Psychologist kaise Bane और साइकोलोजिस्ट बनने के लिए कौन कौन से स्टेप्स से गुजरना पड़ता है।

साथ ही इस लेख में हम जानेंगे कि psychology kya hai, psychologist kaise Bane, 12 वीं के बाद मनोविज्ञान में करियर ऑप्शन क्या क्या है, साइकोलॉजी कोर्स में एडमिशन के लिए योग्यता, साइकोलॉजी कोर्स फीस, बेस्ट कॉलेज, नौकरी, सैलरी, इत्यादि psychology course in hindi में।

यदि आपको इन सभी विषयों के बारे जानकारी हासिल करनी है तो इस लेख को ध्यानपूर्वक आखरी तक पढ़े, आशा करते है आपको साइकोलॉजी कोर्स से जुड़े सभी मिल जाएगी। साइकोलोजिस्ट कैसे बनते है यह जानने से आइये जानते है कि साइकोलॉजी क्या है।

Psychology kya hai (Psychology course in hindi)

Psychology का हिंदी मतलब है मनोविज्ञान, यह विज्ञान की एक ऐसी शाखा है जिसमे मस्तिष्क और उसके व्यवहार से जुड़े शिक्षा प्रदान किया जाता है। मनोविज्ञान में भावनाओं और विचारों सहित सचेत और अचेतन घटनाओं का भी अध्ययन किया जाता है।

Psychology kya hai, psychologist kaise bane
Psychologist kaise Bane

साइकोलॉजी ले अंतर्गत कई प्रकार के कोर्स होते है जैसे कि; सर्टिफिकेट इन साइकोलॉजी, डिप्लोमा इन साइकोलॉजी, बैचलर डिग्री इन साइकोलॉजी और पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री इन साइकोलॉजी। इसके अलावा एमफिल और पीएचडी जैसे डिग्री भी शामिल है।

साइकोलॉजी के अंडर ग्रेजुएट कोर्स में भी दो भाग होते है; पहला है बीएससी इन साइकोलॉजी, जिसे 10+2 में बायोलॉजी लेकर पढ़ाई करने वाले विद्यार्थी चुन सकते है और दूसरा है बीए इन साइकोलॉजी, जिसे 10+2 पास करने वाले कोई भी विद्यार्थी कर सकते है।

साइकोलॉजी कोर्स में मुख्यतः मेरिट और एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर एडमिशन मिल जाता है। हालांकि कुछ इंस्टीट्यूट्स में डायरेक्ट एडमिशन भी मिलता है। अधिकतर कॉलेज में रेगुलर कोर्स आफर किया जाता है जिसमे विद्यार्थियों को नियमित कक्षा में उपस्थित होना पड़ता, परंतु कुछ ओपन यूनिवर्सिटीज में डिस्टेंस एजुकेशन की सुविधाएं भी उपलब्ध होई है।

आशा करते है आपको समझ आ गया होगा कि साइकोलॉजी क्या है अब आइये जानते है साइकोलोजिस्ट बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

Psychologist बनने के लिए योग्यता

अगर आप 12 वीं के बाद मनोविज्ञान में करियर बनाने का रुचि रखते है तो आपके पास निम्नलिखित पात्रता मानदंड होना अनिवार्य है तभी आप साइकोलोजिस्ट बन पाएंगे;

• साइकोलोजिस्ट बनने वाले उम्मीदवारों को स्टेट या नेशनल मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 की पढ़ाई पूरी करनी पड़ती है।

• अगर कोई बीएससी इन साइकोलॉजी लेकर ग्रेजुएशन कोर्स करना चाहे तो उन्हें 10+2 की पढ़ाई बायोलॉजी लेकर करना होगा।

• बीए इन साइकोलॉजी करने के लिए उम्मीदवारों को किसी भी सब्जेक्ट्स (साइंस/आर्ट्स/कॉमर्स) लेकर 10+2 पूरा करना होगा।

• उम्मीदवारों को 10+2 में न्यूनतम 45 प्रतिशत नंबर प्राप्त करना होता और आरक्षण वर्ग के उम्मीदवारों के लिए 5 नंबर की छूट मिलता है।

• साइकोलॉजी कोर्स में दाखिला लेकर साइकोलोजिस्ट बनने वाले उम्मीदवारों का आयु न्यूनयम 17 साल होना चाहिए। इंसमे कोई सर्वाधिक सीमा नहीं है हालांकि, कुछ कॉलेज और यूनिवर्सिटीज सर्वाधिक 35 साल के आयु वाले उम्मीदवारों को ही एडमिशन देते है।

• अधिकतर कॉलेज और यूनिवर्सिटीज में एंट्रेंस और मेरिट के आधार पर एडमिशन मिलता है। जिन कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम लिया जाता, वहां एडमिशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ेगा।

दूसरे करियर ऑप्शन:

Doctor Kaise Bane

Engineer kaise Bane

MR kaise Bane

Police Constable kaise Bane

Lab Technician kaise Bane

Singer kaise Bane

CS kaise Bane

Radiologist kaise Bane

Bank Clerk kaise Bane

CHO kaise Bane

MSW Course Details

Psychologist kaise Bane

दुनियाभर में साइकोलॉजी एक लोकप्रिय सब्जेक्ट्स है। समय के साथ साथ इसकी स्कोप भी कई गुना बढ़ा है। इस अवसर को देखते हुए अगर आप साइकोलोजिस्ट बनना चाहते है या 12 वीं के बाद मनोविज्ञान में करियर बनाना चाहते है तो निम्नलिखित बिंदुओं को ध्यानपूर्वक स्टेप बाय स्टेप फॉलो करें;

कंपलीट 10+2: साइकोलोजिस्ट बनने वाले उम्मीदवारों को नेशनल या स्टेट बोर्ड द्वारा मान्यता दी गई स्कूलों से 10+2 की पढ़ाई पूरी करनी होगी। अगर कोई विद्यार्थी अंडरग्रेजुएट डिग्री बीएससी इन साइकोलॉजी से करना चाहते है तो उन्हें 10+2 में बायोलॉजी लेकर पढ़ाई करनी चाहिए।

अन्यथा किसी भी स्ट्रीम के विद्यार्थी चाहे वह साइंस, आर्ट्स या कॉमर्स शाखा के ही क्यों न हो वह बीए इन साइकोलॉजी की कोर्स में दाखिला ले सकते है।

सुरक्षित 45 प्रतिशत नंबर: साइकोलॉजी की ग्रेजुएशन कोर्स में एडमिशन लेने हेतु उम्मीदवारों को कम से कम 45 प्रतिशत नंबर प्राप्त करना चाहिए तब जाकर इस कोर्स में दाखिल होने की योग्यता हासिल होते है।

परंतु आपको हमेशा एक बात याद रखना चाहिए कि, बड़े बड़े कॉलेज और यूनिवर्सिटीज, जहां मेरिट के आधार पर एडमिशन लिया जाता है वैसे कॉलेजों में एडमिशन हेतु विद्यार्थी को 10+2 में कम से कम 60 प्रतिशत से अधिक नंबर प्राप्त करनी चाहिए।

अगर कोई विद्यार्थी साइकोलॉजी में पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स करना चाहे तो उन्हें बैचलर डिग्री में न्यूनतम 45 – 55 प्रतिशत नंबर प्राप्त करना होगा।

एप्लीकेशन फॉर्म फील उप: कॉलेज और यूनिवर्सिटीज द्वारा साइकोलॉजी कोर्स में एडमिशन हेतु हर साल आवेदन पत्र निकाली जाती है, उसे कॉलेज की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाके भरना होगा।

फॉर्म भरने से पहले आपको अपने नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, डेट ऑफ बर्थ देकर रजिस्ट्रेशन करना होगा। इससे आपको यूजरनाम और पासवर्ड प्राप्त हो जाएगी जिसके मदत से आप Apply Now पर क्लिक करके फॉर्म भर सकते है।

एंट्रेंस एग्जाम: हालांकि सभी कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से एडमिशन नहीं लिया जाता फिरभी कुछ बड़े बड़े इंस्टिट्यूट द्वारा एग्जाम आयोजित किया जाता है। यहां आप कुछ एंट्रेंस एग्जाम के नाम देख सकते है; DUET MET, CUCET, BHU UGET, इत्यादि।

मेरिट लिस्ट: एंट्रेंस एग्जाम के कुछ दिन पश्चात मेरिट लिस्ट जारी किया जाता है। उसके बाद काउंसलिंग में हिस्सा लेना पड़ता है और अपने अनुसार कॉलेज का चुनाव करना होता। यदि आपका रैंक अच्छा होता है तो आपको सरकारी कॉलेज में सीट अलॉट हो जाते है।

सीट बुक करने के लिए उम्मीदवारों कुछ फीस जमा करना पड़ता है उसके बाद दस्तावेजों की सत्यापित करने के पश्चात कोर्स में एडमिशन दिया जाता है। एडमिशन के दौरान एडमिशन फीस की रकम जमा करना होता तब जाकर एडमिशन मिलता है।

Best Psychology Colleges in India

इंडिया में बहुत से कॉलेज है जहां साइकोलॉजी कोर्स करवाई जाती है परंतु हमेशा किसी अच्छे कॉलेज से ही साइकोलॉजी का कोर्स करना चाहिए ताकि भविष्य में प्लेसमेंट से जुड़े कोई भी समस्या न हो। वैसे तो इंडिया में सैकड़ों कॉलेज है परंतु यहां हमने कुछ बेस्ट साइकोलॉजी कॉलेज का नाम बताएं है;

• Maharaja Sayajirao University of Baroda, Vadodara, Gujarat

• Gujarat University, Ahmedabad, Gujarat

• Banaras Hindu University, Varanasi, Uttar Pradesh

• Chhatrapati Shahu ji Maharaj University, Kanpur, Uttar Pradesh

• Dayalbagh Educational Institute, Agra, Uttar Pradesh

• University of Delhi, New Delhi, Delhi

• Indira Gandhi National Open University, New Delhi, Delhi

• University of Hyderabad, Hyderabad, Telangana

• Ravenshaw University, Cuttack, Odisha

• Panjab University, Chandigarh, Punjab

• Annamalai University, Annamalai Nagar, Tamil Nadu

• Rashtrasant Tukadoji Maharaj Nagpur University, Nagpur, Maharashtra

Psychology Course Types (साइकोलॉजी कोर्स की प्रकार)

जैसे कि हमने पहले ही बताया है कि 12वी के बाद आप बीएससी इन साइकोलॉजी या बीए इन साइकोलॉजी की कोर्स कर सकते है। इंडिया में सामान्यतः तीन तरीके से साइकोलॉजी कोर्स किया जा सकता है; फुल टाइम कोर्स, पार्ट टाइम कोर्स और डिस्टेंस कोर्स।

फुल टाइम साइकोलॉजी कोर्स: अगर कोई 12वी के बाद साइकोलॉजी की फुल टाइम कोर्स करना चाहे तो उन्हें रेगुलर क्लास करना होगा।

पार्ट टाइम साइकोलॉजी कोर्स: पार्ट टाइम साइकोलॉजी कोर्स में रेगुलर क्लास करने की कोई आवश्यकता नहीं है, सप्ताह एक से दो दिन कॉलेज जाना पड़ता है।

डिस्टेंस साइकोलॉजी कोर्स: डिस्टेंस साइकोलॉजी कोर्स करने हेतु रोजाना कॉलेज जाने की आवश्यकता नहीं है और क्लास करने की भी जरूरत नहीं पड़ती। बाई पोस्ट या ईमेल के जरिये सभी स्टडी मैटेरियल्स भेज दिया जाता है।

Psychology Course ki Fees

हर कॉलेज अपने अपने रेपुटेशन के अनुसार साइकोलॉजी कोर्स की फीस तय करते है। इसके अलावा कॉलेज कैंपस, कॉलेज स्टाफ, प्लेसमेंट कैपेसिटी के ऊपर निर्भर करके भी कोर्स की फीस तय किया जाता है।

आमतौर पर इंडिया में साइकोलॉजी कोर्स की फीस हर साल ₹15,000 से ₹1,50,000 तक होता है। लगभग सभी सरकारी कॉलेजों कोर्स की फीस बहुत कम होती है परंतु प्राइवेट कॉलेजों में औसतन फीस ₹45,000 से ₹1,50,000 तक हो सकता है। यहां हमने सिर्फ औसतन फीस के बारे में बताये है।

Psychology ke Baad kya Kare (Scope of Psychology)

बीएससी इन साइकोलॉजी या बीए इन साइकोलॉजी कोर्स करने के पश्चात उम्मीदवारों को साइकोलोजिस्ट बनने का अवसर प्राप्त होती है। ऐसे उम्मीदवारों का मांग देश तथा विदेशों में काफी अधिक है।

साइकोलोजिस्ट कोर्स करने के बाद सरकारी तथा निजी क्षेत्र में कई सारे नौकरी मिलते है। यहां हमने साइकोलॉजी कोर्स के बाद कुछ करियर ऑप्शन के बारे में चर्चा की है।

क्लीनिकल साइकोलॉजी

काउंसलिंग साइकोलॉजी

हेल्थ साइकोलॉजी

टीचिंग एंड हेल्थ साइकोलॉजी

इंडस्ट्रियल साइकोलॉजी

स्पोर्ट्स साइकोलॉजी

कम्युनिटी साइकोलॉजी

एजुकेशन साइकोलॉजी

क्रिमिनल साइकोलॉजी

स्कूल काउंसलिंग

सोशल वर्क

Psychologist ki Salary

साइकोलॉजी कोर्स के बाद अगर हम साइकोलोजिस्ट बनने वालों का सैलरी की बात कार्र तो आपको बता दे, सैलरी पैकेज कई सारे चिंजो के ऊपर निर्भात करती है। जैसे कि; काम की एक्सपीरियंस, शैक्षणिक योग्यता, काम की क्षेत्र, काम की पोस्ट, इत्यादि।

आमतौर पर साइकोलोजिस्ट की सैलरी सुरूवाती दौर में ₹28,000 से ₹50,000 तक होती है, परंतु जैसे जैसे समय व्यतीत होता है, काम में अनुभवी बनते है, सैलरी में भी बढ़ोतरी होना सुरु हो जाते है।

निष्कर्ष: आज की लेख में हमने बताये है कि psychology kya hai, psychologist kaise bane, साइकोलोजिस्ट बनने के लिए क्या करना पड़ता है, इसके लिए योग्यता क्या होनी चाहिए, एडमिशन प्रॉसेस क्या है, कोर्स की फीस कितनी है, कौन कौन सा नौकरी मिलेगी, साइकोलोजिस्ट का सैलरी कितना होगा, इत्यादि।

आशा करते है आपको समझ आ गया होगा कि Psychologist कैसे बनते है। आप अपनी राय कमेंट सेक्शन में दे सकते हैं। अगर आपको यह लेख पसंद आई है तो अपने दोस्तों के साथ फेसबुक, व्हाट्सऐप जैसे सोशल मीडिया में ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि उन्हें भी साइकोलोजिस्ट बनने का पूरी जानकारी मिल सके।

कोर्स और करियर से ऐसे ही महत्वपूर्ण जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग FutureBanaye.com करे एबं हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े ताकि आपको करियर से जुड़े अपडेट मिलती रहे।

महत्वपूर्ण कोर्स:

PGDM Course Details

CMA Course Details

Hotel Management Course Information

PGDMLT Course Details

PGDCA Course Details

NEET दिए बिना 12वीं मेडिकल कोर्स

दोस्तों के साथ शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *