Polytechnic Kya Hai: एडमिशन, कोर्स फीस, एंट्रेंस, नौकरी, सैलरी, फायदे

ऐसे बहुत से अभ्यथियों का सपना होता है कि, पढ़ाई खत्म होने के तुरंत बाद ही जल्द से जल्द किसी सरकारी या निजी संस्थाओं में नौकरी मिल जाये।

लेकिन इसके लिए कौन सा कोर्स करना चाहिए ये ज्यादातर अभ्यर्थियों को पता नहीं होता। इसलिए वे इधर उधर भटकते रहते है और नौकरी पाने में बहुत ही ज्यादा समय बीत जाते।

यदि आप भी उनमें से कोई है तो क्या आपको पता है पॉलिटेक्निक एक ऐसी कोर्स है जिसे करके इंजीनियर के बाद बहुत ही अल्प समय में आप किसी सरकारी या निजी क्षेत्र में अपनी करियर बना सकते है?

अगर नहीं जानते तो आज की पोस्ट आपके लिए काफी फायदेमंद होने वाले है क्योंकि, आज हम Polytechnic kya hai, पॉलीटेक्निक करने के फायदे क्या है, कोर्स फीस कितना है, एडमिशन कैसे मिलते, बेस्ट कॉलेज कौन से है, क्या नौकरी मिलेगी, सैलरी कितनी है, इत्यादि के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे।

इन सभी पॉइंट्स को बारीकियों से समझने के लिए आर्टिकल के आखिरी तक ध्यानपूर्वक पढ़िए आशा करता हूं आपके सारे सवालों का जवाब मिल जाएगा।

Polytechnic kya hai, पॉलीटेक्निक क्या है, polytechnic ke baad kya kare, polytechnic kaise kare
polytechnic kya hai

आइए सुरु करते है आज की आर्टिकल और आपको बारीकी से बताते है की पॉलिटेक्निक क्या है (what is polytechnic in hindi)

Polytechnic kya hai (पॉलिटेक्निक क्या है)

पॉलिटेक्निक एंट्री लेवल की इंजीनियरिंग डिप्लोमा कोर्स है। ये कोर्स खासकर उन लोगो के लिए बनाई गई जो इंजीनियरिंग की क्षेत्र में खास रुचि रखते है।

पॉलीटेक्निक के अंतर्गत बहुत से कोर्स आते है जिसके समयावधि 6 माह से लेकर 3 साल तक होती है। इंसमे उम्मीदवारों को थ्योरी से अधिक प्रैक्टिकल नॉलेज और ट्रेनिंग भी प्रदान की जाती है।

इस कोर्स में प्रवेश करने हेतु किसी भी अभ्यर्थियों को न्यूनतम 10 वी या किसी भी सब्जेक्ट्स लेकर 12 वी पास करना होता किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से।

कोर्स पूरा होने के पश्चात पॉलीटेक्निक डिग्री धारियों को सरकारी तथा निजी क्षेत्र में नौकरी मिलते है। ऐसे उम्मीदवारों की मांग हमारे देश के अलावा विदेशों में काफी अधिक है।

पॉलिटेक्निक करने के लिए योग्यता (Eligibility for Polytechnic)

पोलीटेक्निक कोर्स में प्रवेश करने के लिए योग्यता की बात करे तो, हर कोर्स की तरह इसके लिए भी निर्धारित योग्यताएं मांग की जाती है।

शैक्षिक योग्यताएं: आप पॉलीटेक्निक कोर्स में प्रवेश करने के लिए 10 वी या 12 वी के बाद आवेदन कर सकते है।

इसके के लिए कोई निर्धारित सब्जेक्ट नहीं है। आप कोई भी सब्जेक्ट्स लेकर किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10 वी या 12 वी 35 प्रतिशत नंबर के पास करेंगे तो इस कोर्स के लिए योग्य माना जाते है।

आयु (Age): आयु की बात करे तो, इसके लिए न्यूनतम 15 साल की मांग की जाती है।

इसमें सर्वाधिक आयु निर्धारित नहीं है। यदि आप के आयु 15 साल से अधिक है तो आप पॉलीटेक्निक के लिए तैयार है।

यह भी पढ़े:

Polytechnic kaise kare (Admission process in hindi)

पॉलीटेक्निक के कोर्स करने के लिए निम्नलिखित स्टेप्स को बारीकियों से फॉलो करना होगा:

  • 10 वी या 12 वी पास: सबसे पहले आपको किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से मैट्रिक पास करना है या फिर इंटरमीडिएट पास पास करना होगा 35 प्रतिशत नंबर के साथ।
  • एंट्रेंस एग्जाम के लिए तैयारी: प्रवेशिका परीक्षा उत्तीर्ण होने के लिए आप अछि तैयारी करें। 10 वी के बायोलॉजी, मैथेमेटिक्स, फिजिकल साइंस तथा केमिस्ट्री ध्यान देकर पढ़े।
  • एप्लीकेशन फॉर्म फील करें: एग्जाम देने के लिए आप ऑनलाइन फॉर्म भरकर आवेदन करें। इसके लिए ऑफिसियल साइट पे जाकर अपनी नाम, मोबाइल नंबर इत्यादि दर्ज करके रजिस्ट्रेशन करें।एबं सारी शैक्षिक योग्यताएं तथा डाक्यूमेंट्स अपलोड करके सबमिट कर दे। फॉर्म सबमिट करने के बाद उसके प्रिंट आउट निकाल ले।और समय समय पर वेबसाइट विजिट करते रहिए। वहां एडमिशन समन्धित सारी जानकारियां उपडेट होती रहगी।
  • एंट्रेंस एग्जाम: आप जिस राज्य से है उस राज्य में पॉलीटेक्निक कोर्स में एडमिशन करवाने ने के लिए जो एंट्रेंस एग्जाम लिए जाते है वे दीजिए। कुछ पॉलीटेक्निक एंट्रेंस एग्जाम है: JEXPO, VOCLET, Delhi CET, JEECUP, इत्यादि।
  • काउंसलिंग: रिजल्ट निकालने के बाद रैंक के आधार पर काउंसलिंग सुरु होगा। जब तक सारे सीट भर नहीं जाएगा तब तक काउंसलिंग चलते रहगी।
  • एडमिशन प्रॉसेस: काउंसलिंग में यदि आप को किसी अच्छे कॉलेज में सीट अलॉट हो जाते है तो एडमिशन फीस जमा करके एडमिशन ले लेना है। और अगर नहीं मिलते तो आप प्राइवेट कॉलेज में डायरेक्ट एडमिशन ले सकते है। ऐसे में आप को सीधा कॉलेज से संपर्क करके एडमिशन फीस देने के पश्चात एडमिशन ले लेना होता।

इसे पढ़े: ITI Fitter Course की पूरी जानकारी

टॉप पॉलिटेक्निक कॉलेज

वैसे तो सैकड़ों पॉलीटेक्निक कॉलेज है जहां से आप पॉलीटेक्निक का किसी कोर्स कर सकते है। लेकिन कॉलेज में दाखिला लेने से पहले सही कॉलेज चुनना बहुत जरूरी है।

क्योंकि, ऐसे बहुत से कॉलेज है जहां कोर्स तो करवाया जाता है परंतु ज्यादा प्रैक्टिकल नॉलेज नहीं दी जाती और न ही कोर्स पूरा होने के पश्चात जॉब्स का प्लेसमेंट करवाई जाती।

इसलिए कॉलेज में दाखिला लेने से पहले कॉलेज के बारे रिव्यु अवश्य पता करें। यहां हमने कुछ कॉलेज में नाम बताये है आप इसके बारे में पता करके दाखिला ले सकते है।

  • वीरमाता जीजाबाई टेक्नोलॉजी इंस्टिट्यूट (VJTI), मुंबई
  • जबलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज, जबलपुर
  • पेसिफिक यूनिवर्सिटी, उदयपुर, राजस्थान
  • शहीद भगत सिंह कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, पंजाब
  • एक्सिस कॉलेज, कानपुर, उत्तर प्रदेश
  • IES ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट्स, भोपाल, मध्यप्रदेश
  • BIT इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, हिंदुपुर, आंध्र प्रदेश
  • डी वाई पाटिल टेक्निकल कैंपस, पुणे
  • Contai पॉलीटेक्निक, कांथी, पश्चिम बंगाल
  • गवर्नमेंट पॉलीटेक्निक, मुंबई, महाराष्ट्र
  • भाई परमानंद इंस्टीट्यूट ऑफ बिजनेस स्टडीज, दिल्ली
  • रौरकेला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, ओडिसा
  • कर्नाटक गवर्नमेंट पॉलीटेक्निक, मंगलोर, कर्नाटक
  • गवर्नमेंट पॉलीटेक्निक, कोटा, राजस्थान

पॉलिटेक्निक कोर्स फीस

पॉलीटेक्निक की फीस कितनी होगी ये कोर्स तथा कॉलेज के ऊपर निर्भर करती है।

यदि सरकारी कॉलेज है तो फीस काम होगा और अगर प्राइवेट कॉलेज है तो पॉलीटेक्निक की फीस कई गुना अधिक होगा।

फिरभी अगर सरकारी कॉलेज की फीस के बारे बात करे तो लगभग 10 हज़ार से 30 हज़ार के बीच कोर्स फीस आ जाते है।

और अगर निजी कॉलेज (प्राइवेट कॉलेज) की फीस देखा जाए तो कम से कम 1.5 लाख से 2.5 लाख तक होते है।

ध्यान दे: ये कोई निर्धारित फीस नहीं है हर राज्य तथा कॉलेज अपने हिसाब से कोर्स फीस चार्ज करते है।

पॉलीटेक्निक कोर्स की अवधि

पॉलिटेक्निक कोर्स के ड्यूरेशन देखा जाए तो तीन साल की है।

परंतु कुछ ऐसी कोर्स है जिसके अवधि छह (6) महीने, 1 साल, यहां तक कि 2 साल की भी होती है।

पॉलीटेक्निक के कोर्स (Branches of Polytechnic)

• Aeronautical Engineering

• Aerospace Engineering

Agricultural Engineering

• Art and Craft

Automobile engineering

• Architecture Engineering

• Biotechnology Engineering

• Biomedical Engineering

• Computer Engineering

Computer Science and Engineering

• Civil Engineering

• Ceramic Engineering

• Chemical Engineering

• Dairy Technology and Engineering

• Electrical Engineering

• Electronics and Communication

• Electronics and Telecommunication Engineering

• Electrical & Electronics Engineering

• Environmental Engineering

• Fire and Safety Management

• Food Processing and Technology

• Fashion Engineering

• Genetic Engineering

• IT Engineering

• Interior Decoration

• Infrastructure Engineering

• Instrumentation and Control Engineering

• Mining Engineering

• Metallurgy Engineering

• Mechanical Engineering

• Motorsport Engineering

• Mechatronics Engineering

• Plastics Engineering

• Power Engineering

• Petroleum Engineering

• Production Engineering

• Printing Technology

• Sound Engineering

• Textile Engineering

Polytechnic ke baad kya kare

पॉलिटेक्निक पूरा होने के बाद आप आगे की पढ़ाई जारी रख सकते है या फिर सरकारी या निजी कंपनी में काम कर सकते है।

यदि पढ़ाई जारी रखेंगे तो B.tech करके ग्रेजुएशन डिग्री हासिल करना अच्छा रहगा।

बी.टेक में पॉलिटेक्निक करने वालो को सीधा 2nd ईयर में दाखिला मिल जाते है। ग्रेजुएशन डिग्री पूरा हो जाने के बाद आप M.tech भी कर सकते है।

परंतु यदि आप नौकरी करना चाहते है तो निम्नलिखित कुछ नौकरियों के नाम दिया गया है।

पॉलिटेक्निक के बाद गवर्नमेंट जॉब: तीन साल कोर्स कम्पलीट होने के बाद आपके सामने कई सारे सरकारी क्षेत्र में काम करने का अवसर मिल जाते है।

  • रेलवे में जूनियर इंजीनियर, लोको पायलट, NTPC, RPF
  • एयरफोर्स में ग्राउंड तथा टेक्निकल स्टाफ, मिलिट्री में टेक्निकल जॉब।
  • SSC देकर लोअर दिविशनल क्लर्क (LDC), जूनियर सेक्रेटेरिएट असिस्टेंट (JSA), पोस्टल असिस्टेंट (PA), शॉर्टिंग असिस्टेंट (SA), डेटा एंट्री ऑपरेटर (DEO).
  • नेवी, एयरवे, मिलिट्री इंजीनियरिंग, सबइंस्पेक्टर, असिस्टेंट स्टेनों।
  • मेट्रो रेल, बैंक क्षेत्र, पुलिस, MTS, एग्रीकल्चर क्षेत्र, PWD जॉब्स, इत्यादि।

इन सारे सरकारी जॉब्स के अलावा कई सारे जॉब्स पाने की अवसर मिल जाते है।

प्राइवेट तथा पब्लिक कंपनियों में नौकरी: पॉलिटेक्निक होल्डर्स को इन सारे कंपनी में जॉब करने की अछि अवसर प्रदान की जाती है।

  • GAIL (गैस ऑथोरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड)
  • BHEL (भारत हैवी इलेक्ट्रिकल लिमिटेड)
  • ONGC (ऑयल एंड नेचुरल गैस कारपोरेशन)
  • ऑटोमोबाइल क्षेत्र – टाटा मोटर्स, महिंद्रा, बजाज ऑटो, मारुति सुजुकी, टोयोटा, इत्यादि।
  • एयरलाइन क्षेत्र – स्पाइसजेट, इंडिगो, जेट एयरवेस, इत्यादि।
  • टेली कम्युनिकेशन – भारती एयरटेल, रिलायंस कम्युनिकेशन, वोडाफोन आइडिया, वीडियोकॉन।
  • कंस्ट्रक्शन क्षेत्र – L&T इंजीनियरिंग एंड कंस्ट्रक्शन डिवीज़न, टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड, GMR ग्रुप, इत्यादि।

इन कंपनियों के अलावा ढेरो कंपनी में काम करने का अवसर है।

पॉलिटेक्निक के बाद सैलरी

पॉलिटेक्निक के बाद जॉब सैलरी की बात की जाए तो, हर प्रोफेशन की तरह इसमें भी काम के पद, तजुर्बे और योग्यता के अनुसार सैलरी मिलते है।

आमतौर पर एक फ्रेशर को 10,000 से 20,000 रुपये प्रति माह सैलरी मिल जाते। यह राशि समय और तजुर्बे के साथ साथ हर साल बढ़ते रहते है।

ध्यान दे: अछि सैलरी पैकेज प्राप्त करने के लिए हमेशा अछि कॉलेज में दाखिला लेने की कोशिश करे और बेहतर तरीके से पढ़ाई करके अच्छे नंबर लाये।

पॉलिटेक्निक करने के फायदे (Advantage of Polytechnic hindi)

पॉलिटेक्निक कोर्स करने का कई सारे फायदे है जो आप को नीचे बिंदु अनुसार मिल जाएगा:

  • जिन्हें जल्दी नौकरी करने की शक्त जरूरत है उनके के लिए पॉलीटेक्निक सबसे बेहतरीन कोर्स हो सकते है।
  • जिन के 12 वी में साइंस नहीं है वे भी पॉलीटेक्निक के बाद बी.टेक तथा एम.टेक कर सकते है।
  • 10 वी के बाद भी पॉलीटेक्निक किया जा सकते है।
  • ये एक प्रोफेशनल कोर्स होने के नाते विदेशों में पॉलिटेक्निक वाले स्टूडेंट्स की मांग काफी अधिक है।
  • इस कोर्स के बाद B.tech (बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी) के दूसरे बर्ष में सीधा प्रवेश मिलते है।

पॉलिटेक्निक समन्धित सवाल जवाब

मैं 12 वीं के बाद पॉलिटेक्निक कर सकते हैं?

जी हां, आप 12 वी के बाद किसी भी पॉलीटेक्निक कॉलेज से ये कोर्स कर सकते है।

सरकारी कॉलेज में एडमिशन हेतु आपको एंट्रेंस एग्जाम देना होगा परंतु अधिकतर प्राइवेट कॉलेज में सीधे प्रवेश करने की सुविधाएं उपलब्ध है।

सही पॉलिटेक्निक कॉलेज कैसे चुने?

किसी कॉलेज में एडमिशन लेने से पहले उस कॉलेज AICTE के मान्यता प्राप्त है कि नहीं ये जरूर चेक कर ले।

इसके बाद कॉलेज के पुराने छात्रों से जानकारी लेने की प्रयास करें।

इसके अलावा गूगल में इस कॉलेज के रिव्यु कैसी है ये भी देखे।

क्योंकि, बहुत सारे कॉलेज है जो कि एडमिशन से पहले लंबी चौड़ी बाटे करते है।

परंतु उसमें न तो अछि इंफ्रास्ट्रक्चर है न ही उसमें कंपसिंग मिलते।

ऐसे कॉलेज से हमेसा दूरी बनाए रखने कोशिश करें इससे भविष्य में किसी भी परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा।

इसलिए हमेसा अछि कॉलेज में एडमिशन ले सस्ती कॉलेज की चक्कर मे न फंसे।

पॉलिटेक्निक करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है?

बिना तजुर्बे के फ्रेशर्स को न्यूनतम 10,000 और अधिकतम 20,000 तक सैलरी मिल जाते है।

• गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक फीस कितनी है?

सरकारी पॉलीटेक्निक कॉलेज की फीस देखा जाए तो कॉलेज के हिसाब से और राज्य के हिसाब से फीस में थोड़ा अंतर दिखाई देती है।

आमतौर पर सरकारी कॉलेज में न के बराबर फीस लगता। सरकारी पॉलीटेक्निक कॉलेज की औसतन फीस की बात करे तो, लगभग ₹ 20,000 से ₹ 30,000 तक होता है।

कुछ गवर्नमेंट पॉलीटेक्निक में इससे भी कम फीस लगता है; लगभग ₹ 5,000 से ₹ 15,000 के अंदर पूरा कोर्स कंपलीट हो जाता।
इसलिए किसी भी कॉलेज में दाखिला लेने से पहले उसके फीस के बारे में अवश्य पता कर लीजिए।

• आईटीआई के बाद पॉलीटेक्निक कर सकते है क्या?

आईटीआई एक एंट्री लेवल कोर्स है जो उम्मीदवारों को स्वनिर्भर बनाने का प्रशिक्षण देती है।

अगर कोई आईटीआई के बाद पॉलीटेक्निक करना चाहे तो उन्हें पॉलीटेक्निक के दूसरे वर्ष में दाखिला मिलेगा।

पॉलीटेक्निक के बाद गवर्नमेंट जॉब?

बहुत से नौकरियां है जिसे पॉलीटेक्निक के बाद किया जा सकता है। ऐसे ही कुछ क्षेत्र के नाम नीचे देख सकते है;

रेलवे, डीआरडीओ, डिफेंस, पुलिस, लोको पायलट, टीसीएस, विप्रो, महिंद्रा, ओएनजीसी, एग्रीकल्चर, बिजली विभाग, एविएशन, टेलिकम्युनिकेशन, ओएनजीसी, कंस्ट्रक्शन, इत्यादि।

• क्या पॉलीटेक्निक ग्रेजुएशन है?

अगर आप भी ऐसा सोचते है कि पॉलीटेक्निक ग्रेजुएशन लेवल की कोर्स है तो मुझे दुःख के साथ कहना पड़ेगा कि आपका सोच गलत है।

पॉलीटेक्निक कोर्स डिप्लोमा स्तरीय शिक्षा प्रणाली है। लेकिन है अगर कोई चाहे तो पॉलीटेक्निक पूरा करने के बाद ग्रेजुएशन लेवल की पढ़ाई (बीटेक/बिई) कर सकते है।

ऐसे में अभ्यर्थियों को B tech या BE के दूसरे वर्ष में लेटरल एंट्री मिलेगा, यानी जहां बीटेक या बिई करने में चार साल लगता था वही पॉलीटेक्निक वालों के लिए तीन साल लगेगा।

इसे पढ़े:

निष्कर्ष: ये रहा आज की आर्टिकल Polytechnic kya hai. यहां मैंने पॉलीटेक्निक कोर्स के बारे में बारीकी से बताने की कोशिश किये है।

आज की आर्टिकल आपको कैसा लगा ये कमेंट करके हमे बताए।

और आप कैन सी कोर्स के बारे खास रुचि रखते है ये भी हमारे साथ साझा कर सकते है। हम आपके सहायता करने मि पूरी कोशिश करेंगे।

इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा दोस्तो के साथ शेयर करे ताकि उन्हें भी पता चले कि पॉलिटेक्निक क्या है, इसके क्या एलिजिबिलिटी चाहिए, जॉब क्या मिलेगा और सैलरी कितनी होगी।

मिलते है अगली पोस्ट में। धन्यवाद!

4 thoughts on “Polytechnic Kya Hai: एडमिशन, कोर्स फीस, एंट्रेंस, नौकरी, सैलरी, फायदे”

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Telegram