Notifications
×
Subscribe
Unsubscribe

DPT Course Details in Hindi: एडमिशन से सिलेबस की पूरी डिटेल्स

DPT Course Details: अगर आप हेल्त क्षेत्र में करियर बनाना चाहते है तो इसके लिए कई सारे कोर्स है जिसमे से DPT भी एक ऑप्शन है। हर छात्र के लिए डॉक्टर बनना या फार्मासिस्ट बनना आसान नहीं होते क्योंकि इंसमे प्रतियोगिता दूसरे कोर्स के तुलना में काफी अधिक है।

लेकिन मेडिकल क्षेत्र में DPT एक ऐसा कोर्स है जिसमे कम्पटीशन बहुत कम, परंतु मांग काफी अच्छी है। आज के समय WHO के हिसाब से प्रति 10,000 लोगों के लिए एक फ़िज़ियोथेरेपिस्ट होनी चाहिए लेकिन अभी इंडिया कुल 5000 के आसपास क्वालिफाइड फ़िज़ियोथेरेपिस्ट है। इससे आप को अंदाज हो रहा होगा कि इस पेशे की मांग कितनी है।

इसलिए यदि आप DPT Course के बारे में बारीकियों से जानना चाहते है तो आज की आर्टिकल आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होने वाला है क्योंकि, यहां आप जनेंगे, DPT kya hai, DPT kaise kare, डीपीटी कोर्स की फीस कितनी है, कौन सा नौकरी मिलेगा, सैलरी कितना होगी, इत्यादि DPT course details in hindi में।

DPT kya Hai (DPT Course Details)

DPT का पूरा नाम है Diploma in Physiotherapy हिंदी में जिसका मतलब है भौतिक चिकित्सा में डिप्लोमा। यह दो साल की एक डिप्लोमा कोर्स है जिसमे कुल चार सेमेस्टर देने होते जो हर छह महीने में कॉलेज द्वारा आयोजित किया जाता।

DPT kya hai, dpt course details, dpt course fees, diploma in physiotherapy

दो साल पूरा होने के बाद 6 माह के एक इंटर्नशीप प्रोग्राम भी जॉइन करना होता, यह आप किसी सरकारी अस्पताल से कर सकते है। इंटर्नशिप के दौरान हर महीने रुपये स्टाइपेंड भी मिलते है। स्टाइपेंड की अमाउंट कॉलेज के ऊपर निर्भर करेगा।

डीपीटी के कोर्स पूरा होने के पश्चात आप एक डिग्री प्राप्त फ़िज़ियोथेरेपिस्ट बन जाते है। इसके बाद अस्पतालों में फ़िज़ियोथेरेपिस्ट के तौर पर काम करने का मौका मिलते है। इसके अलावा अगर कोई चाहे तो खुद का फिजियोथेरेपी क्लिनिक भी सुरु कर सकते है। इस कोर्स के स्कोप के अवसर के बारे में आप को नीचे जानने को मिलेगा।

यह कोर्स खासकर उन छात्रों के लिए बनाई गई है जो 12वी के बाद जल्द से जल्द नौकरी प्राप्त करना चाहते है या फिर जो चार साल की BPT Course न करके दो साल की DPT कोर्स करना चाहते है।

DPT Course ke Eligibilities (डीपीटी कोर्स के पात्रता)

• डीपीटी कोर्स में दाखिला लेने के लिए अभ्यर्थियों को कम से कम 10+2 पास करना चाहिए किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से या फिर 12वी के समकक्ष योग्यता हासिल करना अनिवार्य है।

• 10+2 में फिजिक्स, केमिस्ट्री तथा बायोलॉजी होनी चाहिए। इन सभी विषयों में कम से कम 45 प्रतिशत नंबर की आवश्यकता जनरल वार्ड के छात्रों के लिए। वही 40 प्रतिशत नंबर की आवश्यकता होगी अनुसूचित जनजातियों के लिए।

• इस कोर्स में दाखिला लेने हेतु कम से कम 17 साल की होनी चाहिए। इसके कोई ऐज लिमिट नहीं है, हालांकि कुछ जगह 35 वर्ष तक के ही अभ्यर्थियों को दाखिला लिया जाता है।

DPT kaise kare

डिप्लोमा इन फिजियोथेरेपी कोर्स में एडमिशन प्रॉसेस की बात की जाए तो, निम्नलिखित बातों को ध्यानपूर्वक फॉलो कीजिये आप को बारीकियों से जानकारी मिल जाएगा।

इंटरमीडिएट पास करना है: जैसे आपको पहले ही पता चल गया होगा की इस कोर्स में पढ़ाई करने हेतु 12वी में फिजिक्स, केमिस्ट्री तथा बायोलॉजी होनी चाहिए। इन सभी सब्जेक्ट्स में कम से कम 45 परसेंट नंबर की आवश्यकताएं है तभी आपको दाखिला लेने की मान्यता मिलेगी।

इसलिए पहले आप इंटरमीडिएट पास करे। ध्यान रहे, कुछ अभ्यर्थियों सोचते है कि, 12वी फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथेमेटिक्स होने से भी इस कोर्स में दाखिला मिलते है, लेकिन यह सही नहीं है। इसके लिए फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी होनी चाहिए।

एंट्रेंस एग्जाम के फॉर्म भरे: 12वी फाइनल एग्जाम के बाद इसके लिए एप्लीकेशन फॉर्म निकलते है उसे भरना है। फॉर्म भरने के लिए कॉलेज के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाए वहां पर Apply Online का बटन होगा वहां क्लिक करके अपना नाम, पता बगैरह भरिये उसके बाद आपके मार्कशीट, आयु के प्रमाणपत्र, के स्कैन कॉपी अपलोड करके Submit कर दीजिए।

इसके बाद एप्लीकेशन फॉर्म के प्रिंट आउट निकालकर अपने पास रख लीजिए। एडमिट कार्ड और एग्जाम डेट के लिए उसी वेबसाइट पर विजिट करते रहिएगा।

एंट्रेंस एग्जाम के पैटर्न को समझे: इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए पैरामेडिकल एंट्रेंस एग्जाम देना होता इंसमे कुल 100 नंबर है, हर प्रश्न के लिए 2 नंबर यानी कुलमिलाकर 50 सवाल पूछे जाते है।

इंसमे बायोलॉजी से 25 सवाल, केमिस्ट्री से 13 सवाल और फिजिक्स से 12 सवाल पूछे जाते है। एग्जाम में कोई नेगेटिव मार्किंग नहीं है यानी कोई भी गलत जवाब के लिए नंबर नहीं काटा जायेगा।

यहां आप कुछ एंट्रेंस एग्जाम के नाम देख सकते है, SMFWB Paramedical entrance exam, CPNET, IGNOU OPENMAT, AP EAMCET, IPU CET, JCECE, इत्यादि।

एडमिशन प्रॉसेस: कॉलेज द्वारा एंट्रेंस एग्जाम में प्राप्त नंबर के आधार पर काउंसलिंग आयोजित किया जाता है। अच्छे रैंक करने वालो को सरकारी कॉलेज में दाखिला मिल जाता है और पीछे रैंक करने वालो को प्राइवेट कॉलेज में।

काउंसिलिंग में शीट मिल जाने के पश्चात कुछ रुपये जमा करके शीट बुक करना होता। इसके बाद कॉलेज में जाकर एडमिशन फीस जमा करके दाखिला ले लेना है।

अगर आप एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से एडमिशन नहीं लेना चाहते तो कुछ ऐसे कॉलेज है जहां डायरेक्ट एडमिशन मिलते है। ऐसे में आप सीधा कॉलेज से संपर्क करके दाखिला ले सकते है।

Best DPT College in India

डीपीटी कोर्स करने के लिए किसी भी कॉलेज में दाखिला लेने से पहले उस कॉलेज में बारे में थोड़ा जानकारी लेने चाहिए। इससे आपको स्पष्ट हो जाएगा कि उस कॉलेज में दाखिला लेना है या नहीं।

यहां हमने कुछ कॉलेज के नाम बताये है आप चाहे तो इसके बारे में सही जानकारी लेने के पश्चात दाखिला ले सकते है।

  • King George’s Medical University, Lucknow, Uttar Pradesh
  • Calcutta Medical College, Kolkata, West Bengal
  • Bankura Sammilani Medical College, Bankura, Bankura, West Bengal
  • Uttar Pradesh University of Medical Sciences, Saifai, Uttar Pradesh
  • Regional College of Paramedical Health Sciences, Guwahati, Assam
  • Composite Regional Centre, Srinagar, Jammu & Kashmir
  • Jawaharlal Nehru Medical College, Aligarh Muslim University, Aligarh, Uttar Pradesh
  • Netaji Subhash Chandra Bose Medical College and Hospital, Jabalpur, Madhya Pradesh
  • Rabindranath Tagore University, Bhopal, Madhya Pradesh

DPT Course ke Fees

डीपीटी कोर्स के फीस कितना होगा यह निर्भर करेगा आप कौन से कॉलेज से कोर्स कर रहे उसके ऊपर। अगर सरकारी कॉलेज से कोर्स करते है तो न के बराबर फीस देना होगा और अगर प्राइवेट कॉलेज से करते है तो बहुत ही ज्यादा फीस खर्च करने होंगे।

आमतौर पर सरकारी कॉलेज में पूरे कोर्स के लिए 35,000 रुपये से लेकर 45,000 रुपये तक खर्च हो सकता है। परंतु प्राइवेट कॉलेज में 1,60,000 से 2,40,000 रुपये तक लग जाते है। यह राशि कॉलेज के हिसाब से भिन्न हो सकता है।

DPT Course ke Syllabus

सामान्यतः देश सभी कॉलेजों में Diploma in Physiotherapy के सिलेबस समान है। हालांकि कुछ कॉलेज में यह सब्जेक्ट्स थोड़ा कम या ज्यादा हो सकते है।

  • एनाटोमी
  • फिजियोलॉजी
  • पैथोलॉजी
  • माइक्रोबायोलॉजी
  • एक्सरसाइज थेरेपी
  • फ़ास्ट ऐड एंड नर्सिंग
  • स्पोर्ट्स साइंस एंड मेडिसिन
  • फ़ूड साइंस एंड न्यूट्रिशन
  • सोशियोलॉजी
  • फार्माकोलॉजी
  • फिजियोथेरेपी इन जनरल मेडिसिन एंड सर्जरी
  • बायोमैकेनिक्स
  • साइकोलॉजी

यह भी पढ़े:

DOT Course Details

DMLT Course Details

BMLT Course Details

GNM Course Details

ANM Course Details

B pharma Course Details

Bsc Nursing Details

DPT ke Baad kya kare

ढाई साल की डीपीटी कोर्स पूरा होने के पश्चात अभ्यर्थियों को डिप्लोमा इन फिजियोथेरेपी के डिग्री प्रदान की जाती है। इसके बाद उम्मीदवारों के सामने कई सारे मार्ग है कोई चाहे तो उच्च शिक्षा के लिए BPT Course कर सकते है उसके बाद MPT और Mphil कर सकते है।

इसके अलावा अगर कोई नौकरी करना चाहते तो उनके लिए भी अपार स्कोप है। ऐसे डिग्री धारी चाहे तो सरकारी या प्राइवेट क्षेत्र में नौकरी कर सकते है नहीं तो खुद के फिजियोथेरेपी क्लिनिक भी सुरु सकते है।

  • सरकारी अस्पतालों में फ़िज़ियोथेरेपिस्ट
  • प्राइवेट अस्पताल में फ़िज़ियोथेरेपिस्ट
  • कॉर्पोरेट अस्पताल में फ़िज़ियोथेरेपिस्ट
  • स्पोर्ट्स फ़िज़ियोथेरेपिस्ट
  • नॉन-प्रॉफिट ऑर्गनाइजेशन में फ़िज़ियोथेरेपिस्ट
  • नर्सिंग होम में फ़िज़ियोथेरेपिस्ट
  • खुद की फिजियोथेरेपी क्लिनिक

देश मे इन सभी कामों के अलावा विदेशों में फ़िज़ियोथेरेपिस्ट के मांग काफी अधिक है। विदेशों में ऐसे पेशे के लिए देश मे तुलना में कई गुना ज्यादा सैलरी मिलते है।

DPT ke Baad Salary

डीपीटी कोर्स पूरा होने के पश्चात काम के पद और एक्सपीरियंस के ऊपर निर्भर करके सैलरी का रकम तय होता है। आमतौर पर फ्रेशर्स को सुरुवात में 7,000 से 12,000 रुपये प्रति माह मिल जाते है। एक्सपीरियंस बढ़ने के साथ साथ सैलरी 25,000 से 30,000 हो जाता है।

निष्कर्ष: आज की आर्टिकल में Diploma in Physiotherapy (DPT) कोर्स के बारे में जानकारी दी गई है। जैसे DPT क्या है, डीपीटी कैसे करे, इस कोर्स की एडमिशन प्रॉसेस क्या है, फीस कितना लगेगा, स्कोप क्या है, सैलरी कितना मिलेगा इत्यादि।

अगर इस कोर्स से जुड़े कोई सवाल है तो कमेंट सेक्शन में पूछिये 24 घंटे के अंदर आपको जवाब दिया जाएगा। और अगर हमारे लिए कोई सुझाव है तो भी बताना न भूले। ऐसे जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग Futurebanaye.com को सब्सक्राइब करें और हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े।

दोस्तों के साथ शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published.