Notifications
×
Subscribe
Unsubscribe

Physiotherapy course in hindi, फ़िज़ियोथेरेपिस्ट कैसे बने

अगर आप physiotherapist बनना चाहते है तो आज की आर्टिकल आपके लिए काफी फायदेमंद होने वाले है। इस आर्टिकल में हम physiotherapy course के बारे में बात करेंगे ताकि फिइथेरपिस्ट बनने में आपको कोई परेशानियों का सामना न करना पड़े।

आज के समय चिकित्सा क्षेत्र में करियर बनाने का स्कोप तेजी बढ़ रही है। ऐसे में बहुत से स्टूडेंट्स डॉक्टर, नर्स, फार्मासिस्ट या लैब टेक्नीशियन बनना चाहते है लेकिन कुछ स्टूडेंट्स का सपना होता कि वह आगे जाकर अपना करियर फिजियोथेरेपी के क्षेत्र में संवारें।

अगर आप भी उनमें से कोई है तो यह पोस्ट ध्यानपूर्वक आखिरी तक पढ़े ताकि आपको पता चले की physiotherapy क्या है, Physiotherapist kaise bane, फिजियोथेरेपी कोर्स कैसे करे, कोर्स की फीस कितना लगेगी, स्कोप क्या है, सैलरी कितना है, इत्यादि physiotherapy course in hindi में।

Physiotherapy course in hindi

मेडिकल क्षेत्र में समय के साथ साथ फिजियोथेरेपी कोर्स फेमस होते जा रहे है। इसकी एक बड़ी बजह है बिना मेडिसिन के ट्रीटमेंट। जी हां फिजियोथेरेपी एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे मरीजों को ठीक करने के लिए कोई दवाई की आवश्यकता नहीं होती।

Physiotherapy course in hindi,Physiotherapist kaise bane,Physiotherapy Course ke fees

जिन लोगों को यह पता नहीं कि, फिजियोथेरेपी क्या है उनके लिए छोटा सा जानकारी पहले दे देते है उसके बाद फिजियोथेरेपी कोर्स के बारे में आपको बताएंगे ताकि physiotherapist बनना आपका आसान हो जाये।

physiotherapy kya hai

फिजियोथेरेपी चिकित्सा क्षेत्र की एक ऐसी भाग है जिसमे मरीजों को बिना दवाइयों के चिकित्सा किया जाता है इससे दवाइयों का दुष्प्रभाव का कोई डर शरीर मे नहीं होता।

इस चिकित्सा प्रक्रियाओं में सिर्फ शारीरिक व्यायाम, शारिरीक क्रिया, जैसे कार्य कलाप के ऊपर जोर दी जाती है। इस प्रक्रिया में शारिरीक और मानसिक स्वास्थ्य बनाये रखना तथा उसे और भी दृढ़ बनाने में मदत करती है।

आशा करते है आपको समझ आ गया होगा कि फिजियोथेरेपी क्या है। अब आइये बताते है physiotherapy course Details के बारे में और फ़िज़ियोथेरेपिस्ट कैसे बने उसके बारे में।

आपको बता दे, फिजियोथेरेपी एक पैरामेडिकल कोर्स है जिसके जिसके डिप्लोमा, ग्रेजुएशन बगैरह कई सारे डिग्रियां है। फ़िज़ियोथेरेपिस्ट कैसे उसके बारे में हमने बारीकियों से आगे चर्चा की है।

फ़िज़ियोथेरेपिस्ट बनने के लिए योग्यता

फ़िज़ियोथेरेपिस्ट बनने के लिए इंडियन पैरामेडिकल काउंसिल द्वारा कुछ मानदंड तय करके रखा गया है जिससे हर उम्मीदवारों को गुजरना होता।

किसी भी फिजियोथेरेपी कोर्स में पढ़ाई करने के लिए अभ्यर्थियों को सबसे पहले किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कम से कम 12वी पास करना होता न्यूनतम 50 प्रतिशत नंबर के साथ, यह जनरल वर्ग के छात्रों के लिए है। वही अनुसूचित जनजातियों के छात्रों के लिए कम से कम 45 प्रतिशत।

ध्यान रहे, इस कोर्स में वही अभ्यर्थी दाखिला ले सकते है जिनके 12वी में साइंस सब्जेक्ट रहा हो यानी जिनके 12वी में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी रहा होगा वही सिर्फ इस कोर्स में दाखिला ले पाएंगे।

इसके अलावा इस कोर्स में एडमिशन लेने हेतु कम से कम 17 साल की होनी चाहिए और सर्वाधिक आयु की कोई लिमिट नहीं है।

Physiotherapist kaise bane

फ़िज़ियोथेरेपिस्ट बनने के लिए कई सारे कोर्स है जिसे पूरा करके अभ्यर्थी फ़िज़ियोथेरेपिस्ट बन सकते है। इसके लिए मुख्यतः डिप्लोमा, बैचलर और मास्टर्स के कोर्स उपलब्ध है जिसके बारे में बारीकियों से आगे चर्चा की गई है।

डिप्लोमा इन फिजियोथेरेपी (DPT Course): डिप्लोमा इन फिजियोथेरेपी के कोर्स करने हेतु अभ्यर्थियों को सबसे पहले किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी सब्जेक्ट्स लेकर 12वी पास करना होगा या उसके समकक्ष कोई डिग्री करना होगा।

उसके बाद फिजियोथेरेपी के डिप्लोमा कोर्स में दाखिला लेने के लिए दो तरीके है। पहला है, मेरिट के आधार पर एडमिशन और दूसरा है, डायरेक्ट एडमिशन।

ज्यादातर सरकारी कॉलेज में मेरिट के आधार पर एडमिशन लिया जाता है। ऐसे में अभ्यर्थियों को एंट्रेंस एग्जाम देना होता। हर राज्य में अलग अलग नाम से एंट्रेंस एग्जाम कराया जाता।

और उंसमे प्राप्त नंबर के आधार पर कोर्स में एडमिशन लिया जाता है और डायरेक्ट एडमिशन में किसी प्रकार की कोई एग्जाम देने की आवश्यकता नहीं, आपको सीधा कोर्स में दाखिला मिल जाता है।

यह दो साल की एक डिप्लोमा कोर्स है जिसे पूरा करने के  बाद सरकारी तथा निजी अस्पतालों में फ़िज़ियोथेरेपिस्ट के रूप में नौकरी मिल जाता है।

इस कोर्स फीस, सिलेबस, सब्जेक्ट्स, बेस्ट कॉलेज, स्कोप, सैलरी, इत्यादि के बारे में जानने के लिए इस आर्टिकल को पढ़े, DPT Course Details.

बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी (BPT Course): बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी यानी BPT एक अंडरग्रेजुएट कोर्स है जिसकी समयावधि है साढ़े चार साल, इनमें से चार साल की एकेडमिक पढ़ाई और बाकी के छह महीने इंटर्नशिप करना होता।

इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए कम से कम 12वी पास करना होता फिजिक्स, केमिस्ट्री तथा बायोलॉजी से या इसके समकक्ष कोई योग्यता हासिल करना होता।

उसके बाद ही बीपीटी कोर्स दाखिला लेने की मान्यता मिलती। कोर्स में डायरेक्ट, एंट्रेंस एग्जाम, और मेरिट के आधार पर एडमिशन कराया जाता है जो हर 12वी के फाइनल एग्जाम के बाद आयोजित किया जाता।

साढ़े चार साल की कोर्स पूरा होने के पश्चात उम्मीदवारों को मेडिकल क्षेत्र में फिइथेरपिस्ट के तौर पर नौकरी मिलते है इसके अलावा कोई चाहे तो खुद की फिजियोथेरेपी क्लिनिक खोल सकते है।

ध्यान रहे इस जिन अभ्यर्थी ने पहले डीपीटी कोर्स किये है वह भी बीपीटी कर सकते है। ऐसे में उन छात्रों को बीपीटी के दूसरे वर्ष में लेटरल एडमिशन मिल जाता। यानी डीपीटी करने वाले छात्रों को साढ़े तीन साल की बीपीटी कोर्स करना होता।

ऐसे उम्मीदवारों की मांग सिर्फ हमारे देश में ही नहीं विदेशों में भी बहुत ज्यादा है। वहा पर देश की तुलना कई गुना अधिक सैलरी प्रदान की जाती है।

बीपीटी कोर्स के बारे में हमने एक डिटेल्स आर्टिकल लिख रखे जिसे आप यहां टच करके पढ़ सकते है, BPT Course Details

मास्टर ऑफ फिजियोथेरेपी (MPT Course): मास्टर ऑफ फिजियोथेरेपी दो साल की पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स है जिसमे सिर्फ ऐसे उम्मीदवार ही दाखिला ले सकते है जिनके बीपीटी कोर्स कंपलीट हुआ हो।

यह डिग्री उन अभ्यर्थियों के लिए है जो हायर स्टडी करना चाहते है और आगे जाकर लैक्चरार या रिसर्चर के रूप में अपना करियर सवांरना चाहते है।

MPT की पूरे कोर्स को चार सेमेस्टर में बंटा गया है जो हर छह माह के अंतराल में कॉलेज द्वारा आयोजित किया जाता। यह कोर्स पूरा होने के बाद अभ्यर्थियों को जॉब्स के बारे में सोचने की आवश्यकता नहीं मेडिकल से संबंधित क्षेत्र नौकरी मिल जाता।

Physiotherapy Course ke fees

यदि आप फिजियोथेरेपी कोर्स फीस के बारे में सोच रहे है तो आपको बता दे, आप जो भी कोर्स करेंगे और जहां से करेंगे उसके ऊपर फीस निर्भर करेगा, यानी यदि आप डिप्लोमा इन फिजियोथेरेपी करते है वो भी सरकारी कॉलेज से तो कम खर्च होगा और प्राइवेट कॉलेज से करेंगे तो ज्यादा फीस लगेगा।

वही अगर कोई बीपीटी कोर्स करते है तो उसके लिए अधिक फीस लगेगा। इसलिए यदि हम औसतन फीस की बात करे तो डीपीटी कोर्स के लिए ₹35,000 से ₹2,50,000 तक खर्च हो सकता है।

और बीपीटी कोर्स के लिए औसतन ₹50,000 से ₹5,00,000 तक फीस लग जाता। यह अमाउंट कॉलेज और राज्य के हिसाब से भी भिन्न हो सकता है।

और एमपीटी कोर्स फीस की बात करे तो पूरे कोर्स के लिए ₹60,000 से ₹1,50,000 तक लग जायेगा।

Physiotherapy ke Baad kya hai

आज के समय दुनियाभर में फ़िज़ियोथेरेपिस्ट की मांग तेजी से बढ़ रही है। इसकी सबसे बड़ी वजह है इंसमे दवाइयों की इस्तेमाल नहीं किया जाता इससे दवाइयों का कोई दुष्प्रभाव नहीं होता और इसकी पढ़ाई दूसरे दूसरे डॉक्टर बनने की कोर्स से काफी सहज और सरल है।

इस कोर्स पूरा होने के बाद इसकी डिग्री धारियों की मांग हमारे देश अलावा विदेशों की काफी अधिक है, जहां सैलरी भी ज्यादा प्रदान की जाती है।

इसकी पढ़ाई के बाद उम्मीदवार सरकारी अस्पताल, प्राइवेट अस्पताल, नर्सिंग होम, प्राइवेट क्लिनिक, एनजीओ, पब्लिक सेक्टर कंपनी जैसे बड़े बड़े जगह नौकरी करने का मौका मिलते है। इसके अलावा कोई चाहे तो खुद की फिजियोथेरेपी क्लिनिक सुरु कर सकते है।

आपको बताते चले, जो भी स्टूडेंट्स डीपीटी किये है वो हायर स्टडी के लिए बीपीटी और उसके बाद एमपीटी कर सकते है और चार चाहे तो पीएचडी भी कर सकते है।

Physiotherapy ke Baad Salary

यदि फ़िज़ियोथेरेपिस्ट के सैलरी की बात की जाए तो यह बहुत से चीजों के ऊपर निर्भर करती है। जैसे, करने वाले फिजियोथेरेपी डिग्री (डिप्लोमा, बैचलर, मास्टर), काम के क्षेत्र (सरकारी/प्राइवेट), काम के पद और एक्सपीरियंस जैसे बातों पर खास ध्यान रखा जाता।

आमतौर पर डिप्लोमा इन फिजियोथेरेपी करने वालो को सुरुवती में सालाना ₹1,00,000 से ₹2,50,000 की सैलरी पैकेज मिल जाता है वही बीपीटी करने वालो को सालाना ₹2,00,000 से ₹5,00,000 सुरुवात में मिल जाएगा।

लेकिन जैसे जैसे काम के एक्सपीरियंस होगा सैलरी में भी इन्क्रीमेंट होना सुरु हो जाएगा। आपको बताते चले, विदेशों में काम करने वालों को इससे कई गुना अधिक सैलरी मिलते है।

निष्कर्ष: आज की इस पोस्ट में हमने physiotherapy course in hindi के बारे में बात की है जहां आपको पता चला कि Physiotherapist कैसे बने, फिजियोथेरेपी कोर्स के फीस, फिजियोथेरेपी के बाद क्या करेंगे, फ़िज़ियोथेरेपिस्ट के सैलरी, इत्यादि।

हम आशा करते है आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। आप अपना कमेंट बता सकते है कमेंट बॉक्स में। और अपने दोस्तों से यह पोस्ट शेयर करे ताकि उन्हें भी इसके बारे में सही जानकारी मिले।

ऐसे ही जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग FutureBanaye.com के टेलीग्राम चैनल से जुड़े जहां आपको सेफ पोस्ट का नोटिफिकेशन मिल जाएगा।

यह पढ़े: D.OPT Course Details

दोस्तों के साथ शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published.