Paramedical Kya Hai,योग्यता,कोर्स फीस,समयावधि,स्कोप,सैलरी

पढ़ाई के दौरान विद्यार्थियों का सपना होता है कि वह आगे जाकर डॉक्टर या इंजीनियर बनेंगे लेकिन हर स्टूडेंट के लिए यह सपना साकार करना आसान नहीं होते।

कोई न चाहते हुए भी आर्थिक संकट की बजह से उन्हें अपने सपने से दूरी बनाने होते और कोई दूसरे बजह से डॉक्टर या इंजीनियर नहीं बन पाते।

ऐसे में स्टूडेंट्स मेडिकल क्षेत्र के इस बढ़ते हुए अवसर को देखते हुए मेडिकल क्षेत्र में अपने करियर बनाना चाहते है लेकिन उन्हें सही मार्ग पता न होने की कारण से गलत दिशा में चले जाते।

दोस्तो मैं आपको बता दूं, 12 वी के बाद ऐसे बहुत से मेडिकल कोर्स है जिसमे आप अपनी करियर बना सकते है वह भी बहुत कम खर्च में और इंसमे स्कोप हमारे देश के अलावा विदेशों में काफी ज्यादा है।

ऐसे ही एक क्षेत्र है पैरामेडिकल। जी हां, पैरामेडिकल एक ऐसे क्षेत्र है जिसके डिमांड दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है। यदि आप पैरामेडिकल कोर्स के बारे में जानने को इच्छा रखते है तो इस आर्टिकल ध्यानपूर्वक आखिरी तक पढ़े।

क्योंकि, आज हम आपको बताएंगे कि Paramedical kya hai, paramedical कैसे करेंगे, इसके अंतर्गत कितने कोर्स आते है, कोर्स की फीस कितनी होगी, स्कोप क्या है, जॉब कहां मिलेगा, सैलरी कितनी होगी, इत्यादि।

Paramedical Course Details in Hindi

सबसे पहले आइये जानते है पैरामेडिकल क्या है।

Paramedical kya hai, paramedical course details hindi

Paramedical क्या है

पैरामेडिकल, मेडिकल क्षेत्र के एक ऐसी शाखा है जिसमे स्टूडेंट्स को आपातकालीन रोगी को संभालना, मरीजों का रोग डायग्नोसिस करना जैसे स्टूल, यूरिन, ब्लड, आदि टेस्ट करना, रेडियोलोजी, एमआरआई, यूएसजी, ईसीजी, इत्यादि के बारे में बारीकी से शिखाई जाती है।

वैसे तो पैरामेडिकल कोर्स का डिमांड नौकरी के लिए काफी ज्यादा है परंतु कोई चाहे तो सेल्फ-एम्प्लॉयड भी बन सकते है। इसके बारे में आपको आगे बताएंगे।

आपके जानकारी के लिए बता दे, Paramedical के कोर्स छह महीने से लेकर चार साल तक के होते है। कौन से कोर्स समयावधि कितना है यह निर्भर करते है कोर्स के ऊपर। इसके अंतर्गत कितने कोर्स है और समयावधि कितना यह जानने के लिए पूरे आर्टिकल को ध्यान से पढ़ना होगा।

पैरामेडिकल के कोर्स पूरा होने के बाद इसके डिग्री धारकों को सरकारी तथा निजी अस्पताल, नर्सिंग होम, फार्मास्यूटिकल कंपनी तथा विदेशों में भी सुनहरे अवसर मिल जाते है।

अब आइये जानते है कि पैरामेडिकल के अंतर्गत कितने कोर्स है।

इसे पढ़े: BDS Doctor बनने की पूरी जानकारी

Paramedical Courses List (पैरामेडिकल कोर्स लिस्ट)

यदि आपके मन मे भी यह सवाल है कि what are the paramedical courses तो आपको बता दूं, इसके अंतर्गत बहुत सारे कोर्स आते है।

उंसमे से कुछ सर्टिफिकेट कोर्स है, कुछ डिप्लोमा कोर्स और कुछ बैचलर डिग्री यानी ग्रेजुएशन कोर्स एबं कुछ पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स होते है।

1. Paramedical सर्टिफिकेट कोर्स

• Certificate in Medical Laboratory Technology (इसे पढ़े: CMLT Course की डिटेल्स)

• Certificate in Physiotherapy

• Certificate in Radio Imaging Technology

• Certificate in Dialysis Technician

• Certificate in Operation Theatre Technology (COTT)

• Certificate in Assistant Nursing (CAN)

• Certificate in X-ray and Electrocardiogram

• Certificate in ECG Technology

2. Paramedical डिप्लोमा कोर्स

• डिप्लोमा इन मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी (D.M.L.T)

• पोस्टग्रेजुएट डिप्लोमा इन मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी (PG.DM.L.T)

डिप्लोमा इन आपरेशन थिएटर टेक्नोलॉजी (D.O.T.T)

• डिप्लोमा इन असिस्टेंट नर्सिंग (D.A.N)

• डिप्लोमा इन मेडिकल रेडियोलॉजी टेक्नोलॉजी (D.M.R.T)

• डिप्लोमा इन नर्सिंग केअर असिस्टेंट (D.N.C.A)

• डिप्लोमा इन डायलिसिस टेक्नीशियन (D.D.T)

• डिप्लोमा इन फिजियोथेरेपी (D.P.T) (Physiotherapy course in hindi)

डिप्लोमा इन ऑप्थलमिक टेक्नोलॉजी (D.OPT)

• डिप्लोमा इन क्रिटिकल केअर टेक्नोलॉजी (DCCT)

• डिप्लोमा इन कैथ-लैब टेक्नीशियन (DCLT)

• डिप्लोमा इन परफ्यूसन टेक्नीशियन (D.P.F.T)

• डिप्लोमा इन ईसीजी टेक्नीशियन (ECG Technician)

• डिप्लोमा इन न्यूरो इलेक्ट्रो फिजियोलॉजी (DNEP)

• डिप्लोमा इन डियाबेटिस केअर टेक्नोलॉजी (DDCT)

• डिप्लोमा इन डेंटल टेक्नीशियन

• डिप्लोमा इन प्लास्टिक टेक्नीशियन

3. Paramedical ग्रेजुएशन कोर्स

• बैचलर ऑफ साइंस इन क्रिटिकल केअर टेक्नोलॉजी

• बैचलर इन मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नीशियन

• बैचलर ऑफ आपरेशन थिएटर टेक्नोलॉजी

• बैचलर इन हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन

• बैचलर ऑफ साइंस इन परफ्यूसन टेक्नोलॉजी

• बैचलर ऑफ फिजिशियन असिस्टेंटशिप

• बैचलर ऑफ साइंस इन रेडियोलोजी

• बैचलर ऑफ साइंस इन रेडियोग्राफी

• बैचलर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी

• बैचलर ऑफ फिजिकल थेरेपी

• बैचलर ऑफ साइंस इन ऑडियोलॉजी एंड स्पीच लैंगुएज पैथोलॉजी

• बैचलर ऑफ साइंस इन प्रोस्थेसिस एंड ऑर्थोटिक्स

• बैचलर ऑफ साइंस इन ऑर्थोटिक थेरेपी

• बैचलर ऑफ साइंस इन डायलिसिस टेक्नोलॉजी

• बैचलर ऑफ साइंस इन ऑप्थलमिक टेक्नोलॉजी

• बैचलर ऑफ साइंस इन नर्सिंग

• बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी (BPT Course Details in Hindi)

इसके अलावा भी और कई सारे पैरामेडिकल कोर्स है जिसमे आप अपनी करियर बना सकते है।

4. Paramedical पोस्ट-ग्रेजुएशन कोर्स

• पोस्टग्रेजुएट इन मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी

• पोस्टग्रेजुएट इन रेडिएशन टेक्नोलॉजी

• पोस्टग्रेजुएट इन ऑक्यूपेशनल थेरेपी

• पोस्टग्रेजुएट इन फिजियोथेरेपी

• पोस्टग्रेजुएट डिप्लोमा इन हॉस्पिटल एंड हेल्थ मैनेजमेंट

• पोस्टग्रेजुएट इन हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन

• पोस्टग्रेजुएट डिप्लोमा इन चाइल्ड हेल्थ

• पोस्टग्रेजुएट इन कम्युनिटी हेल्थ साइंस

• पोस्टग्रेजुएट इन चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग

इसे पढ़े:

MLT Course Details

Radiology Course Details in Hindi

x ray Technician course Details in Hindi

आईपीएस कैसे बने – पूरी जानकारी

Paramedical Course ke Eligibilities (पैरामेडिकल कोर्स के लिए योग्यता)

Paramedical kya hai, पैरामेडिकल कोर्स के लिए योग्यता, पैरामेडिकल कोर्स फीस
Paramedical kya Hai

जैसे कि आपको पता चल गया होगा कि पैरामेडिकल के अंतर्गत आप कई तरह के कोर्स कर सकते है। उसी प्रकार अलग अलग कोर्स के लिए अलग अलग योग्यता चाहिए।

यदि हम सर्टिफिकेट पैरामेडिकल कोर्स के बारे में बात करे तो इसके लिए 10वी तथा 12वी की स्टूडेंट्स आवेदन कर सकते है। और डिप्लोमा कोर्स के लिए 12वी की छात्रों वह भी साइंस क्षेत्र से फिजिक्स, केमिस्ट्री तथा बायोलॉजी सब्जेक्ट्स के साथ।

और यदि बैचलर डिग्री की बात करे तो इसके लोए भी न्यूनतम 12वी पास होनी चाहिए फिजिक्स, केमिस्ट्री तथा बायोलॉजी विषय के साथ।

वही पोस्टग्रेजुएट कोर्स के लिए सबसे पहले ग्रेजुएशन के कोर्स यानी बैचलर डिग्री पूरा करना होगा तभी आप पोस्टग्रेजुएट कर सकते है। इसके समयावधि है दो साल।

ध्यान रहे 12वी में न्यूनतम 45 प्रतिशत से 50 प्रतिशत नंबर की मांग की जाती है। जनरल सगुडेंट्स के लिए कम से कम 50 प्रतिशत और आरक्षण वर्ग के लिए न्यूनतम 45 प्रतिशत।

पैरामेडिकल कोर्स एडमिशन

कॉलेज और कोर्स के हिसाब से एडमिशन होता है। ज्यादातर कॉलेज में तीन तरीके से एडमिशन लिया जाता है; एंट्रेंस एग्जाम, मेरिट बेसिस एडमिशन और डायरेक्ट एडमिशन।

एंट्रेंस एग्जाम: ज्यादातर डिप्लोमा और ग्रेजुएशन कोर्स में एंट्रेंस एग्जाम होता, हर राज्य में अलग अलग नाम से एंट्रेंस एग्जाम लिया जाता है। जैसे; Goa CET (GCET), NIPER JEE, CPNET, SMFWB, IPU CET, JCECE, AP EAMCET इत्यादि।

सबसे पहले एंट्रेंस एग्जाम का फॉर्म फील करना होता, इसके लिए कॉलेज/यूनिवर्सिटी के ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर आवेदन करने के लिए रजिस्ट्रेशन करना होगा।

इसके बाद कॉलेज द्वारा एंट्रेंस एग्जाम आयोजित किया जाता है जिसे उत्तीर्ण होने के बाद काउंसलिंग में हिस्सा लेकर एडमिशन लेना होता, एडमिशन के दौरान ही एडमिशन फीस भी जमा करना होगा।

मेरिट के आधार पर एडमिशन: कुछ कॉलेज में 12वी में प्राप्त नंबर के आधार पर एडमिशन करवाया जाता है। ऐसे में एडमिशन के लिए कॉलेज या यूनिवर्सिटी के ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा।

उसके बाद उम्मीदवारों का एक मेरिट लिस्ट तैयार किया जाएगा। जिसके आधार पर ही आगे की एडमिशन प्रॉसेस  सम्पन्न होता। ध्यान रहे एडमिशन के समय एडमिशन फीस जमा करना है उसके बाद ही एडमिशन पूरा होगा।

पैरामेडिकल कोर्स में डायरेक्ट एडमिशन: बहुत से कॉलेज है जहां उम्मीदवारों को डायरेक्ट एडमिशन मिलते है। ऐसे कॉलेज में अभ्यर्थियों को अपने दस्तावेजों के साथ कॉलेज में जाना होता।

कॉलेज में एडमिशन फॉर्म भरकर उसके साथ आपके योग्यता सर्टिफिकेट के ज़ेरॉक्स कॉपी, 10वी के एडमिट कार्ड, पहचान पत्र के ज़ेरॉक्स कॉपी इत्यादि सबमिट करके एडमिशन फीस जमा देकर एडमिशन लेना होगा।

Paramedical Course Ke Fees

किसी कोर्स में दाखिला लेने से पहले हर स्टूडेंट्स के मन यह सवाल जरूर आते है कि कोर्स के फीस कितना होगा। यदि आप यह सोच रहे है तो आपको बता दूं, paramedical के अंतर्गत बहुत सारे है और हर कोर्स के फीस स्ट्रक्चर अलग है।

फिरभी यदि औसतन कोर्स फीस की बात करे तो, किसी भी सर्टिफिकेट कोर्स के लिए 4000 से 40,000 तक खर्च हो सकते है। वही डिप्लोमा के लिए 10,000 से 1,00,000 तक और बैचलर डिग्री के लिए 20,000 से 5,00,000 रु एबं पोस्टग्रेजुएट के लिए 20,000 से 1,20,000 रु।

Paramedical Colleges in India

पैरामेडिकल कोर्स करने के लिए इंडिया में बहुत से सर्टिफिकेट, डिप्लोमा, बैचलर और पोस्टग्रेजुएट कॉलेज/यूनिवर्सिटीज है। आप जो भी कोर्स करना चाहते उसके कॉलेज में दाखिला लेकर कर सकते है।

• AIIMS Delhi, Delhi
• Maulana Azad Medical College, Delhi
• Kle University, Belgaum, Karnatak
• Banaras Hindu University, Varanasi, Uttar pradesh
• Government Medical College & Hospital, Chandigarh
• Govt Medical College, Nagpur, Maharashtra
• Govt. Medical College, Kottayam, Kerala
• Armed Forces Medical College, Pune, Maharashtra
• Bundelkhand University, Jhansi, Uttar pradesh
• Rajeev Gandhi College, Bhopal, Madhya Pradesh

पैरामेडिकल कोर्स कितने साल का होता है

पैरामेडिकल के अंतर्गत बहुत से कोर्स होते है; कोर्स के हिसाब से उसकी समयावधि भी भिन्न होते। अगर सर्टिफिकेट कोर्स की बात करे तो, ज्यादातर सर्टिफिकेट कोर्स 1 साल की है।

वही डिप्लोमा कोर्स की समयावधि 2.5 साल की होती है जिसमे से 2 साल की थ्योरी और प्रैक्टिकल क्लास सामिल है। दो साल पूरा होने के बाद 6 महीने की इंटर्नशिप करना होता किसी गवर्नमेंट हॉस्पिटल से।

और पैरामेडिकल की बैचलर डिग्री की बात करे तो इसकी समयावधि साढ़े तीन (3.5) होती है जिसमे छह सेमेस्टर देने होते हर छह माह के अंतराल में, उसके बाद आखरी 6 महीने की इंटर्नशिप करना होता किसी सरकारी अस्पताल से।

वही पोस्ट-ग्रेजुएशन की समयावधि 2 साल की है इसमें चार सेमेस्टर देने होते हर छह माह के बाद, उसके बाद मास्टर डिग्री कंपलीट हो जाते है।

Scope of Paramedical Course

अगर आप सोच रहे है कि पैरामेडिकल के बाद क्या करे तो आपको बता दे, यह एक ऐसी कोर्स है जिसकी मांग पूरे देश के साथ विदेशों में भी है। पैरामेडिकल डिग्री धारियों के लिए सरकारी तथा निजी क्षेत्र में अपार संभावनाएं है।

जैसे कि, सरकारी तथा निजी अस्पताल, प्राइवेट नर्सिंग होम, प्राइवेट क्लिनिक, नॉन प्रॉफिट ऑर्गनाइजेशन, रेलवे हॉस्पिटल, आर्मी हॉस्पिटल, बड़े बड़े कंपनियों का हॉस्पिटल, इत्यादि टेक्नीशियन के रूप में काम करने का अवसर मिलते है।

इसके अतिरिक्त खुद की डायग्नोस्टिक सेंटर खोल सकते है। और जिन्हें हायर स्टडी करना करना है वह नेक्स्ट लेवल की पढ़ाई जारी रख सकते है।

जैसे कि, अगर कोई पैरामेडिकल की सर्टिफिकेट कोर्स की है तो वह डिप्लोमा कर सकते है, और डिप्लोमा करने वाले बैचलर, वही बैचलर डिग्री करने वाले पोस्ट ग्रेजुएशन

पैरामेडिकल कोर्स की तैयारी कैसे करे

अगर आप पैरामेडिकल कोर्स करना चाहते है तो उसकी तैयारी पहले करनी चाहिए। इस कोर्स की पढ़ाई करने के लिए जो एडमिशन प्रॉसेस है उसके बारे में ऊपर बताया गया है।

अगर आप एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से एडमिशन लेते है तो पहले उस एग्जाम के लिए तैयारी करनी होगी। उसके लिए आप 10वी के बायोलॉजी और विज्ञान विषय और 12वी के बायोलॉजी, फिजिक्स और केमिस्ट्री की पढ़ाई करनी होगी।

इसके मुख्यतः आब्जेक्टिव टाइप की प्रश्न पूछे जाते है जिसमे चार ऑप्शन दिया रहता, इसमे कुल 100 अंको का सवाल पूछे जाते है।

अगर आपको पैरामेडिकल कोर्स में दाखिला लेना है तो खासकर बायोलॉजी विषय पर खास ध्यान देनी चाहिए क्योंकि, ज्यादातर सवाल बायोलॉजी सब्जेक्ट से ही पूछे जात

Paramedical ke Salary

पैरामेडिकल के बाद सैलरी की बात करे तो, सैलरी बहुत से चीजों के ऊपर निर्भर करती है, जैसे कि; उम्मीदवारों का शैक्षणिक योग्यता, काम का क्षेत्र, काम का पद, काम का अनुभव, इत्यादि।

आमतौर पर पैरामेडिकल डिग्री धारियों को सुरुवात में ₹15,000 हर महीने से लेकर ₹30,000 हर महीने सैलरी मिलते है। जैसे जैसे काम की अनुभव बढ़ती है सैलरी भी बढ़ना सुरु हो जाते है।

निष्कर्ष: आज की इस लेख में हमने paramedical kya Hai, पैरामेडिकल कोर्स के लिए योग्यता, पैरामेडिकल कोर्स एडमिशन, पैरामेडिकल कोर्स फीस, पैरामेडिकल कोर्स कितने साल का होता है, स्कोप, नौकरी, सैलरी, इत्यादि के बारे में बताये है।

आशा करते है आपको यह लेख पसंद आई होगी। अगर पसंद आई है तो अपने दोस्तों के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर कीजिये और ऐसे ही करियर संबंधित जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करें एबं हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े।

यह पढ़े:

Pharmacist Course Details: Pharmacist कैसे बने

PGDMLT Course Details

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Telegram