[2023] OT Course Details, ओटी टेक्नीशियन कोर्स की बारीकियां

क्या आपने अभी अभी स्कूल की पढ़ाई पूरी की और ओटी टेक्नीशियन कोर्स करके OT Technician बनना चाहते है? अगर ऐसा है तो आप बिलकुल सही पोस्ट पढ़ रहे है इस पोस्ट में हम आप से OT Course Details के बारे में रूबरू करवाएंगे।

जहां हम विस्तार से चर्चा करेंगे कि ओटी टेक्नीशियन कोर्स क्या है, OT Technician कैसे बने, ओटी टेक्नीशियन बनने के लिए खर्च कितना होता है, OT Course फीस, ओटी टेक्नीशियन कोर्स के लिए बेस्ट कॉलेज, सिलेबस, ओटी टेक्नीशियन बनने के बाद क्या करे, ओटी टेक्नीशियन की सैलरी, नौकरी, इत्यादि OT Course Details in Hindi में।

जैसे कि हम सब जानते है मेडिकल फील्ड में कई सारे कोर्स है जहां हम अपने भविष्य सवांर सकते है। वैसे ही Operation Theatre Technology एक ऐसा पैरामेडिकल कोर्स है जिसके बैगर हेल्थ सेक्टर का कल्पना करना संभव ही नहीं।

क्योंकि, किसी भी हॉस्पिटल हो या नर्सिंग होम, उसकी ऑपरेशन थिएटर में काम करने के लिए और मरीजों को सही परिसेवा प्रदान करने के लिए सुयोग्य पेशेवर व्यक्तियों का जरूरत पड़ती है। और ऑपरेशन थिएटर टेक्नोलॉजी एक ऐसा कोर्स है जिसे बनाने का मुख्य उद्देश्य है पेशेवर OT टेक्नीशियन का प्रस्तुत करना। आइए इस और भी आसान भाषा मे समझते है;

OT course details in hindi,ओटी टेक्नीशियन कोर्स,OT Course Fees in Hindi
OT Course Details in Hindi

OT Course Details in Hindi

Operation Theatre Technology एक पैरामेडिकल कोर्स है जिसे OT Technician बनने के लिए किया जाता है। ऐसे पेशेवर उम्मीदवारों को किसी भी सरकारी तथा गैर सरकारी अस्पताल, नर्सिंग होम, डायग्नोस्टिक इंस्टीट्यूशन्स, डायग्नोस्टिक इक्विपमेंट इंडस्ट्रीज में नौकरी करने का अवसर प्रदान किया जाता है।

आम कोर्स की तरह ऑपरेशन थिएटर टेक्नोलॉजी कोर्स का भी सर्टिफिकेट, डिप्लोमा, बैचलर, मास्टर, पीएचडी तथा एमफिल जैसे डिग्रियां होती है। जिसे करने के लिए पैरामेडिकल बोर्ड द्वारा जो न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता रखा गया है वह है साइंस स्ट्रीम लेकर 12वी पास।

अब जिन लोगो को ओटी टेक्नीशियन कोर्स के बारे में कोई भी जानकारी नहीं है उनके लिए थोड़ा सा जानकारी दे दूं कि ओटी टेक्नीशियन कोर्स होता क्या है और इंसमे काम क्या करना पड़ता है।

ओटी टेक्नीशियन कोर्स

ओटी टेक्नीशियन वह पेशेवर व्यक्ति होता है जो ऑपरेशन थिएटर के सभी काम का देखरेख और मैनेजमेंट करते है जैसे कि; सर्जरी के दौरान डॉक्टर को सहायता करना, मरीजों का ख्याल रखना, सर्जिकल उपकरणों का स्टेरलाइज करना, इत्यादि।

जैसे कि हमने पहले ही बताये है ओटी टेक्नीशियन मेडिकल क्षेत्र की एक अभिन्न अंग है जिसे करने के लिए ऑपरेशन थिएटर टेक्नोलॉजी का कोर्स करना होता। इसे डिप्लोमा तथा बैचलर डिग्री के माध्यम से किया जाता है।

इस कोर्स में एडमिशन के लिए मुख्यतः एंट्रेंस एग्जाम आयोजित किया जाता है। इसके अलावा कुछ राज्य में 12वी में प्राप्त नंबर के आधार पर भी एडमिशन होता है। कोर्स अनुसार इसके एवरेज फीस ₹30,000 से ₹600,000 तक होता है।

ओटी टेक्नीशियन कोर्स के योग्यता

OT Course Details in Hindi की इस भाग में अब हम जानेंगे कि ओटी टेक्नीशियन कोर्स के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए।

ओटी टेक्नीशियन कोर्स के लिए विद्यार्थियों को मुख्यतः साइंस स्ट्रीम लेकर 12वी पास करनी चाहिए किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड या इसके समकक्ष कोई कोर्स करना चाहिए जिसमें फिजिक्स, केमिस्ट्री तथा बायोलॉजी का सब्जेक्ट्स होना अत्यंत आवश्यक है।

इसके साथ विद्यार्थियों को साइंस सब्जेक्ट्स में कम से कम 45 प्रतिशत नंबर प्राप्त करनी चाहिए, अगर कोई आरक्षण वर्ग से है तो वैसे विद्यार्थियों के लिए नियमानुसार 5 नंबर की छूट भी प्रदान की जाती है। यानी आरक्षण वर्ग के विद्यार्थियों के लिए 12वी में कम से कम 40 प्रतिशत नंबर प्राप्त करना अनिवार्य है।

इसके अलावा ओटी टेक्नीशियन कोर्स में एडमिशन होने के लिए विद्यार्थियों का आयु कम से कम 17 साल होना अनिवार्य है। इसके अतिरिक्त यदि आप एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम एडमिशन लेना चाहते है तो आपको एग्जाम में अच्छे रैंक लाना होगा तभी आपको एडमिशन मिलेगा।

ओटी टेक्नीशियन कोर्स के प्रकार

ओटी टेक्नीशियन कोर्स के अंतर्गत कई सारे डिग्रियां है जैसे कि; डिप्लोमा इन आपरेशन थिएटर टेक्नोलॉजी, बीएससी इन ऑपरेशन थिएटर टेक्नोलॉजी, एमएससी इन ऑपरेशन थिएटर टेक्नोलॉजी, और हायर स्टडी के लिए पीएचडी और एमफिल आदि कोर्स है।

डिप्लोमा इन ओटी टेक्नीशियन कोर्स: डिप्लोमा इन ऑपरेशन थिएटर टेक्नोलॉजी यानी DOTT ढाई साल की एक डिप्लोमा कोर्स जिसे करने वाले उम्मीदवारों फिजिक्स, केमिस्ट्री तथा बायोलॉजी लेकर 12वी पास करनी चाहिए, और इन सभी सब्जेक्ट्स में न्यूनतम 45 प्रतिशत नंबर प्राप्त करना अनिवार्य है।

इस कोर्स में एडमिशन के लिए ज्यादातर कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम आयोजित किया जाता। इसके अलावा कुछ कॉलेज में डायरेक्ट एडमिशन तथा 12वी में प्राप्त नंबर के आधार पर भी एडमिशन मिल जाता है।

डिओटीटी कोर्स के बारे में हमने एक डिटेल्स आर्टिकल लिख रखे है। इस कोर्स के बारे में जानने के लिए आप यहां क्लिक करके पढ़ सकते है; DOTT Course Details

बीएससी इन ऑपरेशन थिएटर टेक्नीशियन कोर्स: यह तीन साल की बैचलर डिग्री है। इंसमे एडमिशन लेने हेतु विद्यार्थियों को साइंस लेकर इंटरमीडिएट पास करना होगा। इस कोर्स के लिए ₹250,000 से लेकर ₹600,000 का फीस लग जाते है।

जो विद्यार्थी सफलतापूर्वक इस कोर्स को पूरा कर लेते है तो उन्हें मेडिकल क्षेत्र में ओटी टेक्नीशियन के रूप में नौकरी प्राप्त होती है किसी सरकारी या निजी अस्पताल, नर्सिंग होम, डायग्नोस्टिक सेंटर, आदि में।

मास्टर इन ऑपेरशन थिएटर टेक्नोलॉजी कोर्स: जो विद्यार्थी बैचलर डिग्री के बाद हायर स्टडी में रुचि रखते है उनके लिए मास्टर इन ऑपेरशन थिएटर टेक्नोलॉजी एक शानदार कोर्स है। यह दो साल की एक पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स है जिसे कुल चार सेमेस्टर में बंटा गया है।

यह उन विद्यार्थियों के लिए सही है जो आगे चलकर रिसर्च के फील्ड में या टीचिंग प्रोफेशन में अपना करियर सवांरने का इच्छा रखते है। इस कोर्स को करने में लगभग ₹90,000 से ₹200,000 का फीस लगता है।

OT Course Fees in Hindi (ओटी टेक्नीशियन कोर्स फीस)

ओटी टेक्नीशियन कोर्स फीस की बात करे तो इसके अलग अलग डिग्री के लिए कोर्स फीस अलग अलग होता है। इसके अलावा राज्य और कॉलेज के हिसाब से भी फीस स्ट्रक्चर भिन्न होती है।

आमतौर पर सरकारी कॉलेज की फीस बहुत कम होता है परंतु इंसमे दाखिल होने थोड़ा कठिन है इसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देना होगा। वही प्राइवेट कॉलेज की फीस बहुत ज्यादा होती है परंतु ज्यादातर प्राइवेट कॉलेज में आसानी से एडमिशन मिल जाता है।

यदि ओटी टेक्नीशियन कोर्स फीस देखा जाए तो ₹30,000 से ₹600,000 तक कोर्स फीस लग जाता है। ध्यान रहे यहां हमने एक औसतन कोर्स फीस बताये है, यह रकम कॉलेज के हिसाब से चेंज हो सकता है।

OT Technician course kitne saal Ka Hota Hai (ओटी कोर्स समयावधि)

जैसे कि आप सभी को पहले से ही पता है ओटी टेक्नीशियन कोर्स के अंतर्गत मुख्यतः डिप्लोमा, बैचलर, मास्टर, पीएचडी तथा एमफिल का डिग्री होते है। जिनमे से डिप्लोमा और बैचलर एंट्री लेवल का कोर्स है, जिसे 12वी के बाद किया जाता है।

डिप्लोमा इन ऑपरेशन थिएटर टेक्नोलॉजी ढाई साल की कोर्स है, जिसमे से दो साल की एकेडमिक पढ़ाई और बाकी के आधा साल इंटर्नशिप करना पड़ता है किसी सरकारी अस्पताल से। इन दो सालों में विद्यार्थियों को हर छह महीने के बाद एक सेमेस्टर देने होते, यानी 2 साल में टोटल चार सेमेस्टर देने पड़ते।

वही बीएससी इन ऑपरेशन थिएटर टेक्नोलॉजी तीन साल की कोर्स है जिसमे एक साल का इंटर्नशिप करना भी अनिवार्य है। इन तीन सालों में कुल छह सेमेस्टर देने होते प्रत्येक छह महीने के अंतराल में।

और एमएससी इन ऑपरेशन थिएटर टेक्नोलॉजी कोर्स की बात करे तो यह दो साल की पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स है जिसमे कुलमिलाकर चार सेमेस्टर देने पड़ते। सफलतापूर्वक दो साल पूरा होने के पश्चात विद्यार्थियों को मास्टर डिग्री हासिल हो जाती है इन विषय मे।

दूसरे पैरामेडिकल कोर्स:

ओटी टेक्नीशियन कोर्स के लिए बेस्ट कॉलेज

ऐसे प्रोफेशनल कोर्स करने के लिए हमेशा किसी अच्छे रेपुटेटेड कॉलेज का चयन करना चाहिए जो आपके प्लेसमेंट में काफी मदत कर सकती है। यहां हमने ओटी टेक्नीशियन कोर्स के लिए कुछ बेस्ट कॉलेज का नाम बताये है;

• किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, उत्तर प्रदेश

• SVSU मेरठ, उत्तर प्रदेश

• स्कूल ऑफ नर्सिंग एंड हेल्थ साइंस, ग्रेटर नोएडा, उत्तर प्रदेश

• अटल बिहारी वाजपेयी गवर्मेंट मेडिकल कॉलेज, विदिशा, मध्य प्रदेश

• गवर्मेंट मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, चंडीगढ़, पंजाब

• महर्षि मारकंडेश्वर यूनिवर्सिटी, अम्बाला, हरियाणा

• महर्षि मारकंडेश्वर यूनिवर्सिटी, सोलन, हिमाचल प्रदेश

• नालंदा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, पटना, बिहार

• आर.जी.कर मेडिकल कॉलेज, कोलकाता, पश्चिम बंगाल

• नील रतन सिरकार मेडिकल कॉलेज, कोलकाता, पश्चिम बंगाल

• बेंगलोर मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट, बेंगलोर, कर्नाटक

• क्रिस्टियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लोर, तमिलनाडु

इन सभी कॉलेज के अलावा और भी सैकड़ों मान्यता प्राप्त कॉलेज है जहां से आप यह कोर्स कर सकते है।

Scope of OT Course (ओटी टेक्नीशियन कोर्स के बाद क्या करे)

ओटी टेक्नीशियन कोर्स पूरा होने के बाद उम्मीदवारों के सामने दो रास्ते होते है या तो वह हायर स्टडी कर सकते है अन्यथा नौकरी कर सकते है। यदि अपने डिप्लोमा इन ऑपेरशन थिएटर टेक्नोलॉजी का कोर्स किये है तो हायर स्टडी के लिए बीएससी इन ओटीटी का कोर्स कर सकते है। इसके बाद मास्टर तथा पीएचडी या एमफिल करने का भी ऑप्शन होता है।

और जो विद्यार्थी कोर्स पूरा होने के पश्चात नौकरी करना चाहते उनके लिए सरकारी तथा गैर सरकारी मेडिकल क्षेत्र में काम करने का सुनहरा मौका मिलते है। ऐसे पेशेवर व्यक्तियों को सरकारी अस्पताल, निजि अस्पताल, नर्सिंग होम, प्राइवेट क्लिनिक, डायग्नोस्टिक सेंटर, में ऑपेरशन थिएटर टेक्नीशियन के रूप में नौकरी करने का अवसर प्राप्त होती है।

इससे अतिरिक्त ऐसे पेशेवर उम्मीदवारों को सर्जिकल इक्विपमेंट मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्रीज में भी अवसर मिलते है अपने टैलेंट को दर्शाने के लिए। इसके अलावा एजुकेशनल इंस्टीट्यूट में लैक्चर के रूप में भी नौकरी कर सकते है।

OT technician salary (ओटी टेक्नीशियन कोर्स के बाद सैलरी)

बहुत से स्टूडेंट्स के मन मे यह सवाल जरूर आता है कि ओटी टेक्नीशियन कोर्स पूरा होने पश्चात सैलरी कितना मिलेगा। अगर आपके मन मे भी यह सवाल आ रहा है तो आपको बता दूं, ओटी टेक्नीशियन कोर्स पूरा होने के बाद आप जिस क्षेत्र के काम करेंगे उसी के हिसाब से आपको सैलरी मिलेगी।

आमतौर पर डिप्लोमा इन ऑपेरशन थिएटर टेक्नोलॉजी का कोर्स किये हुए फ्रेशर्स उम्मीदवारों को सुरुवात में ₹14,500 से लेकर ₹28,000 प्रत्येक महीने सैलरी मिलते है। अगर कोई बैचलर डिग्री करके नौकरी करना चाहे तो उन्हें ज्यादा सैलरी मिलेगा। इंसमे सबसे ज्यादा सैलरी मिलते उन लोगों को जिन्हें काम के एक्सपीरियंस होते।

निष्कर्ष: इस लेख में हमने ओटी टेक्नीशियन कोर्स के बारे में विस्तार से चर्चा की है ताकि OT Course Details in Hindi के स्टेप बाय स्टेप जानकारी आपको मिले और आपको OT Technician बनने में आपको कोई दिक्कत न हो।

आपको यह जानकारी कैसे लगी कमेंट करके बताये और अगर हमारे लिए कोई सुझाव है तो कमेंट सेक्शन में बताना न भूले। कोर्स और करियर से जुड़े जानकारी के लिए आप हमारे ब्लॉग को अपने ब्राउज़र में बुकमार्क करे एबं हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े।

दूसरे महत्वपूर्ण करियर:

दोस्तों के साथ शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *