2023 में Govt. Teacher kaise Bane, कब निकलेगा फॉर्म A to Z जानकारी

शिक्षक ही एक ऐसी आधार है जो देश की आने वाले भविष्य की रूपरेखा को अपने हाथों से रचना में एक अहम भूमिका पालन करते है। जिनके बैगर अच्छे देश का निर्माण करने का सपना धरे के धरे रह जाते है।

इसलिए हमारे समाज मे शिक्षकों को गुरु का दर्जा दिया गया है जो माता-पिता से भी बड़ी होती है। यदि आप का सपना भी शिक्षक बनकर समाज मे महत्वपूर्ण योगदान देना है तो विश्वास कीजिए आज की लेख से आपके शिक्षक बनने का सफर आसान हो जाएगा।

आज की यह लेख खासकर आप जैसे लोगों के लिए ही लिखा जा रहा है जो आगे चलकर सरकारी शिक्षक बनने का रुचि रखते है पर शिक्षक बनने का सही रास्ते के बारे में आपको सही से पता नहीं है। यदि आप भी इस समस्या से परेशान है तो इस लेख ध्यान से पढ़े।

यहां हम आपको स्टेप बाय स्टेप गाइड करेंगे कि Teacher kaise Bane यानी शिक्षक कैसे बने, शिक्षक बनने के लिए योग्यता, शिक्षक बनने के लिए एग्जाम, शिक्षक बनने के लिए ट्रेनिंग प्रोग्राम, एक शिक्षक का सैलरी कितनी होती है, इत्यादि।

यदि इन सभी बिंदुओं से आपको रूबरू होना है और Government teacher kaise Bane उसके बारे जानना है तो कृपया इस लेख के एक भी स्टेप को मिस न करे।

Teacher kaise bane, government teacher kaise bane, primary teacher kaise bane
Teacher kaise Bane

शिक्षक बनने के लिए योग्यता ( Eligibility to Become Teacher)

स्टूडेंट्स के जरूरत के हिसाब से विद्यालय में शिक्षकों को मुख्यतः चार भागों में बंटा गया है; प्राइमरी टीचर, ग्रेजुएट लेवल टीचर, पोस्ट ग्रेजुएट लेवल टीचर और स्पेशल एजुकेशन टीचर। लिहाजा इंसमे एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया भी भिन्न होती है।

प्राइमरी टीचर के लिए योग्यता: प्राइमरी लेवल (क्लास I-V) का शिक्षक बनने के लिए उम्मीदवारों को टीचर ट्रेनिंग प्रोग्राम जैसे D.ed / D.El.Ed / JBT जैसे कोर्स करके प्रशिक्षित होना पड़ता है और कम से कम 50 प्रतिशत नंबर के साथ 10+2 पास करना पड़ता है किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से।

मिडिल स्कूल टीचर के लिए योग्यता: वही ग्रेजुएट लेवल का टीचर यानी 10th स्टैण्डर्ड की टीचर बनने का इच्छा रखने वाले उम्मीदवारों को न्यूनतम 50 प्रतिशत नंबर के साथ ग्रेजुएशन पास करना होता।

उसके बाद दो साल की टीचर ट्रेनिंग प्रोग्राम, B.ed Course करना पड़ता। हालांकि आप अभी चार साल की BA.Bed की इंटेग्रेटेड कोर्स कर सकते है, इससे एक साल की बचत होगी।

12th Standard के टीचर के लिए योग्यता : पोस्ट ग्रेजुएट लेवल (क्लास 12 th स्टैण्डर्ड) का टीचर बनने के लिए उम्मीदवारों को सबसे पहले अपने मन पसंद किसी सब्जेक्ट में स्पेशलिजेशन करना होता यानी पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री पूरा करना होता उसके बाद दो साल की बीएड जैसे टीचर ट्रेनिंग प्रोग्राम में जॉइन होकर प्रशिक्षण लेने होता।

स्पेशल टीचर बनने के लिए योग्यता: स्पेशल टीचर के लिए उम्मीदवारों को स्पेशल डीएड या स्पेशल डीएलएड करना होता। और जो 10वीं तथा 12वीं के टीचर बनना चाहते है उन्हें स्पेशल बीएड कोर्स करना होता।

Teacher banne ke liye age limit: इन सभी बताई गई शैक्षणिक योग्यता के अलावा टीचर बनने के लिए राज्य तथा केंद्रीय स्तर पर जो एंट्रेंस एग्जाम आयोजित किया जाता है उंसमे आयु का भी खास ध्यान दिया जाता है।

किसी भी लेवल का शिक्षक बनने के लिए जनरल वर्ग के उम्मीदवारों का सर्वाधिक 40 साल अंदर होना अनिवार्य है। वही आरक्षण वर्ग जैसे ओबीसी वर्ग के लिए 3 साल का छूट और एससी तथा एसटी वर्ग ले उम्मीदवारों के लिए 5 साल की छूट मिलती है। इसके अलावा पीएच उम्मीदवारों को 15 साल की छूट दिया जाता है।

आशा करते है आपको समझ आ गया होगा की टीचर बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए और आयु कितना होना चाहिए। अब आइए जानते है कि टीचर कैसे बने।

यह पढ़े:

Government Teacher kaise Bane (सरकारी शिक्षक कैसे बने)

टीचर बनने की प्रॉसेस को हमने तीन पार्ट में भाग किये है; जिनमे से पहले है प्राइमरी टीचर, दूसरा है ग्रेजुएट तथा पोस्ट ग्रेजुएट (TGT और PGT) लेवल टीचर और तीसरा है, स्पेशल एजुकेशन टीचर।

प्राइमरी टीचर कैसे बने: प्राइमरी शिक्षक बनने के लिए किसी भी उम्मीदवारों को सबसे पहले 12वी पास करना पड़ता है न्यूनतम 50 प्रतिशत नंबर के साथ, उसके बाद कोई भी टीचर ट्रेनिंग प्रोग्राम जैसे D.EL.ED या D.ed कोर्स में एडमिशन लेना होता।

यह दो साल की डिप्लोमा कोर्स है जिसमे प्राइमरी लेवल के बच्चों को कैसे पढ़ना है, उनके बौद्धिक विकास के साथ साथ शारीरिक विकास कैसे करनी है उसके बारे में प्रशिक्षण दिया जाता है।

जब टीचर ट्रेनिंग कोर्स कंपलीट हो जाये तो उसके बाद आपको TET तथा CTET के लिए तैयारी करनी। समय समय पर राज्य तथा केंद्रीय प्राथमिक विद्यालय के लिए शिक्षक नियुक्ति फॉर्म TET तथा CTET का आवेदन निकाली जाती है।

उसे पास करना होता उसके बाद पास किये हुए उम्मीदवारों को इंटरव्यू में बुलाया जाता है और मेरिट के हिसाब से शिक्षक के पद के लिए चुना जाता है।

ग्रेजुएट तथा पोस्ट ग्रेजुएट लेवल टीचर कैसे बने: ग्रेजुएट लेवल की टीचर यानी 10वीं कक्षा तक के शिक्षक बनने के लिए उम्मीदवारों को 12वी के साथ 50 प्रतिशत नंबर से ग्रेजुएशन पास करना पड़ता है। उसके बाद दो साल की टीचर ट्रेनिंग प्रोग्राम, बीएड कोर्स करना होता।

वही पोस्ट ग्रेजुएट लेवल ले टीचर यानी 12वीं कक्षा के शिक्षक बनने के लिए उम्मीदवारों को ग्रेजुएशन में 50 प्रतिशत नंबर के साथ साथ किसी एक सब्जेक्ट लेकर पोस्ट ग्रेजुएशन पूरा करना होता। इसके पश्चात दो साल की B.ed Course करना होता।

जैसे ही बीएड कोर्स पूरा हो जाता है तो अब आप टीचर बनने के लिए एलिजिबल हो जाते है। अब कब TET और CTET का फॉर्म निकाली जाएगी उसे भरना है और सही एग्जाम क्लियर करना है।

एग्जाम के बाद इंटरव्यू में बुलाया जाता है। सही स्टेप सफलतापूर्वक पूरा होने के पश्चात ही शिक्षक के रूप में नियुक्त किया जाता है।

स्पेशल एजुकेशन टीचर कैसे बने: शारीरिक और मानसिक रूप से विकलांग छात्र तथा नेत्रहीन छात्र को शिक्षा प्रदान करने के लिए स्पेशल डीएड या डीएलएड या फिर स्पेशल बीएड के ट्रेनिंग प्रोग्राम पूरा होता। इसके पश्चात TET तथा  CTET के एग्जाम के माध्यम से शिक्षक बनने का सफर सुरु कर सकते है।

केंद्रीय विद्यालय में टीचर कैसे बने

बहुत से उम्मीदवारों का सपना होता है केंद्रीय विद्यालय में शिक्षक बनने का। यदि आप का भी सपना यही है तो आपको बता दे, पहले तो आप जिस स्टैण्डर्ड का शिक्षक बनना चाहते है उसी के अनुसार अपना योग्यता बनाये।

यानी प्राइमरी का टीचर बनना चाहते है तो 12वीं के बाद डीएड या डीएलएड करे अन्यथा 10वीं स्टैण्डर्ड के लिए ग्रेजुएशन के बाद बीएड करना है और 12वीं स्टैण्डर्ड के शिक्षक बनने के लिए पोस्ट ग्रेजुएशन के पश्चात बीएड करना है।

इसके बाद समय समय पर केंद्रीय विद्यालय के टीचर नियुक्ति के लिए सीबीएससी बोर्ड द्वारा CTET एग्जाम के लिए एप्लीकेशन फॉर्म निकाली जाती है। इसके पश्चात एग्जाम क्लियर करने वालों को इंटरव्यू के माध्यम से केंद्रीय विद्यालय में शिक्षक के रूप में नियुक्त किया जाता है।

Teacher ki salary

प्राइवेट टीचर की तुलना में सरकारी टीचर को बहुत को अच्छी सैलरी प्रदान किया जाता है। यहां ध्यान देने वाली एक और बात है, राज्य सरकारी की तुलना में केंद्रीय विद्यालय के शिक्षकों को ज्यादा सैलरी प्रदान किया जाता है।

इसके अलावा शिक्षक की सैलरी राज्य के हिसाब से भिन्न भिन्न होती है। फिरभी यदि हम टीचर की औसतन सैलरी की बात करे तो प्राइमरी शिक्षकों को ₹27,500 से ₹30,000 प्रति माह सैलरी मिलते है।

और 10वीं स्टैण्डर्ड के टीचर की सैलरी सुरुवात में ₹30,000 से ₹34,000 प्रति माह होती है। वही 12वी स्टैण्डर्ड के सरकारी शिक्षकों को सुरुवात में ₹33,000 से ₹38,000 प्रत्येक माह सैलरी मिलते है।

यह पढ़े:

टीचर की तैयारी कैसे करें (टीचर बनने के लिए स्टेप्स)

अगर आपको सरकारी टीचर बनना है तो इसकी तैयारी सही से करनी होगी। अगर आप निम्नलिखित स्टेप्स को सही से फॉलो करेंगे तो सरकारी टीचर बनने में आपको मदत मिलेगी;

12वी पूरा करे: टीचर बनने का सबसे पहला चरण है उम्मीदवारों को कम से कम 50 प्रतिशत नंबर से 10+2 पास करना होता। आप जिस स्ट्रीम का टीचर बनना चाहते है 12वी में उस स्ट्रीम का चुनाव करके पास करना होता।

कौन सा टीचर बनना है यह तय करे: आप कौन सा टीचर बनना चाहते है यह पहले तय कर लीजिए। इससे आपको सिद्धांत लेने में आसानी होगी। जैसे प्राइमरी टीचर बनने के लिए ग्रेजुएशन करने की कोई जरूरत नहीं है सिर्फ 12वीं के बाद कोई भी टीचर ट्रेनिंग प्रोग्राम करके टीचर बनने की योग्यता हासिल कर सकते है।

अन्यथा टीजीटी टीचर बनने के लिए ग्रेजुएशन करना होगा और पीजीटी टीचर के पोस्ट के लिए पोस्ट ग्रेजुएशन पास करना अनिवार्य है।

बीएड कोर्स करे: ग्रेजुएशन तथा पोस्ट ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद अब आपको टीचर ट्रेनिंग प्रोग्राम जैसे बीएड में एडमिशन लेना होगा। यह दो साल की कोर्स है, जिसमे टोटल चार सेमेस्टर देना होता।

TET और CTET एग्जाम की तैयारी करें: जैसे ही टीचर ट्रेनिंग प्रोग्राम कंपलीट हो जाते है तो आपको राज्य तथा केंद्रीय विद्यालय की शिक्षक बनने के लिए तैयारी करना होगा। हर राज्य में शिक्षक की भर्ती के लिए TET या STET के नाम से एग्जाम आयोजित किया जाता है।

वही केंद्रीय विद्यालय में टीचर नियुक्ति के लिए हर साल CTET की एग्जाम लिया किया जाता है जिसे CBSC बोर्ड द्वारा आयोजित किया जाता है।

इन सभी एग्जाम की तैयारी के लिए आप किसी अच्छे कोचिंग इंस्टीट्यूट से जुड़ सकते है या फिर आप घर बैठे भी तैयारी कर सकते है। घर बैठे तैयारी के लिए आप गूगल तथा यूट्यूब चैनल का सहायता ले सकते है। इसके अलावा बहुत से ऑनलाइन ऑर्गनाइजेशन है जो ऑनलाइन ऐसे एग्जाम की तैयारी करवाते है।

इंटरव्यू क्रैक करे: लिखित परीक्षा में जिन विद्यार्थी 60 प्रतिशत नंबर प्राप्त करेगा उन्हें टेट पास उम्मीदवारों के रूप में इंटरव्यू में बुलाया जाएगा। वही आरक्षण वर्ग के लिए 55 प्रतिशत नंबर का मांग किया जाता है।

इंटरव्यू में लगभग सभी विषयों से सवाल पूछे जाते है। सही से इंटरव्यू क्रैक करने के पश्चात उम्मीदवारों का दस्तावेजों का सत्यापन किया जाता है। इन बताई गई स्टेप्स में सफलतापूर्वक उत्तीर्ण होने पर टीचर के रूप विद्यालय में नौकरी प्राप्त हो जाती है।

टीचर बनने के लिए फॉर्म कब छोड़ी जाती है?

वैसे तो यह कहा नहीं जा सकता कि कब टीचर बनने की फॉर्म छोड़ी जाएगी पर हर साल राज्य तथा केंद्रीय विद्यालय में शिक्षक नियुक्ति के लिए फॉर्म छोड़ी जाती है।

जब भी फॉर्म निकालती जाएगी अखबार तथा ऑनलाईन बहुत से साइट है जिसके माध्यम से आपको जानकारी मिल जाएगी यजे फिर आप हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े सकते है जहां हम अपडेट देते रहते है।

टीचर बनने के लिए उम्र क्या होनी चाहिए?

अगर आप टीचर बनना चाहते है तो आपको इसके एलिजिबिलिटी के बारे अच्छे से जानकारी रहनी चाहिए। अगर टीचर बनने के लिए सर्वाधिक आयु की बात करे तो, जनरल वर्ग के उम्मीदवारों के लिए मैक्सिमम 40 साल।

वही आरक्षण वर्ग के उम्मीदवारों के लिए नियमानुसार छूट प्रदान की जाती है जिसके बारे में हमने आर्टिकल में पहले ही विस्तार से चर्चा की है।

टीचर बनने के लिए कितनी पढ़ाई करनी पड़ती है?

बहुत से लोगों के मन मे एक सवाल आता है कि टीचर बनने के लिए हमे कितना पढ़ाई करनी होगी? यदि आपके मन मे भी यह सवाल है तो आपको बता दूं, आप जिस स्टैण्डर्ड के शिक्षक बनना चाहते है उसी के अनुसार आपको पढ़ाई करनी होगी।

यानी यदि आप प्राइमरी लेवल (PRT) की टीचर बनना चाहते है तो 12वी के साथ डीएड जैसे कोर्स करनी होगी, अन्यथा यदि आप TGT टीचर (ग्रेजुएट लेवल) बनना चाहते है तो ग्रेजुएशन के बाद बीएड करना होगा।

वही अगर आप PGT लेवल (पोस्ट ग्रेजुएट लेवल) का टीचर बनना चाहते है तो आपको पोस्ट ग्रेजुएशन के साथ बीएड भी करना होगा तब जाकर आप टीचर बनने का योग्य बनेंगे।

क्या मैं बिना डिग्री के टीचर बन सकता हूं?

मतलब यह पूछ पूछ वाली सवाल नहीं है यदि आपके पास कोई डिग्री नहीं है तो आप कैसे टीचर बन सकते है? टीचर बनने के लिए आपके पास कुछ न कुछ योग्यता अवश्य होनी चाहिए, अन्यथा आप बच्चों क्या सिखाएंगे?

अगर आप का सपना सरकारी टीचर बनना है तो यहां हमने स्टेप बाय स्टेप जानकारी दी है, आप इसे अच्छे से फॉलो करें, सौ प्रतिशत आपको फायदा मिलेगा।

टीचर की नौकरी कितने साल का होता है?

आमतौर पर एक टीचर अपने 60 साल की आयु तक स्कूल में नौकरी कर सकते है। हालांकि कुछ राज्य में इसे 62 साल भी किया गया है।

निष्कर्ष: आज की लेख में हमने Teacher kaise Bane उसके बारे में विस्तार से बताने पूरी कोशिश की है। आशा करते जिन लोग सरकारी टीचर बनना चाहते है उन्हें इस लेख में काफी मदत मिलेगी।

आपको यह जानकारी कैसे लगी कमेंट सेक्शन में बताये और अगर हमारे लिए कोई सुझाव है तो भी बताना न भूले। आपकी राय हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है। इसलिए आप अपना राय कमेंट के रूप में अवश्य दे।

कृपया आप इस लेख को अपने दोस्तों के ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि जो Government Teacher kaise Bane उसके बारे में उन्हें भी सही जानकारी मिले।

यदि आप किसी दूसरे विषय मे जानना चाहते है तो हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़कर बता सकते है, हम अवश्य उसके बारे में डिटेल्स आर्टिकल लिखेंगे। इसके अलावा हम टेलीग्राम में रोजाना एजुकेशन से जुड़े जानकारी साझा करते रहते है उससे अपडेट रहने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल से अवश्य जुड़े।

यह पढ़े:

दोस्तों के साथ शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *