Drug inspector kaise Bane- योग्यता, एग्जाम, सिलेबस, सैलरी

कुछ ही सालों में इंडिया वर्ल्ड फार्मेसी का सेंटर बन चुका है। इसके देखते हुए बहुत से स्टूडेंट्स आज के समय फार्मेसी में अपना करियर बनाने के बारे में सोच रहे है।

जिन विद्यार्थी फार्मेसी लेकर पढ़ाई कर रहे है या फिर इस फील्ड में करियर बनाने का सपना देख रहे है उनके लिए आज हम एक सपना वाला करियर ऑप्शन के बारे में बताने वाले है।

इस प्रोफेशन का नाम है ड्रग इंस्पेक्टर। जी हां आज हम आपको बताएंगे कि Drug inspector kaise Bane, ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए, कौन सा एग्जाम देना होता, करियर स्कोप क्या है, सैलरी कितना मिलेगी, इत्यादि।

लेकिन जिन लोगों को यह पता नहीं है कि ड्रग इंस्पेक्टर क्या होती है उनके लिए ड्रग इंस्पेक्टर का थोड़ा सा परिभाषा दे दूं,

Drug inspector क्या है

ड्रग इंस्पेक्टर एक ऐसे पेशेवर होते है जो मेडिसिन का मैन्युफैक्चरिंग यूनिट तथा रिटेल फार्मेसी में क्वालिटी, एफिकेसी, सेफ्टी, आदि के बारे में देखरेख करते है। इसके अलावा मेडिसिन शॉप के लिए ड्रग लाइसेंस आदि प्रदान करना उन्ही के द्वारा ही दिया जाता है।

Drug inspector kaise bane,drug inspector kya hai
Drug inspector kaise Bane

Drugs inspector kaise Bane

अब आइए जानते है कि ड्रग लाइसेंस कैसे बने यानी ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए कौन कौन से स्टेप्स फॉलो करना पड़ता है।

• 10वीं के बाद साइंस स्ट्रीम का चुनाव करें: ड्रग इंस्पेक्टर बनने का पहला पड़ाव सुरु होता है 10वीं के बाद साइंस स्ट्रीम का चुनाव के साथ। 10वीं के बाद ही विद्यार्थियों को फिजिक्स, केमिस्ट्री तथा बायोलॉजी या मैथेमेटिक्स का चुनाव करना होगा।

• अच्छे प्रतिशत से 12वीं पास करें: पीसीएम/पीसीबी स्ट्रीम लेकर अच्छे प्रतिशत अंको से 12वीं पास करना होगा। हालांकि45 प्रतिशत प्राप्त करने वाले स्टूडेंट्स इस कोर्स के लिए योग्य बन जाते है पर इतने कम नंबर से अच्छे कॉलेज में एडमिशन लेना थोड़ा मुश्किल होगा।

• बी फार्मा कोर्स में एडमिशन ले: 12वीं के बाद बी फार्मा कोर्स में एडमिशन लेना होगा। एडमिशन के लिए ज्यादातर सरकारी कॉलेज एंट्रेंस एग्जाम आयोजित करते है। उस एग्जाम में क्रैक करके आप एडमिशन ले सकते है।

हालांकि कुछ कॉलेजों में 12वीं में प्राप्त नंबर के आधार पर एडमिशन होता है। वही ज्यादातर प्राइवेट कॉलेज में डायरेक्ट एडमिशन लिया जाता है। डायरेक्ट एडमिशन के लिए आप कॉलेज के साथ संपर्क करके एडमिशन ले सकते है।

बी फार्म चार साल का कोर्स होता है यदि अपने डी फार्मा के पश्चात यह कोर्स करते है तो आपको बी फार्म के दूसरे वर्ष में लेटरल एडमिशन मिल जाएगा।

• काम की एक्सपीरियंस: ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए कुछ राज्य में एक्सपीरियंस की मांग की जाती है। इसलिए बी फार्मा के पश्चात आप किसी मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री में काम कर सकते है।

• ड्रग इंस्पेक्टर का एग्जाम के लिए फॉर्म भरे: समय समय पर राज्य तथा केंद्रीय स्तर पर ड्रग इंस्पेक्टर का नियुक्ति के लिए फॉर्म छोड़ी जाती है। केंद्रीय स्तर पर UPSC तथा SPSC (स्टेट पब्लिक सर्विस कमीशन) एग्जाम आयोजित किया जाता है इस पोस्ट में नियुक्ति के लिए।

• एग्जाम की सिलेबस: एग्जाम की सिलेबस की बात करे तो पेपर-1 में फार्मेसी और पेपर-2 में जनरल नॉलेज के सवाल पूछे जाते है। पेपर-1 में टोटल 100 सवाल होते है, प्रत्येक सवाल के सही जवाब के लिए 2 नंबर मिलते है यानी टोटल 200 अंक होते है।

वही पेपर-2 में जनरल नॉलेज की सवाल आते है जिसमें टोटल 50 सवाल पूछे जाते है और प्रत्येक सवाल के सही जवाब के लिए 1 अंक मिलते है यानी पेपर-2, टोटल 50 अंकों की होती है।

पेपर – 1 सिलेबस

  • फॉरेंसिक फार्मेसी
  • मैन्युफैक्चरिंग फार्मेसी
  • फार्मास्यूटिकल एनालिसिस
  • हॉस्पिटल एंड क्लीनिकल फार्मेसी
  • फार्मकोग्नोसि
  • मेडिकल केमिस्ट्री
  • फार्माकोलॉजी एंड टॉक्सिकोलॉजी
  • एनाटोमी
  • फिजियोलॉजी एंड हेल्थ एजुकेशन
  • फार्मास्यूटिकल जुरिस्प्रूडेंस

पेपर – 2 सिलेबस

  • जनरल नॉलेज

• एग्जाम क्रैक करे: UPSC या SPSC का एग्जाम क्रैक करना आसान नहीं है। इस एग्जाम को क्रैक करने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी तभी आप इंसमे उत्तीर्ण होंगे। एग्जाम की तैयारी करने के लिए एग्जाम की सिलेबस के बारे में आपको अच्छे से पता होनी चाहिए।

आपको बता दे, ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए तीन चरणों मे एग्जाम देना पड़ता है। जिसमे से पहला है, पेपर-1, दूसरा है, पेपर-2 और लास्ट है इंटरव्यू। इन तीनों स्टेप्स में सफल होने वाले उम्मीदवारों को ही ड्रग इंस्पेक्टर के रूप में नियुक्त किया जाता है।

ड्रग इंस्पेक्टर के लिए योग्यता

ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए कुछ बेसिक एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया से गुजरने होने जिसके बारे में हमने यहां बिंदु अनुसार चर्चा की है;

• उम्मीदवारों को 12वीं के बाद बी फार्मा करना होगा PCI द्वारा मान्यता प्राप्त किसी भी फार्मेसी कॉलेज से।

• उम्मीदवारों को इंसमे कम से कम 45 प्रतिशत अंक प्राप्त करना होगा तभी यूपीएससी या फिर एसपीएससी एग्जाम के लिए एलिजिबल होंगे।

• उम्मीदवारों का आयु 21 साल से 32 साल के बीच होना अनिवार्य है। हालांकि आरक्षण वर्ग के उम्मीदवारों के लिए नियमानुसार आयु की छूट भी मिलती है।

• उम्मीदवारों को भारतीय नागरिक होना चाहिए।

• केंद्रीय तथा राज्य सरकार द्वारा ली जाने वाली यूपीएससी या एसपीएससी एग्जाम अच्छे अंको से पास करना होगा।

Drug inspector ki salary

ड्रग इंस्पेक्टर की सैलरी की बात करे तो यह राज्य के हिसाब से भिन्न भिन्न होती है। फिरभी यदि इस प्रफेशनल की सैलरी देखा जाए तो ₹40,000 से ₹50,000 के बीच होती है। समय के साथ इंसमे बढ़ोतरी भी होती है।

ड्रग इंस्पेक्टर कैसे बने से जुड़े सवाल जवाब

क्या ड्रग इंस्पेक्टर की जॉब अच्छी है?

इसमें कोई संशय नहीं होनी चाहिए कि ड्रग इंस्पेक्टर की नौकरी सही है कि नहीं। फार्मेसी पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिए यह एक सपने वाले सरकारी नौकरी है। इंसमे हाई सैलरी पैकेज के साथ साथ ड्रग सेक्टर को कंट्रोल करने की क्षमताएं भी मिलती है।

ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए कौन सी डिग्री चाहिए?

ड्रग इंस्पेक्टर बनने हेतु आपको न्यूनतम बी फार्म करना पड़ता है हालांकि एम फार्म के बाद इसकी एग्जाम में बैठना बेहतर होता। लेकिन यदि बी फार्म के साथ साथ फार्मास्यूटिकल मनुफैटिरिंग इंडस्ट्रीज में नौकरी करने का अनुभव है तो आप इंसमे आसानी से आवेदन कर सकते है।

ड्रग इंस्पेक्टर की कोर्स कितने साल का होता है?

ड्रग इंस्पेक्टर कोई कोर्स नहीं है, यह एक प्रफेशन है। आप बी फार्म के बाद इस प्रफेशन में आ सकते है।

भारत मे ड्रग इंस्पेक्टर का वेतन कितना है?

 मे ड्रग इंस्पेक्टर को अच्छे सैलरी प्रदान किया जाता है। सुरुवात में प्रत्येक माह ड्रग इंस्पेक्टर को ₹40,000 से ₹50,000 के सैलरी मिलते है।

ड्रग इंस्पेक्टर का काम क्या है?

ड्रग इंस्पेक्टर का मुख्य काम है दवाइयों का गुणवत्ता सही है कि नहीं यह जांच करना, सही से फार्मास्यूटिकल मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्रीज, रिटेल फार्मेसी ऑपरेट कर रहे है कि नहीं, इत्यादि का देखरेख करना।

ड्रग इंस्पेक्टर का वेकैंसी कब छोड़ी जाएगी?

यह अनुमान लगाना सही नहीं होगा की ड्रग इंस्पेक्टर के लिए कब वेकैंसी छोड़ी जाएगी। वेकैंसी की अपडेट के लिए आप अखबार तथा सरकारी पोर्टल चेक कर सकते है। इसके अलावा बहुत सारे जॉब पोर्टल है जहां आपको वेकैंसी के बारे में जानकारी प्राप्त हो जाएगी।

मैं 12वीं के बाद ड्रग इंस्पेक्टर कैसे बन सकता हूं?

अगर आप 12वीं के बाद ड्रग इंस्पेक्टर बनने का सपना देख रहे है तो आपको सबसे पहले बी फार्म करना होगा। इसके बाद किसी फार्माच्यूटिक्ल इंडस्ट्री में काम करके अनुभव प्राप्त करना होगा। इसके पश्चात UPSC या SPSC की एग्जाम देकर ड्रग इंस्पेक्टर बन सकते है।

निष्कर्ष: इस पोस्ट में हमने बताये है कि Drug inspector kaise Bane, ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए, कौन सा एग्जाम देना पड़ता है, सिलेबस क्या है, सैलरी कितनी मिलेगी, इत्यादि।

हम हमेशा कोशिश करते है हमारे पाठकों को एक ही जगह कोर्स और करियर से जुड़े जानकारी मिल जाये ताकि उन्हें दूसरी बार इंटरनेट में सर्च करने की जरूरत न पड़े। आपको यह जानकारी कैसी लगी कमेंट करके बताये और अगर हमारे लिए कोई सुझाव है तो कमेंट सेक्शन में बताये।

कोर्स और करियर से जुड़े जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग FutureBanaye.com के टेलीग्राम चैनल से जुड़े जहां आपको एजुकेशन से जुड़े जानकारी मिलती रहगी।

यह पढ़े:

दोस्तों के साथ शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *