Notifications
×
Subscribe
Unsubscribe

D.OPT/DOT Course – एडमिशन से लेकर नौकरी की पूरी जानकारी

अगर आप Diploma in Opthalmic Technology की कोर्स करने की इच्छा रखते है परंतु आपको इसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल रही है तो आज की आर्टिकल आपके लिए काफी फायदेमंद होने वाली है।

आज की इस आर्टिकल में हम DOT course details in hindi के बारे में बात करेंगे ताकि आपको पता DOT Course क्या है, DOT कैसे करे, कोर्स फीस कितनी लगेगी, एडमिशन प्रॉसेस क्या है, कौन सा नौकरी मिलेगी और सैलरी कितना मिलेगा, इत्यादि, DOT Course in Hindi में।

DOT course details in Hindi (D.OPT Course)

DOT कोर्स को D.OPT के नाम से भी जाने जाते है, यह  पैरामेडिकल कोर्स के अंतर्गत आता है जिसकी समयावधि है ढाई साल। इन ढाई सालों में से आखरी के छह महीने किसी अस्पताल से ट्रेनिंग लेनी होती।

DOT Course Details, D OPT Course Details

इस कोर्स के माध्यम से उम्मीदवारों को ऑप्थलमिक क्षेत्र में प्रशिक्षित और योग्य बनाई जाती है ताकि नेत्र रोग विशेषज्ञों को रोग डायग्नोस्टिक और उपचार करने में मदत कर सकें।

ढाई साल की डीओटी कोर्स बहुत से पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट द्वारा करवाई जाती है। इस कोर्स में एंट्रेंस एग्जाम या मेरिट के आधार पर ही दाखिला मिलते है। कोर्स पूरा होने के बाद उम्मीदवारों के लिए मेडिकल क्षेत्र में नई नई दरवाजे खुल जते है।

कोर्स को डिटेल्स में चर्चा करने से पहले जिन लोगो को पता नहीं कि डीओटी क्या है?उनके लिए लिए थोड़ा जानकारी दे दूं कि DOT कोर्स क्या होता है।

यह पढ़े: डिप्लोमा इन ऑपरेशन थियेटर टेक्नोलॉजी

DOT Course kya hai

DOT या D.OPT का पूरा नाम है Diploma in Opthalmic Technology, यह 2.5 साल की डिप्लोमा कोर्स है जिसमे 4 सेमेस्टर देने होते, हर सेमेस्टर प्रत्येक छह महीने की बाद आयोजित किया जाता है। 2 साल की पढ़ाई पूरा होने के बाद 6 महीने की इंटर्नशिप लड़ना होता किसी सरकारी अस्पताल से।

इस कोर्स को डिज़ाइन करने का मुख्य उद्देश्य है प्रशिक्षित और योग्य पेशेवर का निर्माण करना, ताकि नेत्र विशेषज्ञों को मरीजों की उपचार करने में डायग्नोसिस और ट्रीटमेंट करने का सहायता मिल सके।

साइंस स्ट्रीम से 12 वी पूरा करने के बाद उम्मीदवारों को डिप्लोमा इन ऑप्थलमिक की पढ़ाई करने का इजाजत मिलते है। इसे पूरा करने के बाद, ऑप्थल्मोलॉजिस्ट का डिप्लोमा डिग्री धारक सर्टिफिकेट हासिल हो जाता है।

उसके बाद, सरकारी अस्पताल, प्राइवेट अस्पताल, नर्सिंग होम, NGO, इत्यादि जैसे बड़े बड़े संस्थाओं में नौकरी करने का सुनहरे अवसर मिलते है। DOT कोर्स करने के बाद कौन कौन से अवसर मिलते है उसके बारे में आपको आगे जानने को मिल जाएगा।

D.OPT/DOT Course Eligibility (DOT के योग्यता)

पैरामेडिकल काउंसिल द्वारा कुछ मानदंड निर्धारित किया गया है इस DOT Course के लिए। इसकी पढ़ाई करने हेतु उम्मीदवरों को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12 वी पास करना होगा या उसके समकक्ष कोई योग्यता हासिल करना होगा।

उम्मीदवारों को 12 वी में फिजिक्स, केमिस्ट्री तथा बायोलॉजी लेकर पढ़ाई करनी चाहिए होगी और अंतिम परीक्षा में न्यूनतम पासिंग नंबर से पास करनी होगी। ध्यान रहे, हर कॉलेज के हिसाब से पासिंग नंबर भिन्न भिन्न होते है।

इसके अतिरिक्त, आयु की बात किया जाये तो, उम्मीदवारों को कम से कम 17 साल की होनी चाइये और इसकी मैक्सिमम ऐज लिमिट भी नहीं है, इसलिए किसी भी आयु के अभ्यर्थी इस कोर्स में आवेदन कर सकते है।

दूसरे पैरामेडिकल कोर्स के बारे में पढ़े:

DMLT Course DetailsBMLT Course Details
Physiotherapy Course DetailsX ray Course Details
Lab Technician Course DetailsBPT Course Details
Nursing Course DetailsRadiology Coudse Details
GNM Course DetailsD pharma Course Details

DOT/D.OPT Admission Process

हर कॉलेज अपने हिसाब से एडमिशन करवाते है डिप्लोमा इन ऑप्थलमिक कोर्स में। ज्यादातर कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम होता है और बाकी कॉलेज में मेरिट के आधार पर एडमिशन मिलते।

एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से डीओटी कोर्स में एडमिशन: ज्यादातर सरकारी तथा प्राइवेट कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम के मध्यम से कोर्स में एडमिशन करवाई जाती है। एग्जाम की फ्रॉम 12वी की अंतिम परीक्षा के बाद निकालती जाती, जिसे कॉलेज के ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर भरना होता।

फॉर्म भरते समय अभ्यर्थी का नाम, पता, शैक्षणिक योग्यता बगैरह सही से भरना होता और 12वी का पासिंग मार्कशीट तथा पास सर्टिफिकेट, 10वी के एडमिट कार्ड आयु के प्रमाण पत्र के तौर पर, कोई भी पहचान पत्र, इत्यादि के स्कैन कॉपी अपलोड करना होता।

आखरी में आवेदन शुल्क जमा करके फॉर्म सबमिट करना है और उसके 2 कॉपी प्रिंट आउट निकालकर अपने पास रख लेना है ताकि आगे की एडमिशन प्रॉसेस में कोई परेशानी न हो।

इसके कुछ दिन बाद एडमिट कार्ड जारी होता जिसकी इनफार्मेशन उसी वेबसाइट पर मिल जाएगा, एडमिट कार्ड डाउनलोड करके निर्धारित दिन में एंट्रेंस एग्जाम देना होगा।

एग्जाम पूरा होने के 10-15 दोनों के अंदर एग्जाम का रिजल्ट निकाल जाता है और एग्जाम में प्राप्त नंबर के आधार पर रैंक लिस्ट तैयार किया जाता। उसके बाद ऑनलाइन काउंसेलिंग में हिस्सा लेकर अपने मन पसंद कॉलेज को सीरियल अनुसार चुनना होता।

काउंसेलिंग खत्म होने 4-5 दिन बाद इसकी रिजल्ट आता, जिन का रैंक अच्छा होता उनको अपने मन पसंद सरकारी कॉलेज मिल जाते, और जिनके रैंक अच्छा नहीं होता उन्हें प्राइवेट कॉलेज मिलने की संभावनाएं होती।

काउंसेलिंग में कॉलेज मिल जाने के बाद कॉलेज में जाकर डाक्यूमेंट्स वेरिफिकेशन करवाना होता और आखरी में एडमिशन फीस जमा करके एडमिशन लेने होता।

Note: डिप्लोमा इन ऑप्थलमिक कोर्स के लिए यहां हमने कुछ एंट्रेंस एग्जाम की नाम बताए है; GCET, SMFWB, CPNET, IPU CET, AP EAMCET, आदि।

मेरिट के आधार पर डीओटी कोर्स में एडमिशन: कुछ कॉलेज में मेरिट के आधार पर एडमिशन लिया जाता है, ऐसे में उम्मीदवारों द्वारा 12वी में प्राप्त की गई नंबर के आधार पर मेरिट लिस्ट बनते।

जिन स्टूडेंट्स का नाम मेरिट लिस्ट के निकालते उन्हें कॉलेज के दाखिला मिल जाता। ऐसे कॉलेज में एडमिशन लेने हेतु कॉलेज की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन अप्लाई करना होगा आपके सारे डिटेल्स सही से भरकर और जरूरी दस्तावेजों की स्कैन कॉपी भी अपलोड करना होगा।

इसके कुछ बाद कॉलेज द्वारा मेरिट लिस्ट पब्लिश किया जाएगा, अगर आपके नाम वहां है तो सीधा कॉलेज में जकर डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन करके एडमिशन फीस जमा देने के बाद एडमिशन लेना होगा।

D.OPT/DOT Course Duration

डीओटी कोर्स की समयावधि की बात करे तो, यह ढाई साल (2.5 years) की कोर्स है जिसकी 2 साल में थ्योरी तथा प्रैक्टिकल शिक्षा प्रदान की जाती है और हर छह महीने की अंतराल में कॉलेज द्वारा सेमेस्टर आयोजित किया जाता है।

इंडिया में सैकड़ों पैरामेडिकल कॉलेज है जहां से डीओटी कोर्स की पढ़ाई की जा सकती है पर यहां हमने कुछ कॉलेज की नाम बताए है।

Best DOT/D.OPT Colleges in India

1.University of Mumbai, Mumbai
2. IIS univetsity, jaipur
3. Institute for excellence in higher education ,Bhopal
4. Chandighar university,chandigarh
5. All India Institute of Medical Sciences, New Delhi, Delhi NCR
6. Banaras Hindu University, Varanasi, Uttar Pradesh
7. Regional institute of medical sciences ,Imphal, Manipur
8. Sri Venkateswara Institute of Medical Sciences, Tirupati, Andhra Pradesh
9. Bangalore Medical College and Research Institute, Bangalore, Karnataka
10. Government Medical College and Hospital, Chandigarh, Chandigarh
11. Kolkata Medical College Kolkata, West Bengal
12. Lady Hardinge Medical College, New Delhi, Delhi NCR
13. Kalinga Institute of Industrial Technology, Bhubaneswar, Orissa
14. All India Institute of Medical Sciences, Jodhpur, Rajasthan
15. Pt Bhagwat Dayal Sharma Post Graduate Institute of Medical Sciences, Rohtak, Haryana
16. Government Medical College Surat, Gujarat
17. Jawahar Lal Nehru Medical College – [JNMC] Aligarh, Uttar Pradesh
18. Rabindranath Tagore University, Bhopal, Madhya Pradesh
19. Dr Babasaheb Ambedkar Open University, Ahmedabad, Gujarat
20. Ranchi University Ranchi, Jharkhand

D OPT/DOT Course Fees

हर कॉलेज अपने रेपुटेशन और प्लेसमेंट के आधार पर निर्भर करके डीओटी कोर्स की फीस तय की जाती है। आमतौर पर सरकारी कॉलेज में कोर्स फीस कम होती है परंतु प्राइवेट कॉलेज में ज्यादा।

डीओटी कोर्स की औसतन फीस सरकारी कॉलेज में ₹15,000 से ₹30,000 तक होती है वही प्राइवेट कॉलेज की फीस ₹30,000 से ₹2,50,000 तक होती।

D.OPT/DOT Course Scope

अगर आप सोच रही है कि डीओटी कर्स के बाद क्या करे तो, आपको बता दे, ढाई साल की कोर्स पूरा होने के बाद उम्मीदवारों को मेडिकल क्षेत्र में कई सारे अवसर मिलते है।

डिप्लोमा इन ऑप्थलमिक की डिग्री धारक सरकारी अस्पताल, निजी अस्पताल, नर्सिंग होम, एनजीओ, प्राइवेट क्लिनिक, पब्लिक सेक्टर कंपनी, प्राइवेट कंपनी, ऑप्टिकल कंपनी जैसे बड़े बड़े क्षेत्र में नौकरी कर सकते है।

जॉब प्रोफाइल की बात करे तो, ऑप्थलमिक नर्स, ऑप्थलमिक असिस्टेंट, ऑप्थलमिक टेक्नीशियन, ऑप्टोमेट्री असिस्टेंट एंड लैब असिस्टेंट के तौर पर ऊपर बताई गई क्षेत्र में काम कर सकते है।

और जो हायर स्टडी करना चाहती है वह Bsc in Opthalmic Technology का कोर्स कर सकते है, यह ग्रेजुएशन कोर्स। इसके बाद पोस्ट ग्रेजुएशन और पीएचडी या एमफिल कर सकते है।

D OPT/DOT ke Salary

डीओटी कोर्स पूरा होने के बाद उम्मीदवारों को उनके नौकरी और पद के आधार पर सैलरी मिलते है, आमतौर पर सुरुवात में सैलरी कम होता परंतु अनुभव बढ़ने के साथ साथ भी बढ़ते है।

यदि औसतन सैलरी की बात करे तो, सुरूवाती दौर में ₹15,000 से ₹20,000 हर महीने सैलरी मिलते है प्राइवेट नौकरी में, वही सरकारी नौकरी में ₹25,000 से ₹30,000।

निष्कर्ष: आज की इस लेख में हमने DOT Course Details in Hindi के बारे में बताए है जिसे D.OPT Course के नाम से भी जाने जाते।

जिन उम्मीदवारों को मेडिकल क्षेत्र में अपना करियर बनानी है वह डिप्लोमा इन ऑप्थलमिक की कोर्स कर के अपना भविष्य सवांर सकते है। आशा करते है आपको पता चल गया कि डीओटी कोर्स क्या है, इसे कैसे करे, कोर्स की फीस कितनी है, स्कोप क्या है, सैलरी कितना मिलेगी, इत्यादि।

आज की लेख आपको कैसी लगी कमेंट करके बताये और कुछ सुझाव भी दे सकते है ताकि हम अपने लेख को सुधार सके, करियर संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े जहां सारे नए पोस्ट का नोटिफिकेशन मिल जाएगा।

दूसरे कोर्स मेडिकल क्षेत्र में:

Doctor kaise BaneB pharm Course Details
Bsc Nursing CourseNEET kya Hai
Dialysis Course DetailsM pharm kya Hai
दोस्तों के साथ शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published.