Notifications
×
Subscribe
Unsubscribe

Doctor Kaise Bane: एडमिशन, फीस, सैलरी की पूरी डिटेल्स

क्या आपको डॉक्टर बनना है? परंतु नहीं जानते कि डॉक्टर कैसे बने? तो आपको डरने की जरूरत नहीं आज हम इसी टॉपिक के बारे में बात करने वाले है कि Doctor kaise bane.

स्कूल में पढ़ाई के दौरान कोई चाहते डॉक्टर बनना, कोई इंजीनियर तो कोई और कुछ। लेकिन हर किसी के सपने पूरे नहीं होते। इसके कई सारे कारण है, कोई अच्छे से पढ़ाई नहीं कर पाते तो किसी के आर्थिक स्थिति सही नहीं होते, इत्यादि।

और ऐसा भी है कि कुछ स्टूडेंट्स को सही मार्ग न मिल पाने की वजह से स्टूडेंट्स सही दिशा की ओर नहीं बढ़ पाते। अगर आप भी इन सारे परेशानियों से जूझ रहे तो आज की आर्टिकल आपके लिए। (यह पढ़े: Bsc Nursing Course)

इसमें आपको बताया जाएगा कि, डॉक्टर बनने की तरीका क्या, डॉक्टर बनने के लिए कौन से कोर्स करने होंगे, कोर्स की फीस कितनी होगी, स्कोप क्या है, सैलरी कितना मिलेगा, बेस्ट कॉलेज कौन से है, कौन सा एग्जाम देना होगा इत्यादि।

डॉक्टर बनने की पूरी जानकारी

सबसे पहले यह जान ले कि डॉक्टर बनने के लिए कौन से पात्रता होनी चाहिए अभ्यर्थियों के पास।

Doctor kaise bane, डॉक्टर कैसे बने, how to become doctor
Doctor Kaise Bane

डॉक्टर बनने के लिए पात्रता

डॉक्टर बनने के लिए सबसे पहले आपको 10+2 या उसके समकक्ष पास करना होगा किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से। इसमें न्यूनतम 50 प्रतिशत नंबर चाहिए जनरल वर्ग के छात्रों के लिए और आरक्षण वर्ग के लिए 45 प्रतिशत।

विषय की बात करे तो, 10+2 में आपके बायोलॉजी, फिजिक्स और केमिस्ट्री होनी चाहिए और सभी विषयों में न्यूनतम अंक प्राप्त करना होगा। इसके अलावा उम्मीदवारों को न्यूनतम 17 की होनी चाहिए। इसके कोई ऐज लिमिट नहीं। 17 साल से अधिक कोई भी डॉक्टर बनने के लिए योग्य है।

अगर आप में इन सारे योग्यताएं है तभी आपको डॉक्टर बनने के लिए जो एंट्रेंस एग्जाम लिया जाता है उंसमे आप बैठ पाएंगे।

डॉक्टर बनने के लिए एंट्रेंस एग्जाम

पहले के दिनों में डॉक्टर बनने के लिए प्रत्येक राज्य अपने अपने राज्य में अलग अलग एंट्रेंस एग्जाम लेते थे लेकिन आज के समय पूरे देश मे एक ही एंट्रेंस एग्जाम लिया जाता जिसे NEET एग्जाम के नाम से जाने जाते है।

इस एग्जाम में प्राप्त नंबर के तहत सभी डॉक्टर के कोर्स में दाखिला मिलते है। नीट एग्जाम के पैटर्न के बारे में अच्छे से जानने के लिए इसे पढ़े: NEET क्या है और एग्जाम पैटर्न कैसा है

Doctor Kaise Bane

डॉक्टर बनने के लिए हर साल लाखों स्टूडेंट्स अपने काबिलियत को आजमाने के लिए एंट्रेंस एग्जाम में बैठते है लेकिन कुछ चुनिंदा छात्रों के नसीब में ही डॉक्टर बनना लिखा होता है।

और वही लोग डॉक्टर बन पाते जो जी जान से पूरे लगन के साथ कड़ी मेहनत करते है। अगर आप भी कड़ी मेहनत और लगन के साथ पढ़ाई करेंगे तो डॉक्टर बनने से आपको कोगी नहीं रोक पायेगा।

अच्छे नंबर से 10वी पास करे: डॉक्टर बनने का पहला कदम सुरु होता है 10वी क्लास से। क्योंकि, 10वी के बाद ही एक स्टूडेंट अपने मन पसंद सब्जेक्ट्स चुनने का मौका मिलते है।

अगर आपका सपना आगे जाकर डॉक्टर बनना है तो 10वी के फाइनल एग्जाम अच्छे नंबर से पास करना होगा। उसके बाद आपको तीन मुख्य विषय चुनना है, फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी।

ध्यान रहे, अगर आप 10वी से तैयारी सुरु करेंगे तो ही आपको डॉक्टर बनने में आसानी होगी। निट एग्जाम में बहुत प्रतियोगिता होने की कारण 10वी से ही एग्जाम की तैयारी सुरु कर देनी चाहिए।

10+2 पास करें: 10वी के बाद अब बारी है 11वी और 12वी अच्छे नंबर से पास करने की। आपको पहले ही पता चल गया होगा कि नीट एग्जाम में भाग लेने हेतु जनरल वर्ग के छात्रों को न्यूनतम 50 प्रतिशत नंबर लाना होगा 12वी के फाइनल एग्जाम में।

वही आरक्षण वर्ग के छात्रों के लिए न्यूनतम 45 प्रतिशत नंबर लानी है प्रत्येक विषय मे। इसलिए आप 12वी के अंतिम एग्जाम अच्छे से दीजिए।

NEET एग्जाम की फॉर्म फिल अप: 12वी के फाइनल एग्जाम से पहले ही नीट के लिए फॉर्म निकाली जाती है। सबसे पहले आपको उसे भर देना है। इसके लिए NTA के ऑफिशियल वेबसाइट पर जाइये।

वहां Apply Now का ऑप्शन मिलेगा वहां क्लिक करके आपको आवेदक फॉर्म भर देना है। आवेदन के दौरान आपके फ़ोटो कॉपी, हस्ताक्षर और बाई हाथ के चाप लगेगा, साथ मे आधार नंबर, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, अगर मार्कशीट और सर्टिफिकेट है तो उसके स्कैन कॉपी, इत्यादि लगेगा।

आवेदन के दौरान ही रजिस्ट्रेशन फीस के तौर पर 1000 रुपये जमा करना होगा। पेमेंट के लिए नेट बैंकिंग, डेबिट या क्रेडिट कार्ड आदि इस्तेमाल कर सकते है।

NEET Exam के पैटर्न: इस एग्जाम में तीन विषय मे प्रश्न पूछे जाते है, फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी। बायोलॉजी का दो पार्ट, बोटानो और जूलॉजी से समान संख्या में प्रश्न आते है।

एग्जाम में कुल 180 सवाल पूछे जाते है जिसका कुल 720। हर सवाल के लिए 4 अंक है यानी प्रत्येक सही जवाब के लिए 4 अंक मिलेगा। इसमें नेगेटिव मार्किंग भी है, प्रत्येक गलत जवाब के लिए 1 अंक काटा जाएगा।

विषयअंक
फिजिक्स45
केमिस्ट्री45
बॉटनी45
जूलॉजी45

काउंसलिंग: एंट्रेंस एग्जाम पूरा होने के पश्चात उंसमे प्राप्त नंबर आधार पर रैंक बनाया जाएगा और उसी के मुताबिक काउंसलिंग होगा। काउंसलिंग में भाग लेने के लिए आपको रजिस्ट्रेशन करना होगा।

रजिस्ट्रेशन के दौरान रजिस्ट्रेशन फीस जमा करना है। इसी समय आप अपने मन मुताबिक कॉलेज को चुन सकते है जहां आप दाखिला लेना चाहते।

अगर आपको किसी कॉलेज मिल जाये तो आपको वहां दाखिला लेना है एडमिशन फीस जमा करके।

डॉक्टर की पढ़ाई करें: डॉक्टर की पढ़ाई करने के लिए साढ़े पांच साल की आवश्यकता होती है। जिसमे से साढ़े चार साल की पढ़ाई और बाकी के एक इंटर्नशिप। इंटर्नशिप के दौरान आपको जूनियर डॉक्टर के तौर पर ड्यूटी करना होता।

एमसीआई से डॉक्टर की सर्टिफिकेट: जब आप इंटर्नशिप के साथ साढ़े पांच साल की कोर्स पूरा कर लेंगे उसके बाद आपको एमसीआई में जाकर डॉक्टर के सर्टिफिकेट के लिए आवेदक कर देना है।

उसके बाद प्राधिकारियों द्वारा सारे दस्तावेजों की जांच करने के बाद आपको डॉक्टर की रजिस्ट्रेशन मिल जाते है। इसके बाद ही आप पूरी तरह से डॉक्टर बन जाते है।

इसे पढ़े:

डॉक्टर बनने की फीस

आशा करते है आपको यह समझ आ गया होगा कि, Doctor kaise bane. अब आइये जानते है कि डॉक्टर बनने के लिए कितने फीस लगते है।

डॉक्टर बनने के लिए अलग अलग कोर्स होते है जैसे एमबीबीएस, बीएचएमएस, बीडीएस, यूनानी, आयुर्वेदिक, इत्यादि के लिए अलग अलग कोर्स फीस स्ट्रक्चर है।

अगर सरकारी कॉलेज से डॉक्टर बनने की कोर्स करेंगे तो बहुत ही कम फीस देना होगा परंतु प्राइवेट कॉलेज में बहुत ही ज्यादा फीस लग जायेगा।

यदि औसतन फीस की बात करे तो सरकारी कॉलेज में सालाना 5,000 से 10,000 रुपये फीस लग जाते है और प्राइवेट कॉलेज में 4,00,000 से 6,00,000 रुपये सालाना फीस देना होता।

कितने प्रकार के डॉक्टर होते है

चिकित्सा के क्षेत्र में कई तरह के डॉक्टर होते है जो आपको आगे जानने को मिलेगा:

एमबीबीएस डॉक्टर कैसे बने: डॉक्टर बनने का जितने भी कोर्स है उनमें से सबसे अधिक प्रशिद्ध है एमबीबीएस। हर स्टूडेंट्स चाहते है कि वह एमबीबीएस डॉक्टर बने। एमबीबीएस डॉक्टर बनने के हेतु नीट एग्जाम उत्तीर्ण होना होगा।

इसमें एलोपैथी चिकित्सा के बारे में पढ़ाया जाता है। इसकी समयावधि है 5.5 साल। साढ़े चार साल की एकेडमिक पढ़ाई और बाकी के एक साल इंटर्नशिप करना होता।

कोर्स पूरा होने के बाद सरकारी तथा निजी अस्पतालों में एलोपैथी डॉक्टर के तौर पर प्रैक्टिस सुरु कर सकते है। इसके अलावा भी दूसरे तरह के स्कोप है जो आगे बताया जाएगा।

बीएचएमएस डॉक्टर कैसे बने: अगर किसी को होमेओपेथी डॉक्टर बनना है तो उन्हें बीएचएमएस के कोर्स करना होगा। यह भी एमबीबीएस की तरह 5.5 साल की कोर्स है।

इसमें दाखिला लेने के लिए नीट एग्जाम में उत्तीर्ण होना जरूरी है। इस कोर्स के बारे में बारीकी से जानने के लिए इसे पढ़े, BHMS Course Details

बीएएमएस डॉक्टर कैसे बने: आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने के लिए बीएएमएस पढ़ना होगा। इसके लिए भी नीट के एग्जाम पास करना आवश्यक है। उसके बाद ही बीएएमएस के कोर्स में एडमिशन ले पाएंगे।

इसके बारे में हमने एक डिटेल्स आर्टिकल लिखे उसे पढ़े, बीएएमएस डॉक्टर कैसे बने

बीडीएस डॉक्टर कैसे बने: चिकित्सा क्षेत्र में जितने भी प्रशिद्ध डिग्रीयां है उनमें से एक है बीडीएस। इस कोर्स करने के बाद दांतो की डॉक्टर बनते है। जिन छात्रों को एमबीबीएस में जगह नहीं होते अधिकांश तौर पर वह बीडीएस ही चुनते है।

बीडीएस कोर्स के बारे में बारीकियों से जानने हेतु इसे पढ़े, BDS Course Details जानकारी।

बीयूएमएस डॉक्टर कैसे बने: BUMS की पूरा नाम है बैचलर ऑफ यूनानी मेडिसिन एंड सर्जरी। आयुर्वेद की तरह यह भी एक प्राचीन चिकित्सा प्रक्रिया है। नीट एग्जाम में उत्तीर्ण होकर आप इस कोर्स में दाखिला ले सकते है।

योगा एंड नेचुरोपैथी डॉक्टर कैसे बने: इसमें खासकर नेचुरोपैथी और योगा चिकित्सा के बारे में पढ़ाया जाता है। इसमें दाखिला लेने के लिए भी नीट एग्जाम देने की आवश्यकता है।

इसके समयावधि दूसरे डॉक्टर बनने की कोर्स की तरह ही है, पूरे साढ़े पांच साल।

वेटरनरी डॉक्टर कैसे बने: वेटरनरी डॉक्टर यानी पशु चिकित्सक भी एक प्रशिद्ध मेडिकल कोर्स है। वेटरनरी डॉक्टर बनने के लिए नीट एग्जाम देने की आवश्यकता नहीं। VCI द्वारा AICEE एग्जाम लिए जाते है उंसमे उत्तीर्ण होना होगा।

इसके अलावा अलग अलग कॉलेज और यूनिवर्सिटीज द्वारा अलग अलग एग्जाम लिया जाता है उंसमे उत्तीर्ण होकर भी आप वेटरनरी डॉक्टर बन सकते है।

Top Medical Colleges in India

पूरे देश मे बहुत सारे मेडिकल कॉलेज है जहां नीट पास करने के बाद डॉक्टर बनने की कोर्स में दाखिला मिल जाता है। यहां हमने कुछ फेमस मेडिकल कॉलेज के नाम बताए है जहां से आप डॉक्टर बनने की पढ़ाई कर सकते।

  • आल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (AIIMS), नई दिल्ली
  • आर.जी.कर मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, कोलकाता, पश्चिम बंगाल
  • राजेन्द्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल कॉलेज, रांची, झारखंड
  • द वेस्ट बंगाल यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंस, कोलकाता, पश्चिम बंगाल
  • राजीव गांधी मेडिकल कॉलेज, थाने, महाराष्ट्र
  • पंडित भागवत दयाल शर्मा पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, रोहतक, हरयाणा
  • स्टैनले मेडिकल कॉलेज, चेन्नई, तमिलनाडु
  • आर्म्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज, पुणे, महाराष्ट्र
  • सेंट जॉन्स मेडिकल कॉलेज, बंगलोर, कर्नाटक
  • इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, वाराणसी, उत्तर प्रदेश
  • उत्तर प्रदेश यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंसेज, सैफई, उत्तर प्रदेश
  • महात्मा गांधी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज, इंदौर, मध्यप्रदेश
  • आल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल कॉलेज, भोपाल, मध्यप्रदेश
  • पटना मेडिकल कॉलेज, पटना, बिहार

Doctor ki Salary Kitni Hoti Hai

सरकारी क्षेत्र में नौकरी हेतु एमबीबीएस, बीडीएस, बीएचएमएस, आदि सारी डॉक्टर का एक ही पे स्केल है। सुरुवती दौर में 40,000 से 45,000 रुपये प्रत्येक महीने सैलरी मिलते है। समय के साथ सैलरी में इन्क्रीमेंट तेजी होती है।

अगर आप प्राइवेट सुरु करते है तो कमाई की कोई लिमिट नहीं होते। आप जितना चाहे उतने कमा सकते है। यह निर्भर करेगा आप तजुर्बे के ऊपर।

सारांश: जिन्हें डॉक्टर बनना है यह जानकारी उनके लिए काफी फायदेमंद है। Doctor kaise Bane उसके बारे में हमने पूरे जानकारी देने की कोशिश की है।

इन पॉइंट्स के अलावा अगर आपको कोई और पॉइंट के बारे में जानना है तो कमेंट सेक्शन में बताये। और हमारे लिए कोई सुझाव है तो बताये।

ऐसे ही जानकारी के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े।

यह पढ़े:

दोस्तों के साथ शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published.