Diploma in Mass Communication in Hindi

Diploma in Mass Communication कोर्स के बारे में जानना चाहते है तो इस आर्टिकल को ध्यान से पढिये तभी आपको मास कम्युनिकेशन के डिप्लोमा कोर्स के बारे समझ आएगा।

इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन क्या है, इस कोर्स के फीस कितने है, स्कोप क्या है, सैलरी कितने मिलेंगे इत्यादि।

NEET के बारे में डिटेल्स से जाने

आशा करता हूं आर्टिकल के आखिरी तक पढ़ने के बाद आपके सारे सवालों का जवाब मिल जाएगा। और अगर कोई सवाल रहे तो कमेंट में बता देना हम उसके जवाब भी दे देंगे।

Diploma in Mass Communication in Hindi, डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन
Diploma in Mass Communication

Diploma in Mass Communication and Journalism

जिन्हें Mass Communication के बारे में कुछ भी नहीं पता उनके लिए बात दूं, Mass communication के हिंदी मीनिंग है जनसंचार।

B pharma करके फार्मासिस्ट बनने की पूरी प्रॉसेस

यानी मास मीडिया जैसे, टीवी, न्यूजपेपर, पत्रिका, मैगजीन, रेडियो, वेबपोर्टल, सोशल नेटवर्क, फ़िल्म, बुक, आदि के माध्यम से आबादी के बड़े हिस्से तक सूचना अदन प्रदान करने की प्रक्रिया।

इस प्रक्रिया को ही मास कम्युनिकेशन कहते है। मास कम्युनिकेशन में करियर बनाने के लिए कई तरह के कोर्स उपलब्ध है मगर आज हम डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन के बारे में जनेंगे।

डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन क्या है

डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन नाम से ही पता चल रहा है कि ये एक डिप्लोमा कोर्स है जिसके अवधि है एक साल। ये कोर्स उन स्टूडेंट्स के लिए बनाया गया है जिन्हें पत्रकारिता में खास रुचि है।

B.sc in Radiology कोर्स कैसे करे

डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन के कोर्स में स्टूडेंट्स को मास मीडिया जैसे, अखबार, पत्रिका, दूरदर्शन, रेडियो, वेबपोर्टल इत्यादि के माध्यम से लोगो तक कैसे सूचना प्रसारण करेंगे उसके के बारे में पढ़ाया जाता है।

ये एक प्रोफेशनल कोर्स होने के नाते इसके डिमांड दिन प्रतिदिन बढ़ रहे है। छात्रों के मन मे भी इस कोर्स को लेकर काफी उत्सुकता है। वे भी जनसंचार के इस एडवेंचरस लाइफ जीना चाहते है।

पॉलीटेक्निक कोर्स करके इंजीनियर कैसे बनेंगे

डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन के लिए योग्यताएं (Eligibility for Diploma in Mass Communication)

हर कोर्स के तरह इसके लिए भी योग्यताएं निर्धारित है जो आपको आगे जानने को मिलेगा। बताये गए निम्नलिखित एलिजिबिलिटी यदि आपके पास है तो आप इस कोर्स के लिए योग्य माना जायेगा।

• आपको किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12 वी (इंटरमीडिएट) पास करना होगा तो भी न्यूनतम 55 प्रतिशत नंबर से।

• 12 वी में आप किसी स्ट्रीम (साइंस, आर्ट्स, कॉमर्स) से  हो सकते उससे कुछ फर्क नहीं पड़ेगा।

• इंग्लिश भाषा के आपके पकड़ अच्छा है तो बेहतर होगा। यदि इस सब्जेक्ट में आप थोड़ा कमजोर है तो अभी से ही ध्यानपूर्वक पढ़ने के कोशिश करें।

• आयु की बात करे तो इसके लिए न्यूनतम आयु 17 साल है और अधिकतम आयु कॉलेज के ऊपर निर्भर करेगा कि कितने आयु तक के स्टूडेंट्स को कॉलेज में एडमिशन लेंगे।

GNM Nurse कैसे बनेंगे पूरी डिटेल्स

Diploma in Mass Communication kaise kare

डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन के कोर्स करने के लिए आपको आगे बताये गए स्टेप्स फॉलो करना होगा:

12 वी पास करे: सबसे पहले आपको किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से इंटरमीडिएट पास करना होगा। इसके दौरान आप इंग्लिश ऊपर खास ध्यान देंगे तो अच्छा रहेगा।

कॉलेज/यूनिवर्सिटी सेलेस्ट करे: आप जो भी कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेना चाहते है उसके बारे में सही से जानकारी लेने है इसके बाद ही आगे बढियेगा।

एडमिशन के लिए अप्लाई करे: कॉलेज के डिटेल्स जानने के पश्चात ही आपको फॉर्म फिलअप करना है नहीं तो आपको ऐसे ढेर सारे कॉलेज मिल जाएंगे जहां नाम मात्र ही मास कम्युनिकेशन के डिप्लोमा कोर्स कराया जाता है।

फॉर्म फिलअप के दौरान आपके सारे दस्तावेजों (आधार कार्ड, माध्यमिक के एडमिट कार्ड, इंटरमीडिएट के मार्कशीट, आदि) के ज़ेरॉक्स की जरूरत होगी। इसके दौरान फॉर्म फिलअप के फीस भी जमा करना होगा।

DMLT कोर्स करके लैब टेक्नीशियन बने

Diploma in Assistant Nursing

एडमिशन ले लीजिए: एडमिशन के लिए पूरे पूरे प्रॉसेस मैने आपको आगे बताये है।

Diploma in Mass Communication ke Admission Process

हर कोर्स के तरह इसमें भी आप तीन तरीके से एडमिशन ले सकते है। पहला है, डायरेक्ट एडमिशन और दूसरा है, एंट्रेंस एग्जाम देकर और तीसरा है, मेरिट के आधार पर एडमिशन।

इसे पढ़े: BCA Course करके इंजीनियर बने

• अधिकतर कॉलेज में इस कोर्स के लिए डायरेक्ट एडमिशन कराया जाते है। जिन कॉलेज में ऐसा है आप वहां एडमिशन फीस जमा करने के पश्चात एडमिशन ले सकते है।

• कुछ कॉलेज ऐसा है जहां पर एडमिशन लेने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देना होगा। एग्जाम में प्राप्त नंबर के आधार पर एडमिशन लिया जाएगा।

ऐसे एग्जाम के लिए आपके पास करंट अफेयर्स, पोलिटिकल ज्ञान, इत्यादि के बारे अच्छे पकड़ होना चाहिए।

• कुछ ऐसे भी कॉलेज है जहां पर मेरिट के आधार पर एडमिशन लिया जाता है। 12 वी में प्राप्त नंबर के आधार पर मेरिट लिस्ट बनाया जाता है और आखिर में उस लिस्ट के अनुसार ही एडमिशन प्रॉसेस आगे जारी रखा जाता है।

इसलिए आप जो भी कॉलेज में एडमिशन लेने के बारे में सोच रहे है उस कॉलेज में जाकर पहले बात कर लीजिए कि वहां एडमिशन प्रॉसेस क्या है।

B tech करना है तो यह आर्टिकल पढ़े

Diploma in Mass Communication ke Course Duration (कोर्स के अवधि)

डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन एक साल की डिप्लोमा कोर्स है। इसमें आपको दो सेमिस्टर देना पड़ेगा जो कि हर छह माह के अंतराल में लिया जाता है।

Diploma in Mass Communication ke Fees

भिन्न भिन्न कॉलेज/यूनिवर्सिटी में कोर्स फीस भिन्न है। इसके लिए कोई निर्धारित फीस स्ट्रक्चर नहीं है। हर कॉलेज अपने अपने हिसाब से फीस तय करते है।

फिरभी यदि हम औसतन फीस की बात करे तो प्राइवेट कॉलेज में लगभग 40,000 से 99,000 तक होते है और और सरकारी कॉलेज में यही फीस लगभग एक तिहाई हो जाती है मतलब आप 10,000 से 15,000 के अंदर कम्पलीट कर सकते है।

Top Diploma in Mass Communication Colleges

वैसे तो इंडिया में हज़ारों मास कम्युनिकेशन के कॉलेज है परंतु सभी कॉलेज एडमिशन के लिए उपयुक्त नहीं है। ये एक ऐसी कोर्स है जिसमे कॉलेज की खास भूमिका रहेगा।

इसलिए आप सही कॉलेज को चुने। हो सके तो कॉलेज के पास आउट स्टूडेंट्स से बात करे और गूगल में उस कॉलेज के बारे रिव्यु कैसे है उसके बारे में जानकारी ले।

D pharma Course की पूरी डिटेल्स

यहां मैंने कुछ अच्छे कॉलेज के बारे में बताये है। आप उसके बारे में भी जानकारी ले सकते है।

• इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन (IIMC), नई दिल्ली

• इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ जर्नलिज्म एंड न्यू मीडिया (IIJNM), बेंगलुरु, कर्नाटक

• एशियन कॉलेज ऑफ जर्नलिज्म (ACJ), चेन्नई तमिलनाडु

• मणिपाल अकादेमी ऑफ हायर एजुकेशन (MAHE), मणिपाल, कर्नाटक

• पारुल यूनिवर्सिटी (PU), वडोदरा, गुजरात

• मनोरमा स्कूल ऑफ कम्युनिकेशन (MASCOM) कोट्टायम, केरल

• मेहर चंद महाजन दयानंद एंग्लो वेदिक कॉलेज फ़ॉर वोमेन (MCM DAV) चंडीगढ़, चंडीगढ़

• ज़ेवियर इंस्टीट्यूट ऑफ कम्युनिकेशन (XIC) मुम्बई, महाराष्ट्र

• जागरण लेकसिटी यूनिवर्सिटी (JLU), भोपाल, मध्यप्रदेश

• एमिटी स्कूल ऑफ कम्युनिकेशन (ASCO) नोएडा, उत्तर प्रदेश

• अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) अलीगढ़, उत्तर प्रदेश

• आईएमएस यूनिसन यूनिवर्सिटी (IUU) देहरादून, उत्तराखंड

• आईआईएस (डीम्ड टू बी यूनिवर्सिटी) (IISU) जयपुर, राजस्थान

Software engineering की पूरी डिटेल्स

Diploma in Mass Communication ke Baad kya kare

डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन के कोर्स करने के बाद आपको मास मीडिया में काम करने का मौका मिलेगा। आप चाहे तो इन पदों के लिए आवेदन कर सकते है।

• दूरदर्शन में न्यूज़ रिपोर्टर

• पब्लिक रिलेशन ऑफिसर

• न्यूज़ पेपर रिपोर्टर

• न्यूज़ ऐजेंसी में कंटेंट राइटर

• न्यूज़ चैनल में कैमरा मैन

• फ़िल्म डायरेक्टर

• टीवी एंकर

• सिनेमेटोग्राफर

• वेबपोर्टल में कंटेंट राइटर

• न्यूज़ ऐजेंसी में वीडियो एडिटर

इन सारे जॉब्स के अलावा भी मास मीडिया के क्षेत्र में आपको कई सारे काम मिल जाएंगे जहां आपको रुतबे के साथ साथ अच्छे सैलरी भी मिलती है।

ANM नर्स कैसे बनेंगे कोर्स डिटेल्स

Diploma in Mass Communication ke Salary

यदि आप सोच रहे है कि डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन के कोर्स करने के बाद सैलरी कितना मिलेगा तो बात दूं, एक फ्रेशर्स के लिए सुरूवात में 1,80,000 से 2,50,000 प्रति वर्ष।

जैसे जैसे आपके अनुभव में बढ़ते है वैसे वैसे वेतन में भी वृद्धि होते है।

डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन से संबंधित सवाल जवाब

यदि आपके मन मे कोई सवाल है तो इस सेक्शन को ध्यान से पढ़े आशा करना हूं आपके सारे सवाल के जवाब मिल जाएंगे।

• डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन के डिस्टेंस एजुकेशन योग्य है?

योग्य तो है मगर मेरे हिसाब से रेगुलर कोर्स करना ही बेहतर होगा। क्योंकि, इस कोर्स में कई तरह स्किल्स डिवेलपमेंट की जरूरत है।

ये सारे चीज़ आप डिस्टेंस एजुकेशन से प्राप्त नहीं कर पाएंगे ऐसा नहीं मगर करना कठिन होगा। इसलिए रेगुलर कोर्स करने की कोशिश करे।

• लैब टेक्नीशियन के सर्टिफिकेट कोर्स

• डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन के कोर्स कितने साल के है?

इस कोर्स के अवधि है एक साल की जसमे दो सेमेस्टर होते है।

• इस कोर्स के बाद क्या जॉब मिलेगा?

इस कोर्स के बाद आपको मास मीडिया में काम करने का मौका मिलेगा जिसके अंदर, टीवी, न्यूजपेपर, न्यूज़ ऐजेंसी, वेबपोर्टल, मैगजीन, पत्रिका इत्यादि क्षेत्र आते है।

• यह कोर्स करने के बाद कितने सैलरी मिलेंगे?

आपके काम करने वाले पदों के ऊपर सैलरी निर्भर करते है। उसके बाद आपके तजुर्बे के साथ सैलरी में भी बढ़ोतरी होती है

• BAMS डॉक्टर कैसे बनेंगे

निष्कर्ष:

आज की इस पोस्ट में आपको डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन कोर्स के बारे में जानकारी प्रदान की गई है।

आशा करता हूं इन सवालों के जवाब मिल गए होंगे जैसे, इस कोर्स के फीस कितने है, क्या जॉब मिलेगा, कौन सा क्षेत्र में काम मिलने का संभावना है इत्यादि।

आपको ये जानकारी कैसा लगा कमेंट करके बताना और कोई सवाल या सुझाव है तो हमारे साथ साझा करना। ऐसे ही शानदार जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग को विजिट करते रहना।

धन्यवाद!

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Telegram