D pharma kya Hai: योग्यता, फायदे,फीस, नौकरी,सैलरी के डिटेल्स

जो विद्यार्थी मेडिकल की क्षेत्र में रुचि रखते है और इसी क्षेत्र अपना करियर बनाना चाहते है उनके लिए आज की लेख काफी महत्वपूर्ण है। क्योंकि आज हम एक ऐसे कोर्स के बारे में जानेंगे जिसे मेडिकल क्षेत्र की रीड का हड्डी माना जाता है।

उस कोर्स का नाम है फार्मेसी, जैसे कि आप जानते होंगे फार्मेसी के अंतर्गत कई सारे डिग्री होते है जिनमे से साबसे प्रसिद्ध है D pharma. आज हम इसी D pharm course के बारे में चर्चा करेंगे।

यहां जानेंगे कि D pharma kya Hai, डी फार्मा के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए, एडमिशन कैसे होता है, कोर्स की फीस कितनी है, बेस्ट कॉलेज कौन सा है, नौकरी कौन सी मिलेगी, सैलरी कितना होगी, इत्यादि।

बचपन में कई सारे विद्यार्थियों का सपना होता है कि वह बड़ा होकर डॉक्टर या इंजीनियर बनेंगे, लेकिन यह सपना सभी का साकार नहीं हो पाते। यदि आप भी उन स्टूडेंट्स में से कोई है जो डॉक्टर नहीं बन पाए पर कोई अच्छा मेडिकल कोर्स करना चाहते है तो फार्मासिस्ट आपके लिए एक अच्छा करियर ऑप्शन हो सकता है।

यह एक ऐसी प्रोफेशनल कोर्स है जिसकी डिमांड दिन प्रतिदिन तेजी से बढ़ रही है। ऐसे पेशेवर व्यक्तियों का मांग हमारे देश अलावा विदेशों में भी काफी अधिक है।

D pharma kya hai, d pharma course details in hindi, d pharma ke baad kya kare, d pharma in hindi
D pharma kya hai

डी फार्मा एक एंट्री लेवल का फार्मेसी कोर्स है जिसे इंटरमीडिएट के बाद किया जाता है। कोर्स पूरा होने के बाद उम्मीदवारों को फार्मेसी काउंसिल में जाकर अपना नाम रजिस्टर करना होता उसके बाद सारे दस्तावेजों की सत्यापन करके आपको रजिस्ट्रेशन नंबर प्रदान किया जाता है, तभी आप रजिस्टर्ड फार्मासिस्ट बनते

इंडियन फार्मेसी काउंसलिंग के नियमों के अनुसार फार्मासिस्टों को उन सभी जगह नियुक्त करने चाहिए जहां दवाइयों के जुड़े कार्य होते होंगे। फार्मासिस्ट ही एक ऐसी व्यक्ति है जिन्हें दवाइयों के अच्छे और बुरे प्रभाव के साथ साथ ड्रग इंटरेक्शन और मैकेनिज्म के बारे में अच्छे से पता होता।

तो आइए अधिक बात न करके सीधा टॉपिक पर आते है और आपको D pharma Course Details के बारे में बारीकियों से बताते है ताकि रजिस्टर्ड फार्मासिस्ट बनने में आपको कोई परेशानियों का सामना न करना पड़े।

D pharma kya hai (D pharma Course Details in Hindi)

D pharma का पूरा नाम है Diploma in Pharmacy, यह दो साल का एक डिप्लोमा कोर्स है। जिसमे टोटल चार सेमेस्टर देने पड़ते, हालांकि कुछ इंस्टीट्यूट में वार्षिक एग्जाम भी आयोजित किया जाता है।

कोर्स की दो साल पूरा होने के पश्चात विद्यार्थियों को किसी सरकारी अस्पताल से तीन महीने की इंटर्नशिप करना अनिवार्य है, ताकि पेशेंट काउंसलिंग, मेडिसीन डिस्पेंसिंग, प्रेस्क्रिप्शन रीडिंग, इत्यादि का प्रैक्टिकल ज्ञान प्राप्त कर सकें।

इस कोर्स को करने के लिए विद्यार्थियों को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से साइंस लेकर पढ़ाई होगी जिसमें फिजिक्स, केमिस्ट्री तथा बायोलॉजी या मैथेमेटिक्स का सब्जेक्ट्स होना आवश्यक है।

इस कोर्स में उम्मीदवारों को फार्माकोलॉजी, बायोकेमिस्ट्री, फार्मकोग्नोसि, फार्मास्यूटिक्स, हॉस्पिटल एंड क्लीनिकल फार्मेसी, फार्मास्यूटिकल जुरिस्प्रूडेंस जैसे सब्जेक्ट्स का अध्ययन करना होता, ताकि दवाइयों का प्रस्तुत, नियंत्रित, संरक्षित, और वितरित के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके।

इसके अतिरिक्त इस कोर्स में, दवाइयों का सही उपयोग जैसे; कैसे दवाइयों से ज्यादा से ज्यादा फायदा लिया जा सके, साइड इफ़ेक्ट कैसे कम करना है, ड्रग का इंटरेक्शन और मैकेनिज्म कैसा होता, इत्यादियों के बारे में शिक्षा प्रदान की जाती है।

आप इस कोर्स में एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से एडमिशन ले सकते है, हालांकि बहुत से कॉलेज है जहां मेरिट के आधार पर एडमिशन मिलते है। इसके अलावा कुछ कॉलेज में डायरेक्ट एडमिशन का भी सुविधाएं उपलब्ध है।

कोर्स पूरा होने के पश्चात ऐसे उम्मीदवारों के लिए हेल्थ क्षेत्र में अपार संभावनाएं है; कोई चाहे तो सरकारी तथा गैर सरकारी अस्पताल, नर्सिंग होम, फार्मा इंडस्ट्रीज, रिटेल फार्मेसी, आदि में काम कर सकते है। इसके अलावा चाहे तो खुद का मेडिकल स्टोर भी खोल सकते है।

आशा करना हूं अब आपको समझ आ गया होगा कि D pharma kya hai, अब आइए जानते है कि डी फार्मा करने के फायदे क्या क्या है और इसके लिए योग्यता क्या होनी चाहिए?

इसे पढ़े:

GNM Course करके नर्स बने

DMLT कोर्स की पूरी जानकारी

B ed kya hai पूरी जानकारी

x ray Technician course Details in Hindi

MLT Course Details

DHP Course Details

Dresser Course Details

डी फार्मा करने के फायदे

जैसे की सभी को पता है आज की तारीख में मेडिकल क्षेत्र में अवसर कितना है। एक्सपर्ट का कहना है आने वाले कुछ समय मे इस क्षेत्र का वैल्यू कई गुना होगा।

डी फार्मा करने के कई सारे फायदे है जो आपको आगे जानने को मिलेगा:

  • डी फार्मा करके आप मेडिकल क्षेत्र में अपनी करियर बना सकते है।
  • इस कोर्स करने के पश्चात उम्मीदवारों को सरकारी तथा निजी अस्पतालों में फार्मासिस्ट के तौर पर नियुक्त किया जाता है।
  • इसके अलावा हेल्थ सेंटर, एनजीओ, कम्युनिटी हेल्थ सेंटर जैसे बड़े बड़े सेक्टर में फार्मासिस्टों के लिए अपार संभावनाएं है।
  • अगर कोई चाहे तो खुद का रिटेल फार्मेसी या व्होलसेल फार्मेसी बिजनेस सुरु कर सकते है।
  • फार्मास्यूटिकल कंपनी द्वारा फार्मासिस्टों को मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव के तौर पर नौकरी प्रदान करते है।
  • जिनते भी फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्रीज है वहा डी फार्मा के उम्मीदवारों को आसानी से नौकरी मिलते है।
  • कोई चाहे तो डी फार्मा के पश्चात हायर स्टडी कर सकते है, इसके लिए साबसे अच्छा है बी फार्मा।

डी फार्मा के लिए योग्यता (Eligibility for D pharma in Hindi)

दूसरे कोर्स की तरह डी फार्मा के लिए भी एक निर्दिष्ट मानदंड निर्धारित किया गया है PCI द्वारा, जिसके बारे में हमने निम्नलिखित कुछ स्टेप में बताये है;

शैक्षिक योग्यता: डी फार्मा के लिए शैक्षणिक योग्यता की बात की करे तो ये एक डिप्लोमा कोर्स होने के नाते इसकी लिए न्यूनतम योग्यता है 12 वी पास। डी फार्मा लेकर पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों को 12 वी में फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी या मैथेमेटिक्स लेकर पढ़ाई करनी चाहिए।

यानी, यदि 12 वी में फिजिक्स, केमिस्ट्री के साथ बायोलॉजी है तो भी डी फार्मा के लिए अप्लाई कर सकते है। अन्यथा यदि अपने 12वी में फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथेमेटिक्स लेकर पढ़ाई की है तो भी इस कोर्स के लिए अप्लाई कर सकते है।

ध्यान रहे इन सभी सब्जेक्ट्स में जनरल कैटेगरी के विद्यार्थियों को कम से कम 50 प्रतिशत नंबर प्राप्त करना होता वही SC, ST और PH कैटेगरी के उम्मीदवारों के लिए कम से कम 45 प्रतिशत नंबर प्राप्त करना अनिवार्य है।

आयु (Age): शैक्षणिक योग्यता के साथ साथ डी फार्मा करने वाले उम्मीदवारों का आयु कम से कम 17 साल होनी चाहिए। अगर किसी का आयु 17 साल से कम होता है तो उन्हें इस कोर्स के लिए योग्य नहीं माना जायेगा।

इसे पढ़े: Polytechnic कोर्स कर के इंजीनियर बने

डी फार्मा की एडमिशन प्रॉसेस

अधिकतर कॉलेज में प्रवेश हेतु एंट्रेंस एग्जाम देनी आवश्यक है।

मगर ऐसी बहुत सारी कॉलेज है जहां कोई एंट्रेंस एग्जाम देने की जरूरत नहीं। आप सीधा एडमिशन ले सकते है। इसके लिए डायरेक्ट कॉलेज से कांटेक्ट करना होगा।

एंट्रेस एग्जाम के लिए नई फॉर्म हर साल मई-जून महीने में ऑनलाइन निकाली जाती है।

उनके ऑफिसियल साइट पर जाकर आप ऑनलाइन फॉर्म फील कर सकते है।

सबसे पहले, साइट पर जाकर अपना नाम, मोबाइल नंबर, इत्यादि देके New Registration कर लेना है।

इसके बाद मोबाइल पे आईडी और पासवर्ड आएगा वे देकर लॉगिन हो जाइये।

और अपनी पता, योग्यता, इत्यादि डिटेल्स डालकर अप्लाई कर दे।

एबं फॉर्म सबमिट हो जाने के बाद एप्पलीकेशन फॉर्म की एक प्रिंट आउट निकाल ले।

एडमिशन समन्धित सारे जानकारियां के लिए आप समय समय पर वेबसाइट विजिट करते रहिए।

उसके बाद जब एंट्रेंस एग्जाम हो जाएगा उसके रैंक को देखते हुए एडमिशन प्रॉसेस आगे बढ़ाई जाती है।

डी फार्मा एंट्रेंस एग्जाम के कुछ नाम नीचे है, CET, CPMT, UPSEE, इत्यादी।

इसे पढ़े: Software engineer kaise Bane

D pharma ki fees kitni hai (डी फार्मा फीस)

यदि आप सोच रहे है कि डी फार्मा की फीस कितनी है, क्या हम कोर्स फीस वहन कर पाएंगे?

तो आपके जानकारी के लिए बात दूं, फीस कॉलेज के ऊपर निर्भर करते है।

प्राइवेट कॉलेज की बात की जाए तो, हर कॉलेज अपनी मन पसंद फीस चार्ज करते है।

इसकी कोई निर्धारित फीस नहीं है। फिर भी डी फार्मा की फीस अमूमन 1.80 लाख से 3.5 लाख तक आ जाती है।

और यदि सरकारी कॉलेज में एडमिशन मिलते है तो कोर्स फीस बहुत गई कम होगा लगभग प्राइवेट कॉलेज की आधे से भी कम।

आमतौर पर सरकारी कॉलेज में 20 हज़ार से 30 हज़ार रुपए के अंदर पूरी कोर्स कम्पलीट हो जाते है।

D pharma ki Duration (अवधि)

डी फार्मा कोर्स की अवधि है 2 साल 3 महीना। जिसमे 2 साल की पढ़ाई एबं 3 महीने की इंटर्नशिप करना पड़ता है।

इसे पढ़े:

रेडियोलॉजिस्ट बनने के कोर्स के बारे में जाने

OT course Details

इंटर्नशिप आप किसी भी सरकारी अस्पताल से कर सकते है।

किसी किसी कॉलेज में इंटर्नशिप के दौरान कुछ स्टाइपेंड मिलते है।

डी फार्मा सिलेबस (D pharma ke subject)

पहले आइए डी फार्मा की सब्जेक्ट्स के बारे में बात कर लेते है।

D pharma 1st year books

S.Lसब्जेक्ट्स
1.फार्माकोग्नॉसी
2.फार्मास्यूटिक्स -1
3.फार्मास्यूटिकल केमिस्ट्री -1
4.बायोकेमिस्ट्री एंड क्लीनिकल पैथोलॉजी
5.ह्यूमन एनाटोमी एंड फिजियोलॉजी
6.हेल्थ एजुकेशन एंड कम्यूनिटी फार्मेसी

D pharma 2nd year books

S.Lसब्जेक्ट्स
1.फार्मास्यूटिक्स -2
2.फार्मास्यूटिकल केमिस्ट्री -2
3.फार्मास्यूटिकल जुरिस्प्रूडेंस
4.फार्माकोलॉजी एंड टॉक्सिकोलॉजी
5.हॉस्पिटल एंड क्लीनिकल फार्मेसी
6.ड्रग स्टोर एंड बिजनेस मैनेजमेंट

ये रहा डी फार्मा की दो साल का सारी सब्जेक्ट्स लिस्ट। यदि आप 1st ईयर एबं 2nd ईयर की पूरी सिलेबस जानना चाहते है तो इसे डाऊनलोड करें डी फार्मा सिलेबस

इसे पढ़े: NEET kya Hai

Top D pharm college in India

इस लिस्ट में कुछ सरकारी तथा प्राइवेट कॉलेज के नाम बताई गई है।

• दिल्ली इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंस एंड रिसर्च, नई दिल्ली

• जे एस एस कॉलेज ऑफ फार्मेसी, मैसूर

• Dr D Y पाटिल इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंस एंड रिसर्च, पुणे

• अन्नामलाई विश्वविद्यालय, अन्नामलाई नगर

• ISF कॉलेज ऑफ फार्मेसी

• बिहार कॉलेज ऑफ फार्मेसी, पटना

• SLT इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंस

• इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मेसी, जलपाईगुड़ी

• श्री अरबिंदो इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मेसी, इंदौर

• PSG कॉलेज ऑफ फार्मेसी, कोयम्बटूर

• गोवा कॉलेज ऑफ फार्मेसी, पणजी

• जयपुर नेशनल यूनिवर्सिटी, जयपुर

• बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी, झांसी

• बी के मोदी गवर्नमेंट फार्मेसी कॉलेज, राजकोट

• चितकारा कॉलेज ऑफ फार्मेसी, राजपुरा

इसे पढ़े: ANM नर्स कैसे बनेंगे

D pharma ke baad kya kare

D pharma कम्पलीट हो जाने के बाद आपके सामने ढ़ेर सारे ऑप्शन खुल जाते है। सिर्फ हमारे देश मे ही नहीं विदेशों में भी इस कोर्स की मांग बहुत है।

इसलिए आप चाहे तो सरकारी तथा निजी क्षेत्र में नौकरी कर सकते है या फिर उच्च शिक्षा के लिए आगे की पढ़ाई जारी रख सकते है।

इसके लिए सबसे अच्छा जो कोर्स है B pharm Course. जो भी डी फार्मा करने वाले स्टूडेंट्स बी फार्मा करेंगे उनको बी फार्मा के दूसरे वर्ष में लेटरल एडमिशन मिल जाएगा, उसके बाद M pharm और Pharm D भी कर सकते है।

और अगर आप नौकरी करना चाहते है तो नीचे कुछ नौकरी के बारे में बताये गए है।

डी फार्मा के बाद नौकरी

अगर आप डी फार्मा के बाद नौकरी के बारे में सोच रहे है तो आप नीचे दिए गए पॉइंट्स को बारीकियों से पढ़े जहां हमने D pharma के बाद की जाने वाले कुछ नौकरियों के बारे में बताये है।

इसे पढ़े: BAMS डॉक्टर कैसे बनेंगे पूरी प्रॉसेस

• किसी भी सरकारी तथा निजी अस्पतालों में फार्मासिस्ट के रूप में काम कर सकते है।

जिसकी काम है मरीजों को पेस्क्रिप्शन से मुताबिक दवाई के डिस्पेंसिंग करना, पेशेंट्स काउंसलिंग करना, ड्रग्स की स्टॉक मैनेजमेंट करना, इत्यादि।

• फार्मास्यूटिकल कंपनी में ड्रग्स एनालिस्ट, क्वालिटी कंट्रोल ऑफिसर, पैकेजिंग डिपार्टमेंट, इत्यादि।

• आप किसी क्लिनिक, NGO, कम्युनिटी हेल्थ सेंटर में काम कर सकते है।

• किसी भी रिटेल फार्मेसी में फार्मासिस्ट के तौर पर काम कर सकते है।

• यदि आप खुद की बिजनेस सुरु करना चाहते है तो रिटेल फार्मेसी सुरु कर सकते है।

• बड़ी बड़ी कंपनियों में तथा रेलवे में हर साल फार्मासिस्ट की मांग रहती है। आप चाहे तो वहां भी काम कर सकते है।

• इसके अलाव आप मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव के तौर पे काम कर सकते है।

इसे पढ़े: B tech kya Hai

D pharma ki salary

डी फार्म के सैलरी की बात करें तो सैलरी कुछ चीज़ों के ऊपर निर्भर करती है।

जैसे आपके काम की एक्सपीरिएंस है कि नहीं, कौन सी जगह किस पोस्ट पर काम करते है, सरकारी या गैर सरकारी क्षेत्र है, इत्यादि।

आमतौर पर फ्रेशर्स को सुरुवती में अधिक सैलरी नहीं मिलते।

परंतु जैसे जैसे समय के साथ तजुर्बा बढ़ती जाती है वैसे वैसे सैलरी में भी बढतरी होती है।

फिरभी यदि सैलरी की बात करें तो, आमतौर पर 20,000 से 30,000 तक सैलरी मिलने की पूरी संभावना है।

डी फार्मा समन्धित सवाल जवाब

• डी फार्म करने से क्या होता है?

सफलतापूर्वक डी फार्मा करने वाले विद्यार्थियों को फार्मासिस्ट कहा जाता है। ऐसे उम्मीदवारों का मांग मेडिसिन क्षेत्र में काफी अधिक है।

कोई चाहे तो सरकारी तथा गैर सरकारी अस्पतालों में नौकरी कर सकते है अन्यथा, फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्रीज में ऐसे उम्मीदवारों की काफी डिमांड है।

• डी फार्मा की 1 साल की फीस कितनी होती है?

दो साल की कोर्स में लगभग ₹20,000 से ₹3,50,000 का कोर्स फीस लग जाता है, हालांकि सरकारी कॉलेजों में कोर्स फीस इससे भी कम होता है।

यदि डी फार्मा की 1 साल की एवरेज फीस देखा जाए तो ₹15,000 से लेकर ₹1,50,000 तक होती है।

• डी फार्मा के बाद कितनी सैलरी मिलती है?

डी फार्मा के वाद सैलरी की बात करे तो, काम के क्षेत्र के अनुसार सैलरी पैकेज तय किया जाता है। आमतौर पर ₹17,000 से ₹25,000 प्रति महीना सैलरी मिल जाता है।

• डी फार्मा पैरामेडिकल कोर्स के अंतर्गत आता है या नहीं?

जी नहीं अभी तक डी फार्मा पैरामेडिकल कोर्स अंतर्गत नहीं आया। फार्मेसी क्षेत्र के लिए बिल्कुल अगल कटेगरी है जिसे PCI तथा AICTE द्वारा कंट्रोल की जाती है।

• डी फार्मा के लिए ऐज लिमिट?

आयु की बात करे तो इस कोर्स में एडमिशन के लिए न्यूनतम 17 साल की मांग की जाती है। परंतु इसके लिए कोई अधिकतम आयु नहीं है।

• क्या वाणिज्य वर्ग के विद्यार्थी डी फार्मा कर सकते हैं?

डी फार्मा में प्रवेश करने के लिए 12 वी में फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी/मैथेमेटिक्स होनी चाहिए। यदि आप इस सब्जेक्ट्स लेकर 12वी किये है तो ही इस कोर्स के लिए योग्य माना जायेगा। इसे पढ़े: CMLT Course की पूरी जानकारी

• क्या ग्रेजुएशन बेस पर डी फार्मा होता है क्या?

इस कोर्स के न्यूनतम योग्यता है PCM/PCB लेकर 12 पास। यदि आप इन सारे सब्जेक्ट्स के साथ 12 वी पास किये है परंतु ग्रेजुएशन किसी दूसरे सब्जेक्ट लेकर पास किये है तो आपको टेंशन लेने की जरूरत नहीं आप इस कोर्स के लिए योग्य है।

• क्या दूसरे राज्य से डी फार्मा किया जा सकता है?

अवश्य, आप किसी भी राज्य से डी फार्मा कर सकते है। लेकिन एडमिशन से पहले आपको ये देख लेना है कि वो कॉलेज PCI के मान्यता प्राप्त है कि नहीं।

• क्या डी फार्मा का पेपर हिन्दी में नहीं आता है?

नहीं, डी फार्मा के पूरे सिलेबस इंग्लिश में आते है। डी फार्मा के पूरे कोर्स आपको इंग्लिश भाषा मे करना होगा।

• डी फार्मा एंट्रेंस एग्जाम के सिलेबस क्या है?

डी फार्मा के एंट्रेंस एग्जाम में चार सब्जेक्ट्स से सवाल आते है, जैसे, फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी, तथा मैथेमेटिक्स। एग्जाम में कुलमिलाकर 100 नंबर के सवाल आते आते है।

डी फार्मा के एंट्रेंस एग्जाम के पेपर में कितने क्वेश्चन आते है?

इस एग्जाम में कुलमिलाकर 100 क्वेश्चन आते है। हर सवाल के लिए एक नंबर निर्धारित है।

• डी फार्मा के फॉर्म कब भरे जाते है?

डी फार्मा के लिए आवेदन पत्र मई-जून महीने में भरे जाते है। राज्य के हिसाब से एक दो महीने आगे पीछे हो सकते है।

निष्कर्ष: ये रहा आज की आर्टिकल। यहां आपको D pharma के बारे में बताया गया है।

आशा करता हूं, आपको समझ आया है कि D pharma kya hai, कोर्स फीस कितने है, स्कोप क्या है, सैलरी कितने मिलेंगे, इत्यादि D pharma course details in hindi में।

आज की आर्टिकल आपको कैसा लगा कमेंट करके बताये। और अपने दोस्तों के साथ इसे शेयर करें ताकि उन्हें D pharma के बारे में अच्छे से पता चले।

ऐसे ही शानदार जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े यहां कोर्स, करियर, नौकरी आदि की अपडेट मिलती रहेगी।

शेयर करते रहो। धन्यवाद!

दोस्तों के साथ शेयर करे

36 Comments

  1. मैने BA आर्ट से कर रखी है तो मे D Farma कॉर्स कर सकता हु क्या।
    या साइंस ही कम्पल्सरी है।
    फीस कितनी होती है

    • साइंस के बिना नहीं कर सकते। डी फार्मा के फीस, स्कोप, सैलरी के बारे पूरी जानकारी आर्टिकल में दी गई है।

    • Pharmacist ke liye jitne bhi form nikalte hai wo sabhi fill up kar sakte hai. Iss ke alawa 12th qualification ke jitne bhi naukri hai uss ke form bhi bhar payenge.

        • किसी भी रिटेल फार्मेसी में आपको आसानी से नौकरी मिल जाएगी, इसके अलावा आप फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्रीज, और गवर्नमेंट नौकरी कर भी कर सकते है

    • जी नहीं! डी फार्मा के बाद क्लीनिक खोलने की राइट्स नहीं है फार्मासिस्टों को।

  2. D pharma krne k bad civil hospital ya railway hospital m training kr sakte hai ya civil hospital compulsory hota h??

  3. Sir
    मैने नेपाल से डी फार्मा किया है इंडिया में काम या स्टोर खोलने के लिया क्या करना परेगा।

    • आप अपने स्टेट की फार्मेसी काउंसिल के साथ संपर्क करें वहां आपको सारी जानकारी मिल जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *