BSW Course क्या है, कैसे करे, योग्यता, नौकरी, सैलरी, डिटेल्स

आगर आप जिंदगी में कुछ कर गुजरने की ख्वाइस रखते है या समाज मे अपना कुछ योगदान देना चाहते है परंतु आपके करियर का दुश्चिंता आपको सता रही है तो, मुझे लगता है कि अपने शायद सोशल वर्क की फील्ड के बारे में नहीं सुने होंगे।

यह एक ऐसी फील्ड में जहां आप समाज कल्याण कार्य के साथ साथ अपना भविष्य को भी एक दिशा प्रदान कर सकते है। आज के समय ज्यादातर स्टूडेंट्स इस फील्ड से अनजान है। इसलिए दूसरे क्षेत्र की तुलना में इंसमे कॉम्पिटिशन भी कम है।

सोशल वर्क की फील्ड को बढ़ावा देने हेतु सरकार की ओर की कई सारे कोर्स लाई गई है जिनमे से एक महत्वपूर्ण कोर्स है बीएसडब्ल्यू। BSW Course एक अंडर ग्रेजुएशन कोर्स है, जिसके माध्यम से आप एक सुयोग्य समाज सेवक बन सकते है।

अगर आपको BSW Course Details में जानना है तो इस लेख को ध्यान से आखिरी तक पढिये। यहां हमने विस्तार से चर्चा की है कि, बीएसडब्ल्यू क्या है, बीएसडब्ल्यू के लाभ क्या है, इसके लिए योग्यता क्या होनी चाहिए, कौन कौन से विषय पढ़ना पड़ता है, नौकरियां कौन से मिलेगी, सैलरी कितना होगा, BSW Course Details in Hindi में।

BSW Course Details in Hindi

BSW Course Details in Hindi,बीएसडब्ल्यू क्या है
BSW Course Details

BSW का पूरा नाम है “Bachelor of Social Work” हिंदी में जिसका मतलब है “सामाजिक कार्य के स्नातक”। यह तीन साल की अंडर ग्रेजुएट कोर्स है जिसमे एडमिशन लेने के लिए विद्यार्थियों को कम से कम 10+2 या इसके समकक्ष कोई कोर्स करना होता।

इस कोर्स में विद्यार्थियों को समाज कल्याण कार्य के लिए शैक्षणिक तथा मानसिक रूप से तैयार किया जाता है ताकि सोशल सेक्टर में काम करने के लिए जो स्किल्स और धैर्य का आवश्यकता होती है उसकी डेवेलोप किया जा सके।

सरकार द्वारा इस कोर्स को लाने का मुख्य उद्देश्य है, आम लोगों को गुणवत्तापूर्ण जीवन और अच्छी शिक्षा प्रदान किया जा सके। इसके अलावा, महिला सशक्तिकरण, पुनर्वास और सुधार (Rehabilitation and correction), डोमेस्टिक वायलेंस, वीमेन एंड चाइल्ड डिवेलपमेंट आदि इसका महत्वपूर्ण उद्देश्य है।

इस कोर्स में विद्यार्थियों को सोशियोलॉजी, ह्यूमन बिहेवियर, सोशल पॉलिसी, ह्यूमन राइट्स, सोशल वर्क एडमिनिस्ट्रेशन, कम्युनिटी ऑर्गनाइज़ेशन, डेवलपमेंट एंड कम्युनिकेशन जैसे सब्जेक्ट्स का अध्ययन करना पड़ता है।

आशा करते है आपको समझ आ गया होगा कि बीएसडब्ल्यू क्या है। जिन लोगों को अभी तक समझ नहीं आया उनके लिए और आसान भाषा मे थोड़ा जानकारी दे दूं,

बीएसडब्ल्यू क्या है

BSW यानी बैचलर ऑफ सोशल वर्क दूसरे बैचलर डिग्री की तरह ही एक ग्रेजुएशन कोर्स है जिसे 10+2 के बाद किया जाता है। इस कोर्स में अभ्यर्थियों को सोशल वर्क के बारे में शिक्षा प्रदान किया जाता है।

यह कोर्स उन लोगों के लिए है जो समाज सेवा तथा समाज कल्याण विभाग में अपना भविष्य सवांरने की ख्वाइस रखते है। यह तीन साल की कोर्स है, जिसे पूरा करने के पश्चात सरकारी तथा गैर सरकारी ऑर्गेनाइजेशन, NGO, हेल्थ सेंटर, हॉस्पिटल, सोशल वेलफेयर सेक्शन जैसे क्षेत्र में नौकरी मिलते है।

यह पढ़े:

बीएसडब्ल्यू कोर्स के लिए योग्यता (BSW Course Eligibility)

बीएसडब्ल्यू कोर्स में एडमिशन होने के लिए योग्यता की बात करे तो उम्मीदवारों को किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 या इसके समतुल्य कोर्स करना होता। इंसमे विषय पर कोई बाध्यता नहीं है।

परंतु 10+2 में न्यूनतम 45 प्रतिशत नंबर से आपको पास करना होगा हालांकि, एससी तथा एसटी उम्मीदवारों के लिए 5 नंबर की छूट भी मिलती है। इसके अलावा इस कोर्स एडमिशन के लिए आयु की कोई लिमिट नहीं है।

BSW Course के लिए आवश्यक स्किल्स

यदि आप मे निम्नलिखित स्किल्स है तो बहुत ही अच्छी बात है अन्यथा आपको चिंतित होने की आवश्यकता नहीं, इस कोर्स ने आपके अंदर वह स्किल्स डेवेलोप कर देगा;

• धैर्य

• प्रबंधन स्किल्स

• महत्वपूर्ण सोच विचार

• सहनशीलता

• सुनने की धैर्य

• समय का सही से प्रबंधन

• नैतिकता और मूल्यबोध

• अच्छी कम्युनिकेशन स्किल्स

• ईमानदारी यानी सत्यनिष्ठा

• आत्म जागरूकता

• सामाजिक जागरूकता

• समस्या समाधान करने की कुशलताएं

BSW Course कैसे करे

अगर अपने ऊपर बताई गई योग्यता है तो बीएसडब्ल्यू कोर्स करने में आपको कोई दिक्कत नहीं होगी। बीएसडब्ल्यू कोर्स कैसे करते है उसके बारे में हमने इस स्टेप में विस्तार से चर्चा की है;

कंपलीट स्कूल लेवल: अगर आप एक सोशल वर्कर बनना चाहते है तो सबसे पहले आपको स्कूल की पढ़ाई पूरी करनी होगी। इस बीएसडब्ल्यू कोर्स एडमिशन होने के लिए विद्यार्थियों को कम से कम 45 प्रतिशत नंबर से 10+2 पास करना होगा। हालांकि, आरक्षण वर्ग के उम्मीदवारों को 5 नंबर की छूट प्रदान किया जाता है।

सेलेक्ट कॉलेज: ज्यादातर कॉलेज में मुख्यतः इस कोर्स के लिए डायरेक्ट एडमिशन मिलते है। हालांकि सरकारी कॉलेज में 12वी में प्राप्त नंबर के आधार पर ही एडमिशन लिया जाता है। आप अपने अनुसार जिस माध्यम से कोर्स में एडमिशन चाहो वैसे कॉलेज चुन लीजिए।

कॉलेज का चुनाव करते समय आपको हमेशा किसी अच्छी प्रतिष्ठित कॉलेज का ही चुनाव करनी चाहिए। अगर आप अच्छे कॉलेज से करेंगे तो आपको प्लेसमेंट प्राप्त करने में मदत मिलेगी।

बीएसडब्ल्यू कोर्स के लिए फॉर्म फिल अप: जैसे ही आप स्कूल की पढ़ाई पारी करने के पश्चात कॉलेज बीएसडब्ल्यू कोर्स करने के लिए कॉलेज का चुनाव कर लेते है, उसके बाद आपको उस कॉलेज की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर एडमिशन के लिए फॉर्म भरना होता।

फॉर्म भरने के लिए आपको पहले वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन करना होता। इसके बाद उम्मीदवार का सारे डिटेल्स भरना है और जरूरी दस्तावेजों की स्कैन कॉपी अपलोड करके आवेदन शुल्क जमा करना है और उसका प्रिंट निकाल लेना है।

बीएसडब्ल्यू कोर्स में एडमिशन: जैसे कि हमने आपको पहले ही बताये है कि, इंसमे मुख्यतः डायरेक्ट एडमिशन होता है परंतु कुछ सरकारी कॉलेज 10+2 में प्राप्त नंबर के आधार पर एडमिशन लिया जाता है। अगर आप डायरेक्ट एडमिशन लेना चाहते है तो आपको सीधा कॉलेज जाना है और एडमिशन फीस भरकर एडमिशन लेना है।

परंतु यदि आप 12वी में प्राप्त नंबर के आधार पर एडमिशन लेना चाहते है तो वैसे में एप्लीकेशन फॉर्म भरने के बाद कॉलेज द्वारा मेरिट लिस्ट जारी किया जाता है। अगर उंसमे आपका नाम आता है तो अगली स्टेप में उम्मीदवार का दस्तावेज सत्यापन किया जाता है।

सारे स्टेप सही से पूरा होने के पश्चात एडमिशन लेने वाले विद्यार्थी को एडमिशन फीस जमा करना होता, इसके बाद तीन साल की बीएसडब्ल्यू कोर्स में एडमिशन मिल जाते हैं

बीएसडब्ल्यू कोर्स की अवधि (BSW Course Duration)

बीएसडब्ल्यू कोर्स की समयावधि है 3 साल। इन तीन सालों में कुल 6 सेमेस्टर देने पड़ते है, यानी प्रत्येक छह माह में एक सेमेस्टर देने होते। हालांकि कुछ कॉलेज में वार्षिक एग्जाम देने का सुविधा होती है, ऐसे में तीन सालों में तीन ही एग्जाम देना होता।

आपको बता दे, भले ही इस कोर्स का समयावधि है तीन साल परंतु आप इसे सर्वाधिक छह साल के अंदर पूरा कर सकते है।

BSW Course Fees(बीएसडब्ल्यू की फीस कितनी है)

किसी भी कोर्स में एडमिशन लेने से पहले उस कोर्स के फीस कितने है उसके बारे में सही से पता होनी चाहिए। अगर आपका भी सावल है कि बीएसडब्ल्यू की फीस कितनी है तो आपको बता दूं, इस कोर्स की फीस आमतौर पर ₹15,000 से ₹20,000 तक होती है।

इग्नू जैसे यूनिवर्सिटी में इस कोर्स का फीस है ₹17,700 पूरे तीन साल के लिए। ध्यान रहे यहां हमने एक औसतन कोर्स फीस बताये है, कॉलेज के हिसाब से यह रकम थोड़ा कम या अधिक हो सकता है।

बीएसडब्ल्यू के लाभ (Benefits of BSW Course)

बीएसडब्ल्यू कोर्स करने की कई सारे फायदे है जो नीचे बिंदु अनुसार बताया गया है;

• दूसरे सेक्टर के तुलना में कम प्रतिस्पर्धा

• सरकारी तथा गैर सरकारी क्षेत्र में स्कोप बहुत ही अच्छी है।

• अच्छी कम्युनिकेशन स्किल्स

• मैनेजमेंट स्किल्स

• लीडरशिप स्किल डेवेलोप

बीएसडब्ल्यू पाठ्यक्रम के विषय

बीएसडब्ल्यू पाठ्यक्रम के विषय के बारे में बात करे तो, इसके तीन सालों में अलग अलग विषय के बारे में विस्तार से पढ़ना होता। यहां हमने बीएसडब्ल्यू कोर्स के कुछ महत्वपूर्ण सब्जेक्ट्स के बारे में चर्चा की है जो आप नीचे देख सकते है;

• बेसिक्स ऑफ सोशल वर्क

• इंट्रोडक्शन टू सोसाइटी

• सोशल सिस्टम एंड सोशल सुब सिस्टम

• साइकोलॉजी फ़ॉर सोशल वर्कर

• ह्यूमन ग्रोथ एंड डेवलपमेंट

• बेसिक्स ऑफ लीगल लिटरेसी

• कम्युनिटी ऑर्गनाइजेशन

• बेसिक्स ऑफ सोशल वर्क रिसर्च

• वेलफेयर एडमिनिस्ट्रेशन

• वीमेन एम्पावरमेंट

• फैमिली वेलफेयर

• स्पेशल इशू एंड मैरिड लाइफ

• लॉ एंड ह्यूमन राइट्स

• बेसिक्स ऑफ काउंसलिंग

ध्या रहे, कॉलेज या यूनिवर्सिटी के अनुसार सब्जेक्ट्स में थोड़ा बहुत चेंज हो सकता है। यहां हमने सिर्फ कुछ बेसिक्स सब्जेक्ट्स के बारे में बताये है जो किसी भी कॉलेज में पढ़ाया जाता हो।

बीएसडब्ल्यू नौकरियों (बीएसडब्ल्यू के बाद क्या करे)

अगर आप सोच रहे है की बीएसडब्ल्यू कोर्स के बाद क्या करे, तो आपको बता दे, इस कोर्स पूरा होने के पश्चात आपके सामने दो ऑप्शन खुल जाते है। आप चाहे तो आगे हायर स्टडी कर सकते है अन्यथा नौकरी कर सकते है।

यदि आप हायर स्टडी करना चाहते तो इसके लिए सबसे अच्छा कोर्स है MSW Course. और अगर नौकरी करना चाहते तो निम्नलिखित सेक्टर में आपको नौकरी करने का सुनहरा मौका मिलते है;

• ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट

• एजुकेशनल इंस्टीट्यूट

• सरकारी एनजीओ

•प्राइवेट एनजीओ

• रेहाब सेंटर

• हेल्थ सेंटर

• कम्युनिटी

• वीमेन एंड चाइल्ड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन

• हॉस्पिटल्स

• ओल्ड एज होम

• अनाथालय

BSW के बाद सैलरी

आमतौर पर किसी क्षेत्र में जॉब प्रोफाइल और एक्सपीरियंस के आधार पर सैलरी पैकेज निर्धारित किया जाता है। यदि हम बीएसडब्ल्यू कोर्स के बाद सैलरी की बात करे तो, आमतौर पर गैर सरकारी संस्थानों में प्रति माह ₹10,000 से ₹21,000 सैलरी सुरुवात में मिलते है। वही सरकारी संस्थाओं में प्रत्येक महीने ₹25,000 से ₹30,000 तक सैलरी प्राप्त होती है।

जैसे जैसे आपको काम का एक्सपीरियंस होता है सैलरी में भी इन्क्रीमेंट होती है। इसके अलावा समय समय पर बोनस भी प्रदान किया जाता है।

निष्कर्ष: जिन विद्यार्थियों को BSW Course के बारे में जानकारी हासिल करना था उनके लिए हमने यथासंभव प्रयास किया की उन्हें BSW Course Details in Hindi के बारे में बिल्कुल सही जानकारी प्रदान किया जाए।

आपको यह जानकारी कैसी लगी कमेंट करके बताये और अगर BSW Course से जुड़े कोई जानकारी हम से छूट गई है तो कमेंट सेक्शन में अवश्य बताये ताकि हम उसे आर्टिकल ऐड कर सके।

कृपया आप इस लेख को अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और व्हाट्सऐप जैसे सोशल मीडिया के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि उन्हें भी बीएसडब्ल्यू कोर्स के बारे में पता चले।

BSW ka full form

BSW ka full form है “Bachelor of Social Work” यह एक अंडर ग्रेजुएट कोर्स है। जिसकी समयावधि है तीन साल।

बीएसडब्ल्यू कोर्स के बाद नौकरियां

बीएसडब्ल्यू कोर्स के बाद सरकारी तथा गैर सरकारी ऑर्गनाइजेशन, एनजीओ, वीमेन एंड चाइल्ड डिवेलपमेंट डिपार्टमेंट, वीमेन एम्पोवेर्मेंट, हेल्थ सेंटर, हॉस्पिटल्स जैसे क्षेत्र में नौकरी मिलते है।

यह पढ़े:

दोस्तों के साथ शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *