BPT Course Details in Hindi: फीस, एडमिशन, सिलेबस, नौकरी, सैलरी

हेल्थ सेक्टर के इस बढ़ते हुए डिमांड को देखते हुए अधिकतर स्टूडेंट्स चाहते है कि वह आगे जाकर अपना करियर मेडिकल के क्षेत्र में बनाये।

मेडिकल क्षेत्र में करियर बनाने के लिए कई सारे मेडिकल कोर्स है परंतु ज्यादातर स्टूडेंट्स एमबीबीएस, बीडीएस, बीएचएमएस इत्यादि डॉक्टर बनना चाहते है

लेकिन आपको बता दूं, इन सारे डॉक्टर बनने का सफर आसान नहीं होते। इसमें एडमिशन लेने के लिए नीट के एंट्रेंस देना पड़ता है। यहां क्लिक करके जाने NEET क्या है और तैयारी कैसे करे

यह हर स्टूडेंट्स के लिए आसान नहीं होते। इसके अलावा इन कोर्स में बहुत ज्यादा खर्च है। इसलिए बहुत सारे स्टूडेंट्स के एमबीबीएस डॉक्टर बनने का सपना साकार नहीं होते।

आपके जानकारी के लिए बता दूं, डॉक्टर बनने का एक ऐसी कोर्स है जिसकी पढ़ाई करने के लिए नीट एग्जाम देने की आवश्यकता नहीं और इसमें खर्च भी बहुत कम है।

इस कोर्स का नाम है BPT. जी हां बीपीटी यानी बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी एक ऐसी कोर्स है जिसे करके आप डॉक्टर बन सकते है और अछि बात यह है कि दिन प्रतिदिन इसके डिमांड भी बढ़ रहे है।

इस कोर्स को करने के बाद बीपीटी डिग्री धारकों के लिए अस्पताल, नर्सिंग होम, प्राइवेट क्लीनिक बगैरह में फ़िज़ियोथेरेपिस्ट के रूप में जॉब मिलते है।

यदि आप BPT कोर्स के बारे में जानना चाहते है तो आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़े क्योंकि आज हम जनेंगे की BPT kya hai, BPT कैसे करे, कोर्स के फीस कितना है, सिलेबस क्या है, एडमिशन प्रोसेस क्या है, स्कोप कितना है, सैलरी कितनी मिलेगी, इत्यादि BPT course details in hindi में।

तो आइए आज के सफर सुरु करते है और बताते है BPT Course के बारे में डिटेल्स से।

इसे पढ़े: Paramedical Course क्या है डिटेल्स में समझे

BPT Course details in hindi, bpt kya hai, बीपीटी क्या है
BPT Course Details in Hindi

BPT Course Details in Hindi

आर्टिकल में आगे बढ़ने से पहले जिन्हें पता नहीं कि बीपीटी क्या है उनके लिए थोड़ा व्याख्या दे दूं।

बीपीटी क्या है

BPT का पूरा नाम है Bachelor of Physiotherapy हिंदी में इसके मतलब है भौतिक चिकित्सा में स्नातक यानी Physiotherapy में ग्रेजुएशन करना।

ग्रेजुएशन कोर्स के बारे में अच्छे से जानने के लिए यहां क्लिक करके जान सकते है की Graduation क्या है और कैसे करते है पूरी जानकारी।

बीपीटी कोर्स के समयावधि है 4 साल 6 महीने। इन चार सालों में थ्योरी तथा प्रैक्टिकल नॉलेज प्रदान की जाती है है और बाकी के छह महीने इंटर्नशीप करना पड़ता है।

इस कोर्स को डिज़ाइन करने का मैन मकसद है बॉडी का मूवमेंट तथ फंक्शनलिटी को ठीक करके रोगियों का इलाज करना।

इसे आप ऐसे समझ सकते है, जब किसी व्यक्ति को मूवमेंट का समस्या, जोड़ों के दर्द, पैरालिसिस, बगैरह हो जाते है तब डॉक्टर फ़िज़ियोथेरेपिस्ट के पास जाने के लिए कहता।

और फ़िज़ियोथेरेपिस्ट उन रोगियों का इलाज व्यायाम, मालिश, स्ट्रेचिंग इत्यादि के माध्यम करते है। इससे मरीजों को धीरे धीरे रोग से छुटकारा मिल जाता है।

आशा करता हूं, आपको समझ आ गया होगा कि बीपीटी क्या है। अब आइए इसके एलिजिबिलिटी के बारे में बात करते है।

BPT Course Ke Eligibility ( बीपीटी कोर्स के योग्यता)

जैसे को आपको पहले ही पता चल गया होगा कि BPT एक मेडिकल कोर्स है। इसकी योग्यता की बात करे तो, फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी के साथ 12वी पास करना होगा किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से।

और 12वी में न्यूनतम 50 प्रतिशत नंबर की जरूरत है जनरल वर्ग के स्टूडेंट्स के लिए एबं आरक्षित वर्ग के लिए न्यूनतम 45 प्रतिशत।

लेकिन ध्यान रहे 12वी में आप जितने ज्यादा नंबर लाएंगे एडमिशन लेने में आपको उनते ही आसानी होगी। इसलिए हमेशा कोशिश करे ज्यादा से ज्यादा नंबर लाने की।

इसके अलावा यदि आयु की बात करे तो न्यूनतम 17 साल की होनी चाहिए। यदि आप 17 साल की नहीं है तो आपको थोड़ा अपेक्षा करना होगा।

BPT Course Ki Fees

स्टूडेंट्स के लिए फीस के बारे में जानना बहुत जरूरी है। कोर्स की फीस कॉलेज अपने हिसाबसे तय करते है।

सरकारी कॉलेज में कोर्स फीस बहुत कम होते है। परंतु प्राइवेट कॉलेज में सरकारी कॉलेज के तुलना में कई गुना अधिक फीस लिया जाता है।

फिरभी यदि एवरेज कोर्स फीस की बात करे तो लगभग 50,000 रु से लेकर 7,00,000 रु तक हो सकते है।

सबसे अच्छा है आप जिस कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते उसके ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर चेक करेंगे तो फीस के बारे में पता चल जाएगा।

BPT Kaise Kare

बीपीटी के कोर्स आप कई तरीके से कर सकते है। जैसे कि डायरेक्ट एडमिशन, मेरिट के आधार पर एडमिशन तथा एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से एडमिशन।

ज्यादातर कॉलेज में डायरेक्ट एडमिशन ही होते है। इस केस में, आपको जिस कॉलेज में एडमिशन लेना है उस कॉलेज में जाना होगा एबं फॉर्म फील उप करके एडमिशन फीस जमा करने के बाद एडमिशन ले लेना है।

डायरेक्ट एडमिशन में आपको ज्यादा कुछ करने कक आवश्यकता नहीं। परंतु कुछ ऐसे कॉलेज है जहां मेरिट के आधार पर एडमिशन लिया जाता है।

यदि आप ऐसे कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते तो सबसे पहले आपको फॉर्म फील करना होगा। उसके पश्चात 12वी में प्राप्त नंबर आधार पर मेरिट लिस्ट तैयार होगा एबं उसे देखते हुए आगे की प्रॉसेस आगे बढ़ेगा।

इसके अलावा कुछ ऐसे कॉलेज है जहां पर एडमिशन लेने हेतु आपको एंट्रेंस देने की आवश्यकता होगी। इसके लिए आपको पहले से तैयारी करने होगा।

कुछ BPT एंट्रेंस एग्जाम के नाम है LPUNEST, NILD CET, CPNET, IPU CET, BCECE, IEMJEE इत्यादि। इन एंट्रेंस में उत्तीर्ण होने के पश्चात एग्जाम में प्राप्त नंबर के आधार पर एडमिशन मिलेगा।

और यदि आपने 12वी के बाद DPT Course किये है तो आपको बीपीटी कोर्स दूसरे वर्ष में लेटरल एडमिशन मिल जाएगा।

BPT Course Ke Durations ( कोर्स के समयावधि)

पहले ही आपको पता लग चुके होंगे कि बीपीटी कोर्स के समयावधि कितना है। फिरभी आपको बता दूं, बीपीटी 4 साल 6 महीने की अंडर-ग्रेजुएट कोर्स है।

इन चार साल पढ़ाई के लिए है जिसमे थ्योरी तथा प्रैक्टिकल सिखाया जाता है और आखिरी के छह माह इंटर्नशिप के लिए निर्धारित है।

इसे पढ़े:

BPT Course Ke Syllabus

इस कोर्स के सिलेबस की बात करे तो इसमें कई तरह के सब्जेक्ट्स पढ़ाया जाता है। कॉलेज के हिसाबसे सब्जेक्ट थोड़ा कम ज्यादा हो सकते है। लेकिन ज्यादातर समान होगा।

• एनाटोमी

• बायोकेमिस्ट्री

• फिजियोलॉजी

• इलेक्ट्रोथेरेपी

• सोशियोलॉजी

• पॉजिटिव फिजियोलॉजी एंड माइंडफुलनेस

• साइकोलॉजी

• बेसिक्स ऑफ योगा थेरेपी

• बेसिक्स ऑफ कंप्यूटर ऍप्लिकेशन्स

Top BPT Colleges in India

वैसे तो इंडिया में बीपीटी करने के लिए बहुत सारे कॉलेज है। परंतु आप हमेशा अच्छे कॉलेज में ही एडमिशन लेने की कोशिश करें। इससे आगे जाकर आपको अनेक फायदा मिलेगा।

यहां हमने कुछ टॉप कॉलेज के नाम बताए है। फिरभी एडमिशन लेने से पहले उस कॉलेज के बारे आप अच्छे से जानकारी ले लेना।

• क्रिस्टियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लोर, चेन्नई

• पंडित भागवत दयाल शर्मा पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, रोहतक, हरियाणा

• जामिया हमदर्द, नई दिल्ली

• गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी, द्वारका, नई दिल्ली

• किंग एडवर्ड मेमोरियल हॉस्पिटल, मुंबई, महाराष्ट्र

• ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ फिजिकल मेडिसिन एंड रिहैबिलिटेशन, मुंबई, महाराष्ट्र

• मेडिकल कॉलेज, कोलकाता, पश्चिम बंगाल

• गोआ मेडिकल कॉलेज, पणजी, गोआ

• सेंट जॉन’स नेशनल अकैडमी ऑफ हेल्थ साइंस, बेंगलुरु, कर्नाटक

• उत्तर प्रदेश यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंस, सैफई, उत्तर प्रदेश

• छत्रपति शाहू जी महाराज यूनिवर्सिटी, कानपुर, उत्तर प्रदेश

• रबिन्द्र नाथ टैगोर यूनिवर्सिटी, भोपाल, मध्य प्रदेश

• राजीव गांधी कॉलेज, भोपाल, मध्य प्रदेश

BPT Course Ke Baad Kya Kare

इस कोर्स पूरा होने के पश्चात आपके सामने तरह तरह के दरवाजे खुले जाते है। आप चाहे तो हायर स्टडी कर सकते है।

हायर स्टडी के लिए सबसे अच्छा है एमपीटी, एमपीटी करने के बाद आप एम.फिल बगैरह कर सकते है। इसके अलावा आप व्हहै तो एमबीए कर सकते है। MBA क्या है और कैसे करते है इसके बारे यहां क्लिक करके पढ़े।

यदि आप नौकरी करना चाहते तो आगे बताई गई क्षेत्र में काम के लिए आवेदन कर सकते है।

• सरकारी तथा निजी अस्पताल

• डिफेंस क्षेत्र

• स्पोर्ट्स फिजियो

• ऑर्थोपेडिक देपरमेंट

• प्राइवेट क्लीनिक

• रिहैबिलिटेशन सेंटर

• फिटनेस सेंटर

• शैक्षणिक इंस्टीट्यूट

• फिजियोथेरेपी उपकरण बनाने का इंडस्ट्रीज

• स्कूल, कॉलेज का लेक्चरर

• रिसर्च क्षेत्र में रिसर्चर

• रेलवे

इसके अलावा आप किसी भी प्रकार के सरकारी नौकरी के लिए एलिजिबल हो जाते है इस कोर्स कंपलीट होने के बाद। इसलिए आप चाहे तो उसके लिए भी अप्लाई कर सकते है।

BPT Ke Salary

स्टूडेंट्स के मन मे यह सवाल जरूर होते है कि बीपीटी के कोर्स पूरा होने के पश्चात कितना सैलरी मिलेगा। आपके जानकारी के लिए बता दूं, सैलरी कुछ बिंदु के ऊपर निर्भर करती है।

जैसे कि, कौनसा क्षेत्र, कौनसा पद, पहले से एक्सपेरिएंस है या नहीं यदि है तो कितने सालों के, इत्यादि।

फिरभी औसतन सैलरी की बात करे तो, हर साल लगभग 2,00,000 से लेकर 7,50,000 तक सैलरी होते है।

निष्कर्ष: इस आर्टिकल में बीपीटी कोर्स के बारे में बताया गया है। जैसे कि, BPT क्या है, बीपीटी कैसे करे, फीस कितनी है, स्कोप क्या है, सैलरी कितना मिलेगा, इत्यादि।

आशा करता हूं, यह जानकारी आपको पसंद आये होंगे। अगर पसंद आया है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ताकि वह भी BPT Course details in Hindi के बारे में जान सके।

ऐसे ही करियर संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करे।

धन्यवाद!

यह भी पढ़े:

14 thoughts on “BPT Course Details in Hindi: फीस, एडमिशन, सिलेबस, नौकरी, सैलरी”

  1. Mene bsc kr liya h kya me bpt kr skta hu kya our agr kar skta hu to kitne saal ka course krna hoga mujhe

    1. यदि अपने 12वी में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी लेकर पढ़ाई की है तो अवश्य BPT Course कर सकते है। बीएससी के बाद आपको कोई लेटरल एंट्री नहीं मिलेगा बीपीटी कोर्स में, इसलिए बीपीटी का समयावधि (4.5 साल) जितना उतने साल आपको ध्यान से पढ़ाई करके कोर्स पूरा करना होगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Telegram