Biotechnology in Hindi- क्या है,कोर्स लिस्ट,एंट्रेंस,फीस, स्कोप,नौकरी,सैलरी

यदि आप अभी स्कूल की पढ़ाई कर रहे है और आपका सपना है आगे चलकर इंजीनियर बनना, परंतु आप नहीं जानते कि इंजीनियरिंग में कौन सा स्ट्रीम चुनना चाहिए, उसका स्कोप, नौकरी, सैलरी कैसा होगा, तो आज की लेख से आपको काफी मदत करेगी।

इस लेख में हम एक ऐसे इंजीनियरिंग कोर्स के बारे में चर्चा करेंगे जिसकी मांग हमारे देश के अलावा विदेशों में तेजी से बढ़ रही है। इस अवसर को देखते हुए विद्यार्थियों में भी कोर्स की ओर रुझान बढ़ रही है।

इस कोर्स का नाम है Biotechnology engineering, जिसे मनुष्य तथा सारे प्राणियों के हितों के लिए बायोलॉजी और टेक्नोलॉजी को मिलाकर एक नई शाखा तैयार किया गया है, इंसमे वाइरोलॉजी, जेनेटिक्स, मॉलिक्यूलर बायोलॉजी, एनिमल हसबेंडरी, बीओस्टेटिस्टिक्स, इत्यादि के बारे में जानकारी प्रदान की जाती है।

अगर आपको Biotechnology engineering course के बारे में जानना है तो आज की लेख ध्यानपूर्वक पढ़े, यहां हमने बताये है कि बायोटेक क्या है, बायो टेक्नोलॉजी के उपयोग, बायोटेक्नोलॉजी कोर्स फीस, एडमिशन प्रॉसेस, सिलेबस, एंट्रेंस एग्जाम, नौकरी, सैलरी, इत्यादि Biotechnology in Hindi भाषा मे।

Biotechnology in hindi

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स को बायोटेक के नाम से जाना जाता है, इसके अंतर्गत बहुत से डिग्रियां है जिसके पात्रता, समयावधि, कोर्स फीस, बगैरह सब अलग अलग है।

Biotechnology in hindi, what is biotechnology in hindi, biotechnology course details
Biotechnology in Hindi

इस कोर्स को पूरा करने के बाद बायोटेक्नोलॉजी के डिग्री धारकों को नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इम्यूनोलॉजी, नेशनल बोटानिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट, टाटा एनर्जी रिसर्च इंस्टिट्यूट जैसे बड़े बड़े संस्थानों में नौकरी करने का अवसर मिलता है।

What is Biotechnology in Hindi (बायोटेक्नोलॉजी कोर्स क्या है)

बायोटेक्नोलॉजी इंजीनियरिंग की एक ऐसी शाखा है जो बायोलॉजी और टेक्नोलॉजी के नीतियों को मिलाकर बनाई गई है। इंसमे मनुष्य तथा प्राणी जगत के हितों के लिए इंजीनियरिंग, टेक्नोलॉजी, वाइरोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी, इम्यूनोलॉजी, केमिस्ट्री, आदि के बारे मे सिखाया जाता है ताकि नई-नई रिसर्च और डिवेलपमेंट के जरिये समाज की कल्याण हो सकें।

बायोटेक्नोलॉजी के अंतर्गत कई सारे डिग्रियां है जैसे कि सर्टिफिकेट डिग्री, डिप्लोमा डिग्री, बीएससी, बीटेक, एमएससी, एमटेक, पीएचडी, इत्यादि। इन कोर्स के अलावा और भी कई सारे बायोटेक्नोलॉजी कोर्स है जिसके बारे में आगे जानने को मिलेगा।

इंडिया में ऐसे बहुत से कॉलेज है जहां बायोटेक्नोलॉजी का कोर्स करवाई जाती है, इंसमे से ज्यादातर कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम आयोजित किया जाता है, जिसमे उत्तीर्ण होने के पश्चात ही कोर्स में दाखिला मिलते है।

Biotechnology Course Details in Hindi

जैसे कि आपको पहले ही बताया है कि बायोटेक्नोलॉजी के अंदर कई सारे कोर्स है जिसमे से मुख्य डिग्रीयां है सर्टिफिकेट, डिप्लोमा, बीएससी, बीटेक, एमएससी, एमटेक, पीएचडी, आदि। अब आइये जानते है इन सभी कोर्स के बारे में डिटेल्स से।

Certificate in Biotechnology: यह एक सर्टिफिकेट कोर्स है, जिसकी समयावधि कुछ दिन से लेकर 1 साल तक हो सकती है, यह निर्भर करती है इंस्टीट्यूशन के ऊपर। इंसमे 10 वी या 12 वी के बाद एडमिशन लिया जाता है।

बहुत से इंस्टीट्यूट है जो इसे बिल्कुल फ्री में करवाती है परंतु ऐसी इंस्टीट्यूट ज्यादातर विदेशी होती है। आमतौर पर इस कोर्स को ऑनलाइन तथा ऑफलाइन मूड में किया जाता है। इसकी फीस ₹500 से लेकर ₹5000 तक होती है।

इस सर्टिफिकेट कोर्स में बायोटेक्नोलॉजी की बेसिक जानकारियां प्रदान की जाती है। इंसमे दाखिल होने के लिए कोई एंट्रेंस एग्जाम देने की आवश्यकता नहीं है, इंस्टीट्यूट में डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता है।

Diploma in Biotechnology Engineering: डिप्लोमा इन बायोटेक्नोलॉजी इंजीनियरिंग तीन साल की डिप्लोमा कोर्स है। जिन विद्यार्थियों को बायोटेक्नोलॉजी का बैचलर डिग्री करना संभव नहीं हो रहा है किसी कारण से वह इस कोर्स को कर सकते है।

इसके लिए विद्यार्थियों को साइंस स्ट्रीम से 12 वी पास करना चाहिए, खासकर 12वीं में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी का विषय होना अनिवार्य है या फिर इसके समकक्ष कोई योग्यता हासिल करनी चाहिए।

इंसमे दाखिला लेने हेतु विद्यार्थियों 12 वी में कम से कम 45 प्रतिशत नंबर प्राप्त करनी चाहिए और विद्यार्थियों को न्यूनयम 17 साल की होनी चाहिए, उसके बाद पॉलीटेक्निक कोर्स की बायोटेक्नोलॉजी ट्रेड में एडमिशन लेकर इसकी पढ़ाई कर सकते है।

बायोटेक्नोलॉजी की इस डिप्लोमा कोर्स के लिए अलग अलग कॉलेज में अलग अलग फीस होती है, आमतौर पर औसतन ₹50,000 से ₹3,00,000 तक होती है।

B.sc Biotechnology: बैचलर ऑफ साइंस इन बायोटेक्नोलॉजी एक ग्रेजुएशन कोर्स है जिसकी समयावधि तीन साल की है, इंसमे कुल छह सेमेस्टर देने होते, प्रत्येक छह महीने के बाद में।

जो विद्यार्थी 12वीं में साइंस लेकर पढ़ाई की है वह इस कोर्स के लिए एलिजिबल है, बस उन्हें फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी लेकर पढ़ाई करनी चाहिए और उसके कम से कम 45 प्रतिशत नंबर प्राप्त करनी चाहिए तभी कोर्स के लिए मान्यता प्राप्त होगी।

बीएससी बायोटेक्नोलॉजी कोर्स में मुख्यतः 12वीं में प्राप्त नंबर के आधार पर एडमिशन मिलते है, और कुछ कॉलेज में इंटरव्यू के माध्यम से एडमिशन लिया जाता है। कोर्स पूरा करने के बाद उम्मीदवारों के लिए बायोटेक्नोलॉजी के क्षेत्र में अपार संभावनाएं मिलना सुरु हो जाते है।

बीएससी इन बायोटेक्नोलॉजी कोर्स फीस की बात करे तो इंसमे एवरेज ₹30,000 से ₹2,00,000 तक होती है, यह राशि कॉलेज के हिसाब से भिन्न भिन्न होता है।

BE/B.tech in Biotechnology: अगर आप बीटेक इंजीनियरिंग करना चाहते है वह भी बायोटेक्नोलॉजी में तो आपके लिए एक अच्छी निर्णय साबित हो सकता है। यह एक बैचलर डिग्री है जिसे लड़के हो या लड़की कोई कर सकता है।

बीटेक इन बायोटेक्नोलॉजी चार साल की है, जिसमे आठ सेमेस्टर देना पड़ता। इसके लिए फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथेमेटिक्स और बायोलॉजी लेकर 12वीं पास करनी चाहिए न्यूनतम 45 प्रतिशत नंबर से। ध्यान रहे कुछ यूनिवर्सिटी में इससे ज्यादा नंबर की मांग की जाती है। इसलिए 12वीं में कम से कम 55 से 60 प्रतिशत नंबर लाने की कोशिश करें।

मुख्यतः इस कोर्स में एडमिशन के लिए इंस्टीट्यूट लेवल, स्टेट लेवल और नेशनल लेवल की एंट्रेंस एग्जाम आयोजित किया जाता है। कुछ फेमस एंट्रेंस एग्जाम है; JEE Mains, JEE Advance, WB JEE, UPCET, इत्यादि।

कुछ कॉलेज/यूनिवर्सिटीज है जो 12वीं में प्राप्त नंबर के आधार पर एडमिशन करवाते है वही कुछ कॉलेज में डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता है।

अगर कोई विद्यार्थी डिप्लोमा करने के बाद बीटेक इन बायोटेक्नोलॉजी का कोर्स करना चाहते है तो वह बीटेक की दूसरे वर्ष में लैटरल एडमिशन ले सकते है, ऐसे में उनके लिए बीटेक इन बायोटेक्नोलॉजी तीन साल में पूरा हो जाएगा।

कोर्स पूरा करने के पश्चात विद्यार्थी चाहे तो बड़े बड़े प्राइवेट तथा पब्लिक कंपनियों में नौकरी कर सकते है अन्यथा उच्च शिक्षा के लिए अपनी पढ़ाई जारी रखना भी एक अच्छा ऑप्शन रहेगा।

बीटेक इन बायोटेक्नोलॉजी की कोर्स फीस सरकारी तथा प्राइवेट कॉलेजों में भिन्न होता है, फिरभी यदि औसतन कोर्स फीस की बात करे तो, ₹30,000 से ₹8,00,000 तक होती है, हर कॉलेज अपने रेपुटेशन और स्टाफ, कंपसिंग, प्लेसमेंट जैसे चिंजो के ऊपर निर्भर  करके फीस स्ट्रक्चर तैयार करते है।

PGDM in Biotechnology: जो स्टूडेंट्स माइक्रोबायोलॉजी, बायोकेमिस्ट्री, बायोटेक्नोलॉजी, और किसी भी प्रकार की लाइफ साइंस से जुड़े विषय से ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन किये है तो वह आगे चलकर PGDM in Biotechnologyका कोर्स कर सकते है।

यह दो साल की कोर्स है जिसे चार सेमेस्टर में बंटा गह है। इसकी फीस की बात करे तो ₹1,00,000 से ₹3,50,000 तक होती है, यह रकम कॉलेज के हिसाब से अलग अलग होती है।

M.Sc in Biotechnology: एमएससी बायोटेक्नोलॉजी दो साल की पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स है जिसे तीन साल की बीएससी बायोटेक्नोलॉजी पूरा करने के बाद किया जाता है। इसके लिए कम से कम 55 प्रतिशत नंबर की आवश्यकता होती है।

इसके बाद कुछ यूनिवर्सिटी में एंट्रेंस एग्जाम देकर एडमिशन लेना होता, और कुछ कॉलेज में डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता गई एमएससी इन बायोटेक्नोलॉजी कोर्स की पढ़ाई के लिए।

एमएससी इन बायोटेक्नोलॉजी कोर्स की फीस औसतन ₹25,000 से ₹2,00,000 तक हो सकता है। यह एक औसतन फीस है, कॉलेज के हिसाब से यह राशि थोड़ा कम ज्यादा हो सकता है।

M.tech in Biotechnology: जो विद्यार्थी बीटेक इन बायोटेक्नोलॉजी के बाद हायर स्टडी करना चाहते है वह आगे चलकर एमटेक इन बायोटेक्नोलॉजी की कोर्स कर सकता है। इसके लिए बीटेक इन बायोटेक्नोलॉजी में कम से कम 55 से 60 प्रतिशत नंबर होना अनिवार्य है।

इस कोर्स की समयावधि दो साल की है जिसमे कुलमिलाकर चार सेमेस्टर देने होते, हर छह माह के अंतराल में। दो साल की कोर्स पूरा होने के बाद विद्यार्थियों के लिए नई नई द्वार खुल जाता है प्राइवेट तथा पब्लिक सेक्टर कंपनियों में।

एमटेक इन बायोटेक्नोलॉजी कोर्स की फीस आमतौर पर ₹30,000 से ₹3,00,000 तक होती है, अगर सरकारी यूनिवर्सिटी से करते है कम फीस लगेगा जबकि निजी यूनिवर्सिटी में इससे कई गुना अधिक फीस देना पड़ता है।

P.hd in Biotechnology: आमतौर पर जो विद्यार्थी रिसर्च की क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है वैसे स्टूडेंट्स बायोटेक्नोलॉजी या बायोइंफॉर्मेटिक्स में पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद इंसमे दाखिला ले सकते है।

एडमिशन के लिए विद्यार्थियों को UGC NET, GATE, CSIR UGC NET जैसे एग्जाम देना पड़ता है। कुछ इंस्टीट्यूट, एग्जाम में शॉर्टलिस्ट की गई उम्मीदवारों का इंटरव्यू लेते है उसके बाद ही पीएचडी कोर्स करने का अवसर प्रदान करते है।

कोर्स पूरा होने में 3 से 5 साल लग जाती है, उसके बाद उम्मीदवारों को प्रोफेसर, माइक्रोबायोलॉजिस्ट, मेडिकल साइंटिस्ट, बायोमैन्युफैक्चरिंग स्पेशलिस्ट, मेडिकल कॉडर, जैसे बड़े बड़े पदों में नौकरी करने का सुनहरे अवसर मिलता है। आमतौर पर इस कोर्स की एवरेज फीस ₹45,000 से लेकर ₹4,00,000 होती है।

यह पढ़े:

कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग

Bsc kya Hai, Subject list, एडमिशन, फीस, स्कोप, नौकरी, सैलरी की पूरी जानकारी

Electronics and communication engineering

Biotechnology Course Eligibility (बायोटेक्नोलॉजी कोर्स के योग्यता)

बायोटेक्नोलॉजी की अलग अलग कोर्स के लिए अलग अलग योग्यता की मांग की जाती है, जिसके बारे में आगे बताया गया है;

सर्टिफिकेट इन बायोटेक्नोलॉजी के योग्यता: इसके लिए विद्यार्थियों को 10वीं या 12वीं पास करना होता किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से। इंसमे नंबर की कोई लिमिट और ऐज की कोई लिमिट नहीं है कोई भी इसे कर सकता है।

डिप्लोमा इन बायोटेक्नोलॉजी के योग्यता: बायोटेक्नोलॉजी का डिप्लोमा कोर्स करने के लिए विद्यार्थियों को कम से कम 12वीं पास करना होता किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी लेकर कम से कम 45 प्रतिशत नंबर से।

इसके अलावा विद्यार्थियों का आयु भी कम से कम 15 साल की होनी चाहिए अन्यथा कोर्स में दाखिला लेने के लिए एलिजिबल नहीं होंगे।

बीएससी इन बायोटेक्नोलॉजी के योग्यता: बायोटेक्नोलॉजी की बीएससी कोर्स करने के लिए उम्मीदवारों को फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी लेकर 12 वीं पास करना होगा किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से।

12 वी में उम्मीदवारों का न्यूनतम 45 प्रतिशत नंबर प्राप्त करना चाहिए जनरल वर्ग के लिए और आरक्षण वर्ग के लिए नियमानुसार पांच प्रतिशत नंबर की चूत मिलती है। इसके अलावा विद्यार्थियों का आयु कम से कम 17 साल का होना चाहिए।

बीटेक इन बायोटेक्नोलॉजी योग्यता: बायोटेक्नोलॉजी की बीटेक कोर्स में दाखिला लेने के लिए फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी तथा मैथेमेटिक्स लेकर विद्यार्थियों को 12 वीं या उसके समकक्ष कोई योग्यता हासिल करना होता, कम से कम 45 प्रतिशत नंबर से।

आयु की बात करे तो उम्मीदवारों का आयु 17 साल होना अनिवार्य है तभी इसके लिए ली जाने वाली एंट्रेंस एग्जाम में हिस्सा ले पाएंगे।

एमएससी इन बायोटेक्नोलॉजी के योग्यता: यह तीन साल की कोर्स है, जो भी स्टूडेंट्स बायोटेक्नोलॉजी की बीएससी डिग्री किये है वह इस कोर्स को कर सकते है। इसके लिए 55 प्रतिशत नंबर की जरूरत होती है।

एमटेक इन बायोटेक्नोलॉजी के योग्यता: बीटेक इन बायोटेक्नोलॉजी के कोर्स करने वाले स्टूडेंट्स यह कोर्स कर सकते है, इसके लिए उन्हें कम से कम 55-60% प्राप्त करना चाहिए बैचलर डिग्री में।

इंसमे आयु की कोई लिमिट नहीं है। इसके लिए कुछ यूनिवर्सिटीज द्वारा एंट्रेंस एग्जाम आयोजित किया जाता है उंसमे हिस्सा लेना होता अन्यथा कुछ यूनिवर्सिटी डायरेक्ट एडमिशन लेता है।

पीजीडीएम इन बायोटेक्नोलॉजी के योग्यता: इस कोर्स को करने के लिए उम्मीदवारों को माइक्रोबायोलॉजी, बायोकेमिस्ट्री, बायोटेक्नोलॉजी, या बायोलॉजी की किसी भी शाखा से ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन करना होगा। उसके बाद एंट्रेंस एग्जाम या मेरिट के आधार पर इस कोर्स में दाखिला ले सकते है।

पीएचडी इन बायोटेक्नोलॉजी के योग्यता: एमटेक इन बायोटेक्नोलॉजी या एमएससी इन बायोटेक्नोलॉजी के बाद विद्यार्थी पीएचडी की पढ़ाई कर सकते है। यह कोर्स खासकर वही स्टूडेंट्स करते है जो आगे चलकर रिसर्च, प्रोफेसर, जैसे बड़े बड़े पद में नौकरी करने का सपना रखते है।

दूसरे इंजीनियरिंग कोर्स:

Agriculture engineer कैसे बनेAutomobile Engineer कैसे बने
Mechanical Engineer कैसे बनेB.sc in agriculture
Plastic Engineer कैसे बनेSoftware Engineer कैसे बने

Biotechnology Course Syllabus in Hindi

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स के अंदर बहुत से विषय को कवर किया जाता जसमे से कुछ मैन सब्जेक्ट्स का नाम हमने आगे बताये है;


कोर सब्जेक्ट्सलैब सब्जेक्ट्स
बायोलॉजिकल केमिस्ट्रीजनोमिक डीएनए आइसोलेशन फॉर्म प्लांट्स
रेकॉम्बीनैंट डीएनए टेक्नोलॉजीपेपर क्रोमैटोग्राफी
बायोडायवर्सिटी एंड टैक्सोंनॉमीस्टेरिलिजेशन टेक्निक्स
एनिमल एंड प्लांट फिजियोलॉजीएस्टीमेशन ऑफ प्यूरिटी ऑफ डीएनए
बीओस्टेटिस्टिक्सप्लांट टिश्यू कल्चर लैब

Scope of Biotechnology Course (बीएससी बायोटेक नौकरियों)

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स के बाद उम्मीदवारों के लिए कई सारे क्षेत्र में नौकरी करने का शानदार अवसर मिलते है। कोई चाहे नेक्स्ट लेवल की बायोटेक्नोलॉजी कोर्स कर सकते है, बहुत से स्टूडेंट्स MBA Course करना पसंद करते है मैनेजमेंट और मैनेजरियल पोस्ट में नौकरी के लिए।

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स पूरा होने के बाद जिन पद के लिए ऐसे उम्मीदवार आवेदन कर सकते है वैसे ही कुछ पद के नाम हमने आगे बताये है;

बीएससी बायोटेक नौकरियों

• रिसर्च साइंटिस्ट
• माइक्रोबायोलॉजिस्ट
• बायोटेक एनालिस्ट
लैब टेक्नीशियन
• बायोकेमिस्ट
• बायो स्टेटिस्टिशियन
• फ़ूड सेफ्टी टेक्नीशियन
• मेडिकल राइटर
• क्लीनिकल रिसर्च एसोसिएट
• प्रोडक्शन मैनेजर
• फार्मास्यूटिकल रिसर्च तकनीशियन

Biotechnology Salary (बायोटेक्नोलॉजी के बाद सैलरी)

बायोटेक्नोलॉजी के करने वाले कोर्स और करने वाले नौकरी कर ऊपर सैलरी पैकेज निर्भर करती है। आमतौर पर फ्रेशर्स उम्मीदवारों को सालाना ₹3,00,000 से लेकर 4,50,000 की सैलरी पैकेज मिलती है।

1-2 साल की एक्सपीरियंस हो जाने के बाद सैलरी में बढ़ोतरी होना सुरु हो जाते है, उसके बाद बायोटेक्नोलॉजी के डिग्री धारकों को सालाना ₹5,00,000 से लेकर ₹7,00,000 की सैलरी पैकेज आसानी मिल सकता है।

निष्कर्ष: आज की लेख में अपने Biotechnology course के बारे में जानकारी प्राप्त की है। आशा करते है आपको समझ में आ गया होगा कि Biotechnology in Hindi में क्या होता है, इसके अंतर्गत कितने कोर्स होते है, फीस कितना लगेगा, स्कोप और सैलरी कितनी होगी, इत्यादि।

हम हमेशा कोशिश करते है की हमारे पाठकों को एक ही जगज सारे जानकारी मिल जाये उन्हके नेक्स्ट टाइम इस कोर्स के बारे में सर्च करने की आवश्यकता न पड़े, आपको यह लेख कैसा लगा कमेंट करके बताये और हमारे लिए कोई सुझाव है तो अवश्य दीजिए ताकि हम अपने लेख को सुधार कर सकें।

आपके पास हमारे एक अनुरोध है, आप हमारे ब्लॉग FutureBanaye.com को अपने दोस्तों के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर ताकि उन्हें भी नई नई करियर ऑप्शन के बारे में पता चले। और करियर संबंधित ऐसे ही जानकारी पाने के लिए हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करे एबं हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े।

जरूरी कोर्स:

BCA Course DetailsBBA Course Details
Pharmacist Course DetailsBJMC Course Details
B.sc Nursing Course DetailsMSW Course Details

2 thoughts on “Biotechnology in Hindi- क्या है,कोर्स लिस्ट,एंट्रेंस,फीस, स्कोप,नौकरी,सैलरी”

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Telegram