BHMS Course Details in Hindi

अगर कोई होमेओपेथी डॉक्टर बनना चाहते है परंतु नहीं जानते कि उसके लिए सही मार्ग क्या है तो उन्हें यह पोस्ट पूरा पढ़ना चाहिए क्योंकि होमेओपेथी डॉक्टर कैसे बने उसके बारे ही आज हम बात करने वाले है।

BHMS course details in hindi, Homeopathy doctor kaise bane, BHMS course की पूरी जानकारी
BHMS Course Details

जैसे कि, BHMS क्या है (BHMS course details in hindi), बी.एच.एम.एस डॉक्टर कैसे बने, योग्यता क्या चाहिए, कोर्स फीस कितना लगेगा, सिलेबस क्या है, अवसर क्या मिलेगा, सैलरी कितनी है, इत्यादि।

BHMS Course Details in Hindi

BHMS क्या है: होमेओपेथी डॉक्टर बनने हेतु BHMS का कोर्स करना होता। BHMS का पूरा नाम है Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery. हिंदी में इसका मतलब है होम्योपैथिक चिकित्सा एवं शल्य चिकित्सा स्नातक।

यह एक अंडर ग्रेजुएट डिग्री कोर्स है जिसके समयावधि साढ़े पांच साल। इनमें से साढ़े चार साल एकेडमिक पढ़ाई होगी। और आखिर के एक साल इंटर्नशिप करना होगा। इंटर्नशिप के दौरान प्रत्येक महीने सैलरी भी दी जाती है।

इस कोर्स में होमेओपेथी से जुड़े सारे जानकारी प्रदान की जाती है ताकि जब डॉक्टर बन जाये तब मरीजों की चकित्सा के दौरान कोई समस्या न आये।

बी.एच.एम.एस कोर्स पूरा होने के बाद उम्मीदवारों को के लिए सरकारी तथा निजी संस्थानों में काफी अच्छी अवसर मिलते है। कोई चाहे तो विदेशों में भी काम कर सकते। विदेशों में ऐसे उम्मीदवारों के लिए बहुत मांग है।

BHMS कोर्स के पात्रता

BHMS डॉक्टर बनने हेतु सबसे पहले किसी मान्यता पाप्त बोर्ड से 10+2 उत्तीर्ण होना होगा 50 प्रतिशत नंबर के साथ। 10+2 में आपके फिजिक्स, केमिस्ट्री तथा बायोलॉजी होनी चाहिए।

आरक्षण वर्ग के छात्रों के लिए न्यूनतम 45 प्रतिशत नंबर होनी चाहिए। आयु की बात करे तो कम से कम 17 साल की होनी चाहिए। इसके कोई ऐज लिमिट नहीं, 17 साल से ऊपर के कोई भी इस कोर्स के लिए योग्य है।

यह भी पढ़े:

BHMS Doctor कैसे बने

BHMS Course Details in Hindi के इस स्टेप में हम जनेंगे की बी एच एम एस डॉक्टर कैसे बने:

10+2 पास करें: सबसे पहले आपको किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वी या इसके समकक्ष के कोर्स पास करना होगा अच्छे अंक से साथ फिजिक्स, केमिस्ट्री एबं बायोलॉजी के साथ।

एंट्रेंस एग्जाम: BHMS में दाखिला लेने हेतु एंट्रेंस एग्जाम देने होते। इसके राष्ट्रीय स्तर पर NEET Exam लिया जाता है। इसके अलावा राज्य स्तर पर एबं कुछ यूनिवर्सिटीज द्वारा एग्जाम लिया जाता है जैसे, PUCET, KEAM, IPU CET, इत्यादि।

एंट्रेंस एग्जाम के फॉर्म फील करें: 12वी के पढ़ाई के दौरान ही NEET एग्जाम के लिए फॉर्म निकाली जाती है उसे फील करना है। इसके लिए https://neet.nta.nic.in/ जाए। (यहां पढ़ें; NEET exam के पूरी जानकारी)

यहां Registration का ऑप्शन मिलेगा वहां पर आपको रजिस्ट्रेशन रजिस्ट्रेशन कर लेना है। इसके लिए आपके सारे डिटेल्स नाम, पता, 12वी के मार्कशीट, सर्टिफिकेट, आधार नंबर, बायां अंगूठा का छाप, आदि देना होगा।

फॉर्म सबमिट करने करने के बाद उसके प्रिंट आउट निकालकर रख लीजिए। एडमिट और एग्जाम संबंधित जानकारी के लिए उस वेबसाइट को याद रखिये उसके ही सारे जानकारी मिलेगी।

NEET एग्जाम के पैटर्न: नीट एग्जाम में कुल 180 सवाल पूछे जाते है जिसमे फिजिक्स 45, केमिस्ट्री 45, बॉटनी 45, एबं जूलॉजी 45 अंक के होते है। प्रत्येक प्रश्न के लिए 4 अंक है यानी कुल 720 अंक के सवाल है।

इसमें प्रत्येक प्रश्न के सही जवाब के लिए 4 नंबर दिया जाता है। और एक जवाब गलत होने पर एक नंबर कट लिया जाता। इसलिए इस बातों का आपको ध्यान रखना है।

कॉउंसिलिंग: एंट्रेंस एग्जाम में प्राप्त नंबर के आधार पर रैंक तैयार होगा एबं उसके हिसाब से ही काउंसलिंग का प्रक्रिया संचालित किया जाता है।

काउंसलिंग के लिए NTA के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन करना होगा। इसी दौरान आप अपने मन पसंद कॉलेज भी चुन सकते है।

एडमिशन: अगर काउंसलिंग में आपको शीट मिल जाये तो एडमिशन फीस जमा करके दाखिला ले लेना है।

BHMS कोर्स के फीस

अब BHMS Course Details in Hindi में आगे बढ़ते है और बताते है बी एच एम एस कोर्स के फीस के बारे में। BHMS Course की फीस भिन्न-भिन्न कॉलेज में भिन्न होते है।

सरकारी कॉलेज में कोर्स की फीस निजी कॉलेज के तुलना में बहुत कम है। यदि एवरेज कोर्स फीस की बात करे तो सरकारी कॉलेज 10,000 से 30,000 रुपये प्रति वर्ष लगते है।

और निजी कॉलेज में 1,50,000 से 3,00,000 रुपये प्रति वर्ष लग जायेगा। यह आंकड़ा हर कॉलेज के हिसाब से अलग हो सकते है।

BHMS Course हाईलाइट

नामबी.एच. एम.इस (बैचलर ऑफ होमेओपेथीक मेडिसीन एंड सर्जरी)
समयावधि5.5 साल
पात्रता10+2 पास
मार्क50 प्रतिशत (45% आरक्षण वर्ग के लिए)
आयु17 साल
एंट्रेंसNEET
एडमिशन प्रॉसेसएंट्रेंस में प्राप्त नंबर
फीस10,000 से 3,00,000 रुपये

BHMS Course के सिलेबस

जैसे कि आपको पहले ही पता चल गया होगा होमेओपेथी डॉक्टर बनने के लिए साढ़े पांच साल पढ़ने होते। इसके साढ़े चार साल पढ़ाई करने होता और बाकी के एक साल इंटर्नशिप।

इस समय काल में कुल मिलाकर आठ सेमेस्टर देने होंगे। प्रत्येक सेमेस्टर में क्या क्या सब्जेक्ट्स पढ़ना होगा यह आप नीचे दिया गया है।

BHMS 1 St. Year

S.L No.सब्जेक्ट्स के नाम
1.Organon of Medicine, Principles of Homoeopathic Philosophy and Psychology
2.Physiology including Biochemistry
3.Homoeopathic Pharmacy
4.Homoeopathic Materia Medical
5.Anatomy, Histology and Embryology

BHMS 2nd. Year

S.L No.सब्जेक्ट्स के नाम
1.Organon of Medicine and Principles of Homoeopathic Philosophy
2.Surgery including ENT, Eye Dental and Homoeo therapeutics
3.Obstetrics & Gynaecology Infant care and Homoeo therapeutics
4.Pathology and Microbiology including Parasitology Bacteriology and Virology
5.Homoeopathic Materia Medical
6.Practice of Medicine and Homoeo. Therapeutics
7.Forensic Medicine & Toxicology

BHMS 3rd. Year

S.Lसब्जेक्ट्स के नाम
1.Obstetrics & Gynaecology Infant care & Homoeo. therapeutics
2.Practice of Medicine & Homoeo therapeutics
3.Surgery including ENT, Ophthalmology & dental & Homoeo. therapeutics
4.Homoeopathic Materia Medical
5.Organon of Medicine

BHMS 4th. Year

S.L No.सब्जेक्ट्स के नाम
1.Repertory
2.Organon of Medicine
3.Community Medicine
4.Homoeopathic Materia Medical
5.Practice of Medicine & Homoeo therapeutics

BHMS College

  • The Calcutta Homoeopathic Medical College and Hospital, Kolkata
  • Sarvepalli Radhakrishnan University, Bhopal
  • Padmashree Dr DY Patil Homoeopathic Medical College and Research Centre, Pune
  • Nehru Homoeopathic Medical College and Hospital, New Delhi
  • Government Medical College / Rajindra Hospital, Patiala, Punjab
  • Bakson Homoeopathic Medical College and Hospital, Greater Noida, Uttar Pradesh
  • Government Homoeopathic Medical College, Calicut, Kerala

इन कॉलेज के अलावा भी कई सारे कॉलेज है जहां आप बीएचएमएस के कोर्स कर सकते है।

BHMS के अवसर

इस कोर्स पूरा होने के बाद इसके उम्मीदवारों को सरकारी तथा निजी क्षेत्र में जॉब करने का सुनहरे मौके मिलते है। बीएचएमएस के डिग्री धारकों के मांग सिर्फ हमारे देश मे ही नहीं विदेशों में भी बहुत ज्यादा है।

5 साल के कोर्स पूरा होने के पश्चात एक होमेओपेथी डॉक्टर इन जॉब्स के लिए आवेदन कर सकते है:

• सरकारी तथा निजी अस्पतालों में डॉक्टर

• पब्लिक हेल्थ स्पेशलिस्ट

• कॉलेज की लेक्चरर

• साइंटिस्ट

• मेडिकल प्रैक्टिस

• हेल्थ कंसलटेंट

• होमेओपेथी फार्मासिस्ट

• थेरेपिस्ट

• फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्रीज

इसके अलावा और भी कई जॉब है जिसके लिए BHMS के डिग्री धारकों को योग्य माना जाता है। जॉब के अलावा अगर कोई चाहे तो अपनी पढ़ाई भी जारी रख सकते है। इसके लिए सबसे अच्छा है पोस्ट-ग्रेजुएट।

यह भी पढ़े:

BHMS के बाद सैलरी

अगर आप सोच रहे है कि बीएचएमएस के बाद सैलरी कितना मिलेगा तो आपको बता दे,बहुत सारे बिंदु को देखते हुए सैलरी तय किया जाता है। जैसे कि- काम के क्षेत्र, काम के पद एबं एक्सपेरिएंस के ऊपर सैलरी निर्भर करती है।

फिरभी यदि औसतन सैलरी की बात की जाए तो शुरुआती दौर में 30,000 से लेकर 45,000 प्रत्येक महीने मिल जाते है। यह राशि समय के साथ तेजी से इंक्रीमेंट होती है।

निष्कर्ष: इस आर्टिकल में BHMS Course Details in Hindi के बारे में पूरी जानकारी दी गई है। हमे ऐश यह जानकारी आपको पसंद आया है।

अगर BHMS Course से जुड़े कोई सवाल अभी भी आपके मन मे है तो कमेंट सेक्शन में पूछिए हम आपके सेवा में हाज़िर रहेंगे। अगला आर्टिकल में आप कौन से टॉपिक के बारे में जानना चाहते है यह कमेंट करके बताये।

ऐसे ही जानकारी बिल्कुल फ्री में प्राप्त करने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़ जाइये।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Telegram