Notifications
×
Subscribe
Unsubscribe

BDS Course Details in Hindi | स्कोप | सैलरी

हर छात्रों के अपने अपने सपने होते है। कोई डॉक्टर बनना चाहते, कोई इंजीनियर, उकिल, शिक्षक तो कोई साइंटिस्ट।

और अपने सपनों के हिसाब से वो बचपन से तैयारी करते है। परंतु हर किसी के सपने पूरे नहीं होते चाहे वो आर्थिक कारणों से हो या किसी दूसरे वजह से।

खैर, यदि आपके बचपन से सपना है डॉक्टर बनने का लेकिन पारिवारिक आर्थिक स्थिति ठीक न होने के बजाय से आप एमबीबीएस डॉक्टर नहीं बन पा रहे है तो आपको बता दूं, एमबीबीएस के अलावा और कई तरह के डॉक्टर होते है।

जैसे बीडीएस, बीएचएमएस डॉक्टर, बीएएमएस डॉक्टर, यूनानी इत्यादि। जिसमे से सबसे अधिक डिमांड है BDS कोर्स का। बीडीएस कोर्स करने के पश्चात दांतो के डॉक्टर बनते है यानी डेंटिस्ट।

ये कोर्स आप कर सकते है। क्योंकि, BDS (Bachelor of Dental Surgery) करने में एमबीबीएस जितना खर्च नहीं। और इसके डिमांड भी दूसरे प्रोफेशन के तुलना में काफी अधिक है।

इसलिए, यदि आपको BDS करने की मौका मिल जाये तो, मेरे हिसाब से उस मौके को गवाना नहीं चाहिए। क्योंकि ऐसे मौके बार बार नहीं आते।

यदि आपको BDS के बारे में अधिक जानकारी नहीं है तो आपको बता दूं, आज की इस आर्टिकल में हम BDS Details के बारे में बारीकी से बात करेंगे।

जी हां, आज हम जनेंगे की BDS kya hai, BDS का फूल फॉर्म क्या है, BDS कैसे करे, BDS की फीस कितनी है, सैलरी कितने मिलेंगे, स्कोप क्या है, इत्यादि BDS Course Details in Hindi में।

BDS kya hai, BDS course details in hindi, BDS ke fees, bds ke syllabus
BDS Course Details in Hindi

तो आइए सुरु करते है आज के सफर और आपको बताते है कि BDS Course Details के बारे में।

BDS Course Details in Hindi

बीडीएस कोर्स के बारे में कुछ भी जानने आइये जानते है बीडीएस क्या है और बीडीएस करने के पश्चात क्या होता है।

इसे पढ़े: B pharma Course के बारे में डिटेल्स से समझे

BDS kya hai

BDS का पूरा नाम है Bachelor of Dental Surgery हिंदी में इसका मतलब है दंत शल्य चिकित्सा में स्नातक। ये पांच साल की ग्रेजुएशन कोर्स है। जिसके चार साल में शैक्षिक पढ़ाई और आखिरी के एक साल इंटर्नशिप करना होता है।

कोर्स पूरा होने के पश्चात बीडीएस डॉक्टर बनने यानी दांतो के डॉक्टर बनने के मंजूरी मिल जाते है। उसके बाद आप चाहे तो अस्पतालों में दांतो के डॉक्टर यानी डेंटिस्ट बन सकते है या फिर एमडीएस कर सकते है।

BDS के लिए योग्यताएं

MCI द्वारा बीडीएस कोर्स के लिए कुछ मापदंड निर्धारण की गई है। जिसके पहले बिंदु है, आपको किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वी पास करना होगा भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान तथा गणित लेकर।

इन सारे सब्जेक्ट्स में न्यूनतम 45 से 50 प्रतिशत नंबर की जरूरत है इस कोर्स में एडमिशन हेतु एंट्रेंस एग्जाम में बैठने के लिए।

जी हां, BDS में एडमिशन लेने के लिए एंट्रेंस एग्जाम देने की आवश्यकता है। जिसे हम NEET एग्जाम के नाम से जाने जाते।

इस एग्जाम में बैठने के लिए आयु की बात करे तो, न्यूनतम 17 साल। इसके अलावा आयु की कोई सीमा नहीं है। आप चाहे कितने भी साल के है कोई समस्या नहीं इस एग्जाम के लिए आप एलिजिबल है।

इसे पढ़े: Bsc in Radiology करके रेडियोलॉजिस्ट बने

BDS ki Fees

हर कोर्स की तरह इस कोर्स के भी कोई निर्धारित फीस स्ट्रक्चर नहीं है। अलग अलग कॉलेज में फीस स्ट्रक्चर अलग देखने को मिलेगा।

यदि आप किसी सरकारी कॉलेज से BDS करते है तो कोर्स फीस कम है। परंतु किसी प्राइवेट कॉलेज से करेंगे तो कई गुना अधिक कोर्स फीस देना होगा।

यदि औसतन कोर्स फीस की बात करे तो, 2,00,000 से 20,00,000 तक आते है।

BDS कोर्स के अवधि (Durations)

आपको पहले ही पता चल चुका होगा की बीडीएस के अवधि है 5 साल। इन पांच में से चार साल पढ़ाई के लिए है। जहां आपको थ्योरी तथा प्रैक्टिकल ज्ञान प्रदान की जाती है। और बाकी के एक साल इंटर्नशिप के लिए निर्धारित है।

BDS Kaise Kare

बीडीएस करने के लिए आपको लगन के साथ कड़ी मेहनत करना होगा। इस कोर्स के लिए कौन सा स्टेप्स फॉलो करना है ये आगे बताया गया है।

12वी पास करें: सबसे पहले आपको किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वी पास करना होगा। 12वी में फिजिक्स, केमिस्ट्री, तथा बायोलॉजी होनी चाहिए और इसमें न्यूनतम 45% से 50% नंबर होना आवश्यक है।

एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करें: बीडीएस करने के लिए आपको NEET एग्जाम देना होगा। इस एग्जाम में उत्तीर्ण होने हेतु आपको कड़ी मेहनत करना है। तब जाकर उत्तीर्ण हो सकते है।

नीट में कुलमिलाकर 720 नंबर के एग्जाम होते है जिसमे कुल 180 सवाल है। नीट एग्जाम के डिटेल्स के बारे में यहां क्लिक करके जान सकते है NEET Exam Details

एप्लीकेशन फॉर्म भरे: नीट के एग्जाम देने हेतु एप्लीकेशन फॉर्म भरना होगा। आप अपने सारे दस्तावेज के साथ फॉर्म भर सकते है। फॉर्म भरते समय एप्लीकेशन फीस जमा करना होगा।

एप्लीकेशन करने के लिए NEET के ऑफिसियल वेबसाइट में जाये वहां Fill Application Form पर क्लिक करके अपने सारे डाक्यूमेंट्स डालकर फॉर्म सबमिट कर दीजिए।

एबं फील किया हुआ फॉर्म का दो प्रिंट आउट कॉपी निकाल लीजिए। और एग्जाम संबंधित सारे अपडेट के लिए इसी साइट को फॉलो करते रहिए।

एंट्रेंस एग्जाम दीजिए: अब आपको एंट्रेंस एग्जाम देना है। इस एग्जाम में फिजिक्स के 45 सवाल, केमिस्ट्री के 45 सवाल तथा बायोलॉजी के 90 सवाल आते है।

इसमें नेगेटिव नेगेटिव मार्किंग भी है। यानी हर एक गलत सवाल के लिए एक नंबर कट लिया जाएंगे। और हर एक सही जवाब के लिए चार नंबर दिया जायेगे।

काउंसलिंग में अंश ग्रहण करें: एग्जाम के रिजल्ट निकालने के पश्चात आपके द्वारा प्राप्त नंबर के आधार पर रैंक तैयार किया जाएगा।

इसके बाद काउंसलिंग के लिए रजिस्ट्रेशन करके कॉलेज बगैरह चुनना है। यदि आपके रैंक अछि रहे तो सरकारी कॉलेज मिल जाएगा नहीं प्राइवेट कॉलेज मिल सकते है।

एडमिशन प्रॉसेस: यदि काउंसलिंग में कोई कॉलेज मिल जाए तो उसमें एडमिशन फीस जमा करने के पश्चात एडमिशन ले लेना है।

बधाई हो, अब आपको मेडिकल कॉलेज में एडमिशन मिल गए है। अब आइये डेंटल कोर्स सिलेबस के बारे में जानते है।

इसे पढ़े:

Pharmacist कैसे बने

B tech engineer बनने की पूरी विधी

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनकर लाखो की सलाई पैकेज ले

BDS Course ke Syllabus

BDS पांच साल के कोर्स है। जिसके चार साल एकेडमिक पढ़ाई और एक साल इंटर्नशिप है। इन चार साल में आठ (8) सेमेस्टर है।

हर सेमेस्टर में कौन सा सब्जेक्ट्स पढ़ना होगा ये आगे बताया गया है। कॉलेज/यूनिवर्सिटी से हिसाब से सब्जेक्ट्स थोड़ा कम ज्यादा हो सकता है।

Top BDS Colleges

• तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी, मोरादाबाद

• इंद्रप्रस्थ डेंटल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, ग़ाज़ियाबाद

• गवर्नमेंट डेंटल कॉलेज, मुम्बई

• उत्तराखंड डेंटल एंड मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट, देहरादून

• मणिपाल कॉलेज ऑफ डेंटल साइंस, मंगलोर

• गुरु नानक इंस्टीट्यूट ऑफ डेंटल साइंस एंड रिसर्च, कोलकाता

• मौलाना आज़ाद इंस्टीट्यूट ऑफ डेंटल साइंस, दिल्ली

• श्री रामचंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ हायर एजुकेशन एंड रिसर्च, चेन्नई

• पोस्टग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ डेंटल साइंस, रोहतक

• गवर्नमेंट डेंटल कॉलेज, इंदौर

• पैसिफिक डेंटल कॉलेज, उदयपुर

इन कॉलेज के अलावा आप अपने मन पसंद किसी भी कॉलेज में एडमिशन ले सकते है। लेकिन सबसे पहले उस कॉलेज के बारे थोड़ा जानकारी ले लेंगे तो ठीक रहेगा।

इसे पढ़े: लैब टेक्नीशियन बनने के लिए BMLT Course करे

BDS ke Baad kya kare

यदि आप ये सोच रहे है कि बीडीएस के बाद करेंगे तो आपको बता दूं, बीडीएस पूरा होने के पश्चात करने के लिए आपके सामने बहुत सारे ऑप्शन है।

आप चाहे तो आगे की पढ़ाई जारी रख सकते है। हायर स्टडी के लिए सबसे अच्छा दो कोर्स है। एक है, MDS (Master of Dental Surgery) और दूसरा है, MBA (Master of Business Administration)

इसके अलावा आप चाहे तो दूसरे कोर्स भी कर सकते है। और अगर नौकरी करना चाहते तो उसके लिए कई तरह के अवसर मिल जाएगा। जैसे:

• सरकारी तथा प्राइवेट अस्पताल में डेंटिस्ट के रूप में।

• नर्सिंग होम में डेंटिस्ट यानी दांतो के डॉक्टर के तौर पर।

• रिसर्च करना है तो साइंटिस्ट बन सकते है।

• अपनी खुदकी डेंटल क्लिनिक सुरु कर सकते है।

• फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्री में भी अछि अवसर है।

• यदि आपके रुचि पढ़ाने में तो डेंटल कॉलेज के लेक्चरर बनना एक अच्छे ऑप्शन है।

• बड़े बड़े पब्लिक कंपनी भी डेंटिस्ट के लिए वेकैंसी निकालते है।

• इसके अलावा रेलवे, आर्मी, नेवी, एयरफोर्स इत्यादि क्षेत्र में आप डेंटिस्ट के रूप में नौकरी कर सकते।

इसे पढ़े: BCA Course की पूरी जानकारी

BDS ke Salary

पढ़ाई के दौरान हर किसी के मन मे ये सवाल जरूर आते है कोर्स कंपलीट होने के बाद उन्हें कितने सैलरी मिलेंगे। आपके जानकारी के लिए बता दूं,

आपके काम के पद तथा क्षेत्र के ऊपर निर्भर करके सैलरी तय होते है। यदि कोई प्राइवेट क्षेत्र में काम करते है तो सैलरी अलग होगा और अगर सरकारी नौकरी मिलते है तो उंसमे अलग।

फिरभी यदि एवरेज सैलरी की बात करे तो सुरुवात में 20,000 से 50,000 तक सैलरी मिलते है। समय के साथ जैसे जैसे तजुर्बे बढ़ते है सैलरी में भी तेजी से इन्क्रीमेंट देखने को मिलते है।

BDS संबंधित सवाल जवाब

• BDS ka full form

BDS का पूरा नाम है Bachelor of Dental Surgery. डेंटल काउंसिल द्वारा मान्यता प्राप्त कोर्स है। जिसके अवधि है 5 साल।

इन पांच सालों के पूरा होने के पश्चात डेंटल डिग्री प्रदान की जाती है। यानी इस कोर्स के पूरा होने के बाद आप डेंटिस्ट बन जाते है।

इस कोर्स के बारे में पूरी डिटेल्स बारीकी से आलोचना की गई है वो आपको पहले ही पता चल गया होगा।
इसे पढ़े: BPT Course Details in Hindi

• क्या बीडीएस के बाद यूपीएससी के एग्जाम दे सकते है?

यूपीएससी कोर्स के लिए न्यूनतम योग्यता है ग्रेजुएशन पास। और बीडीएस एक ग्रेजुएशन कोर्स होने के नाते कोई भी बीडीएस स्टूडेंट यूपीएससी एग्जाम के लिए योग्य है।

• क्या बीडीएस डॉक्टर दावा के दुकान खोल सकते?

जी नहीं, सिर्फ बीडीएस डॉक्टर ही नहीं कोई भी डॉक्टर मेडिसिन शॉप नहीं खोल सकते। मेडिसिन शॉप खोलने के लिए फार्मासिस्ट होना होगा।

परंतु हा, यदि कोई फार्मासिस्ट को अपॉइंट करके मेडिसिन शॉप खोलना चाहे तो जरूर खोल सकते।

निष्कर्ष: आज आपको BDS Course Details in Hindi के बारे में जानकारी दी गई है। हमे आशा है आपको हर पॉइंट्स अच्छे से समझ आये होंगे। यदि आपको कोई सवाल या सुजाव देना है तो कमेंट करके बात सकते है।

अगर किसी दूसरे टॉपिक के बारे में जानना है तो कमेंट सेक्शन में बताये और अपने दोस्तों के साथ यह जानकारी अवश्य शेयर करें।

ऐसे ही जानकारी बिल्कुल फ्री में प्राप्त करने के लिए हमे हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े।

दोस्तों के साथ शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published.