Bank PO kaise Bane: फॉर्म भरने से जॉइन होने का पूरी जानकारी

Bank Po का नौकरी कई विद्यार्थियों के लिए बहुत ही चहिते वाला नौकरी होती है। क्योंकि समाज में लोगों से ऐसे पेशेवरों को नाम, यश, ख्याति, आदि काफी अधिक प्राप्त होती है।

यदि आपको बैंकिंग क्षेत्र में काम करना है वह भी बैंक पीओ के रूप में परंतु Bank PO kaise Bane इसके बारे में आपको ज्यादा जानकारी नहीं है तो आप बिल्कुल चिंता मत करिए।

आज की लेख में हम आप से बैंक पीओ कैसे बनते है उसके पूरे प्रक्रिया से रूबरू कराएंगे। जैसे कि बैंक पीओ क्या होता है, उनके कार्य क्या होती है, बैंक पीओ बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए, कौन सा एग्जाम देना होता, बैंक पीओ की सैलरी कितनी होती है, इत्यादि।

लेकिन बैंक पीओ कैसे बने उसे जानने से पहले हमें यह जानना जरूरी है कि बैंक पीओ होता क्या है और बैंक पीओ को कार्य कौन सा करना पड़ता है।

Bank PO kya Hota Hai

Bank PO kaise Bane
Bank PO kaise Bane

बैंक पीओ का पूरा नाम है बैंक प्रोबेशनरी ऑफिसर जो बैंकिंग क्षेत्र में एक एंट्री लेवल का नौकरी होती है। इस पद को हासिल करने के लिए उम्मीदवारों को न्यूनतम स्नातक होना जरूरी है।

इसके साथ आईबीपीएस का एग्जाम देना होता जिसमे तीन चरण होता है; प्रिलिमिनरी, मैन और इंटरव्यू। इन पड़ावों में उत्तीर्ण होने वाले उम्मीदवारों को बैंक पीओ के रूप में चुना जाता है।

जिन का मुख्य कार्य है बैंक के ग्राहकों का खाता खुलना, लोन प्रदान करना, एटीएम, डेबिट और क्रेडिट कार्ड, इन्सुरेंस, आदि के बारे में सहायता करना।

यह पढ़े:

Bank PO ke liye Qualification

बैंक पीओ बनने वाले उम्मीदवारों को कुछ प्राथमिक योग्यताओं से गुजरना होता जिसके बारे में हमने नीचे बिंदु अनुसार बताया है;

  • बैंक पीओ बनने वाले उम्मीदवारों को किसी भी सब्जेक्ट से न्यूनतम ग्रेजुएशन पास करना होता।
  • ग्रेजुएशन में सामान्य वर्ग के विद्यार्थियों को न्यूनतम 55 फीसदी अंक प्राप्त करना जरूरी है। और आरक्षण वर्ग के लिए 5 फीसदी अंको का छूट मिलते है।
  • बैंक पीओ बनने के लिए सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों का आयु 21 से 30 वर्ष के बीच होना चाहिए। वही ओबीसी वर्ग के लिए 3 साल तथा एससी और एसटी वर्ग के लिए 5 साल की छूट मिलती है।
  • जो विद्यार्थी ग्रेजुएशन के अंतिम वर्ष/सेमेस्टर में पढ़ाई कर रहे वह इसके एग्जाम के लिए योग्य नहीं है।

Bank PO kaise Bane

इन दिनों बैंक पीओ का नौकरी के लिए प्रतिस्पर्धा काफी बढ़ गई है। इसलिए जो विद्यार्थी बैंक पीओ बनना चाहते है उन्हें पहले से सोची समझी रणनीति बनाकर तैयारी करनी होगी तब जाकर इस पद को प्राप्त करने का सपना साकार हो सकता है।

यहां हमने बैंक पीओ बनने के लिए कुछ महत्वपूर्ण जानकारी आपके साथ साझा की है। आशा करते है इससे आपको काफी सहायता मिलेगी;

स्कूल की पढ़ाई पूरा करे

पीओ बनने की पहली पड़ाव सुरु होती है स्कूल से। स्कूल में आप अपने मन पसंद कोई भी विषय लेकर पढ़ाई कर सकते है। इंसमे सब्जेक्ट्स की कोई अनिवार्यता नहीं होती है। साइंस, आर्ट्स या कॉमर्स लेकर पढ़ाई करने वाले विद्यार्थी इस पद के लिए योग्य है।

ग्रेजुएशन पूरा करे

अच्छे अंको से स्कूल उत्तीर्ण होने के पश्चात अब बारी है किसी भी पसंदीदा विषय लेकर स्नातक बनने का। क्योंकि बैंक पीओ के उम्मीदवारों के लिए न्यूनतम जो शैक्षणिक योग्यता चाहिए वह है ग्रेजुएशन। ग्रेजुएशन में कम से कम 55 फीसदी अंक प्राप्त करना अनिवार्य है।

बैंक पीओ बनने हेतु आईबीपीएस का फॉर्म भरे

इंडिया के ज्यादातर बैंकों में पीओ पद का नियुक्ति IBPS के द्वारा किया जाता है। इसका फॉर्म समय समय पर निकालता रहता है। फॉर्म भरने के लिए आईबीपीएस का ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होता।

वहां उम्मीदवार का नाम, पता, जन्म तारीख, शैक्षणिक योग्यता, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, आदि दर्ज करना है और आवश्यक दस्तावेजों का स्कैन कॉपी अपलोड करना है। इसके पश्चात आवेदन शुल्क जमा करके फॉर्म का प्रिंट निकाल लेना है।

बैंक पीओ एग्जाम की तैयारी करें

इन दिनों बैंक नौकरी का मांग काफी अधिक है अतः प्रतिस्पर्धा भी ज्यादा होगी। इसलिए एग्जाम में पास करने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी, एक रणनीति बनाना होगा जिसके तहत तैयारी करनी पड़ेगी।

बहुत से कोचिंग इंस्टीट्यूट ऐसे एग्जाम की तैयारी करवाते है, जिन से आप जुड़ सकते है। इन दिनों घर से तैयारी करना भी काफी आसान हो गई है।

आप चाहे तो गूगल और यूट्यूब या सहायता ले सकते है जहां आपको ऐसे कई सारे चैनल मिल जाएगा जो फ्री ऐसे एग्जाम की में तैयारी करवाते है।

पीओ एग्जाम का सिलेबस तथा पैटर्न समझे

किसी भी एग्जाम में बैठने से पहले उस एग्जाम के सिलेबस और पैटर्न के बारे में अच्छे से जानकारी होनी चाहिए। बैंक पीओ का एग्जाम तीन चरण में लिया जाता है, जो कुछ इस प्रकार है, प्रिलिमिनरी, मैन और इंटरव्यू।

बैंक पीओ प्रिलिमिनरी एग्जाम

आईबीपीएस द्वार प्रिलिमिनरी एग्जाम आयोजित किया जाता है जो क्वालीफाइंग इन नेचर है यानी इंसमे उम्मीदवारों को सिर्फ क्वालीफाई करना होता। इंसमे मुख्यतः तीन विषय शामिल होते है; क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड 35 अंक, रीजनिंग 35 अंक और अंग्रेजी 30 अंक।

इस पड़ाव में टोटल 100 अंक का वैकल्पिक सवाल पूछे जाते है। जिसे हल करने में एक घंटे का समय प्रदान किया जाता है। इंसमे नेगेटिव मेर्किंग का भी प्रावधान है, प्रत्येक गलत जवाब के लिए 0.25 अंक कट लिया जाता।

विषयअंकसमय
क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड351 घंटे
रीजनिंग35
अंग्रेजी30

बैंक पीओ मैन एग्जाम पैटर्न

जिन उम्मीदवार प्रिलिमिनरी एग्जाम में क्वालीफाई करते है उन्हें दूसरे पड़ाव के लिए बुलाया जाता है। इंसमे दो ग्रुप होते है; ग्रुप A और ग्रुप B. ग्रुप A में टोटल 200 अंक और ग्रुप B में 50 अंक रहता है।

ग्रुप A में चार विषय से सवाल पूछते है जिसमे रीजनिंग और कंप्यूटर से 60 अंक, जनरल नॉलेज और बैंकिंग से 40 अंक, डेटा विश्लेषण से 60 अंक और अंग्रेजी से 40 अंक का सवाल पूछे जाते है। ग्रुप A में सारे के सारे वैकल्पिक सवाल होते। इसके लिए 3 घंटे का समय दिया जाता है।

विषय (ग्रुप – A)अंकसमय
रीजनिंग और कंप्यूटर603 घंटे
जनरल नॉलेज और बैंकिंग40
डेटा विश्लेषण60
अंग्रेजी40

वही ग्रुप B में सिर्फ 50 अंक का डिस्क्रिप्टिव टाइप सवाल आता है अंग्रेजी भाषा से। इसके लिए 30 मिनट का समय मिलता है। ध्यान रहे इस पड़ाव में भी नेगेटिव मेर्किंग होती है। इसलिए जवाब देते समय सावधानी बरतें।

ग्रुप – Bअंकसमय
अंग्रेजी भाषा5030 मिनट

बैंक पीओ इंटरव्यू

जिन उम्मीदवार दूसरे पड़ाव (मैन एग्जाम) में सफलतापूर्वक उत्तीर्ण होते है उन्हें इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। इंटरव्यू में उम्मीदवारों का मेन्टल स्थिति तथा स्ट्रेस कैपेसिटी को जांच किया जाता है।

अच्छे से एग्जाम समाप्त करे

एप्लीकेशन फॉर्म भरने के कुछ समय पश्चात आईबीपीएस की ऑफिशियल वेबसाइट से एडमिट कार्ड डाउनलोड करना होता और एडमिट में दी हुई तारीख में एग्जाम देना होता।

एग्जाम के दौरान आपको बिल्कुल भी स्ट्रेस नहीं लेनी चाहिए क्योंकि इससे आप के एग्जाम में गलत प्रभाव पड़ेगा। इसलिए बिल्कुल चिंता मुक्त होकर जितने भी सवाल आपको आता है वह पूरा करे।

एग्जाम के समय आपको हड़बड़ाहट नहीं करनी है और कभी भी तुक्का नहीं लगानी है। क्योंकि नेगेटिव मेर्किंग के कारण, इससे आपके नंबर घटने के पूरी संभावना रहेगी। इसलिए आपको जो सवाल आता है सिर्फ वही दे।

दस्तावेजों की सत्यापन

जो उम्मीदवार सफलतापूर्वक सारे पड़ाव पार कर लेते है उन्हें डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए बुलाया जाता है। जिसमे आधार कार्ड, वोटर कार्ड, माध्यमिक तथा इंटरमीडिएट के एडमिट कार्ड, मार्कशीट, पास सर्टिफिकेट, डोमिसाइल सर्टिफिकेट, ग्रेजुएशन के दस्तावेज, आदि जांच किया जाता है।

सारे चीज सही होने पर चुने गए उम्मीदवारों का एक मेरिट लिस्ट जारी किया जाता है। इसके पश्चात उन्हें जॉइनिंग लेटर प्राप्त होती है जिसके तहत उन्हें निर्दिष्ट दिन में जॉइन करना होता।

Bank PO ki Salary

बैंक पीओ का नौकरी पाना जितना कठिन है उतना है शानदार इसका सैलरी पैकेज है। एक बैंक पीओ को बेसिक सैलरी के साथ साथ कई सारे अलाउंस भी प्राप्त होती है जो सैलरी स्ट्रक्चर को और भी बेहतर रूप प्रदान करते है।

आमतौर पर बैंक पीओ का बेसिक सैलरी ₹23700 है। जो पहली इन्क्रीमेंट के पश्चात ₹30560, दूसरी इंक्रीमेंट के बाद ₹32850, तीसरी इंक्रीमेंट के बाद ₹42020 होती है। ध्यान रहे इंसमे किसी प्रकार की कोई अलाउंस शामिल नहीं है।

Bank PO kaise Bane Related FAQ

• Bank PO ka full form क्या है?

बैंक पीओ का फूल फॉर्म है बैंक प्रोबेशनरी ऑफिसर। इस पद में नियुक्त होने के लिए उम्मीदवारों को न्यूनतम ग्रेजुएट होना पड़ता है।

• बैंक पीओ के लिए शैक्षिक योग्यता?

बैंक पीओ बनने के लिए उम्मीदवारों को यूजीसी मान्यता प्राप्त किसी भी कॉलेज या यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन पूरा करना होता न्यूनतम 55 प्रतिशत अंको के साथ।

• बैंक पीओ का कार्य क्या होती है?

बैंक पीओ का कार्य बैंक में आने वाले ग्राहकों को बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध कराना है। जिनमे बैंक खाता खोलना, एटीएम, डेबिट, क्रेडिट आदि कार्ड बनाना, पर्सनल लोन, होम लोन, कार लोन, इन्सुरेंस आदि शामिल है।

• बैंक पीओ में कितने एग्जाम होते हैं?

बैंक पीओ में एग्जाम तीन चरणों मे आयोजित किया जाता है। जिसमे से पहला है, प्रिलिमिनरी टेस्ट, दूसरा है, मैन एग्जाम और तीसरा है, इंटरव्यू।

प्रिलिमिनरी एग्जाम से उपयुक्त उम्मीदवारों का चयन किया जाता है जिन्हें मैन एग्जाम के लिए बुलाया जाता। इसके बाद जो उम्मीदवार मैन एग्जाम क्लियर कर लेते है उन्हें इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है।

निष्कर्ष: दोस्तों आज की लेख में हमने Bank PO kaise Bane उसके बारे में चर्चा की है। जहां अपने जाना कि बैंक पीओ क्या होता है, बैंक पीओ के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए, बैंक पीओ का सिलेक्शन प्रॉसेस क्या है, बैंक पीओ की सैलरी कितनी होती है, इत्यादि।

आशा करते है बैंक पीओ कैसे बनते है उसके बारे में आपको पता चल गई है। आप अपने अनुभव कमेंट सेक्शन में बता सकते है। और कृपया आप अपने दोस्तों के साथ इस लेख को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि उन्हें भी पता चले बैंक पीओ कैसे बनें।

यदि आपके मन मे कोई भी सवाल है या फिर हमारे लिए कोई सुझाव है तो कमेंट सेक्शन में बता सकते है। आपके राय हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है।

अगर आपको कोर्स और करियर से जुड़े जानकारी चाहिए तो हमारे ब्लॉग FutureBanaye.com के ऑफिशियल टेलीग्राम चैनल से जुड़े जहां आपको एजुकेशन के जुड़े सारे जानकारियां प्राप्त होती रहेगी।

यह पढ़े:

दोस्तों के साथ शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *