BAMS Course Details in Hindi

डॉक्टर बनना कई सारे लोगो का सपना है परंतु कंपीटिशन और महंगाई सम्पन्न कोर्स के चलते हर कोई डॉक्टर बन नहीं पाते।

और सबसे बड़ी बात ये है कि, डॉक्टर के नाम सुनते ही हमारे दिमाग मे सबसे पहले MBBS डॉक्टर के छवि आ जाते है।

लेकिन क्या आपको पता है एमबीबीएस के अलावा भी डॉक्टर बनने के लिए कई सारे कोर्स उपलब्ध है?

जी हां, ऐसा ही एक कोर्स है BAMS. ये एक ऐसा कोर्स है जिसका मांग पहले था आज भी है और आगे भी रहगा।

>> B pharma में अपनी करियर बनाये

यदि आप सोच रहे है कि, ये BAMS kya hai, BAMS डॉक्टर कैसे बने, बीएमएस की फीस कितना, बीएमएस के बाद क्या करे, बीएमएस के सैलरी कितने मिलेंगे?

तो आपको बता दूं, इस आर्टिकल को आप ध्यानपूर्वक आखिरी तक पढ़े तभी आपको समझ आएगा BAMS Course Details in Hindi के बारे में।

BAMS Course Details in Hindi, BAMS kya hai, bams ki fees kitni hai, Bams ke baad kya kare
BAMS course details in hindi

BAMS Course Details in Hindi

12 वी के दौरान स्टूडेंट्स के मन में सबसे अधिक जो सवाल आते है वे है 12 वी पूरा होने के बाद कौन सा कोर्स करेंगे ताकि आने वाले भविष्य खुशी खुशी बीते।

यदि आप भी ये सोच रहे है तो आपके जानकारी के लिए बात दू, BAMS डॉक्टर एक अच्छे करियर ऑप्शन हो सकते है।

>> Software Engineer बनकर लाखो कमाए

BAMS डॉक्टर बनने के लिए आपको एमबीबीएस कोर्स जितना खर्च करने की जरूरत नहीं परंतु सैलरी के मामले में दोनों को एक ही सैलरी स्केल मिलेंगे।

अभी तक आपके मन मे सवाल आ रहा होगा कि BAMS क्या है।

BAMS kya hai

BAMS का full form है Bachelor of Ayurvedic Medicine and Surgery हिंदी में इसे आयुर्वेद कायचिकित्सा तथा शल्य चिकित्सा स्नातक कहते है।

बीएएमएस कोर्स 5 साल 6 महीने की है। जिसमे 4 साल एबं 6 महीना शैक्षणिक वर्ष है और बाकी के 1 साल इंटर्नशिप के लिए तय है।

>> GNM Nurse कैसे बने पूरी जानकारी

ये एक स्नातक मेडिकल कोर्स होने के नाते इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए न्यूनतम 12 वी पास करना होगा तब जाकर इस कोर्स के लिए योग्य हो सकते है।

BAMS पूरा होने के बाद आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने के अलावा कई तरह के काम करने का अवसर पूरे देश तथा विदेशों में मिल जाते है।

यदि आप सोच रहे है कि बीएएमएस डॉक्टर बनेंगे तो आपको बता दूं, इसके लिए कुछ योग्यताएं निर्धारित है जो आगे जानने को मिलेगा।

BAMS Course Ke Eligibility (बीएएमएस कोर्स के लिए योग्यता)

बीएएमएस कोर्स करके आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने के लिए आपके पास निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए।

• सबसे पहले आपको किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12 वी (इंटरमीडिएट) पास करना होगा फिजिक्स, केमिस्ट्री, तथा बायोलॉजी (PCB) सब्जेक्ट्स के साथ।

B tech करके इंजीनियर बने

x ray Technician course Details in Hindi

• यदि नंबर की बात करे तो न्यूनतम 50 प्रतिशत से 60 प्रतिशत नंबर की मांग रहती है। आरक्षण वर्ग के लिए 5 नंबर की छूट दी जाती है।

• बीएएमएस कोर्स में एडमिशन हेतु न्यूनतम आयु 17 साल निर्धारित है। और अधिकतम आयु निर्धारित नहीं है। इसलिए 17 साल से अधिक कोई भी उम्मीदवार इस कोर्स के लिए योग्य है।

BAMS Doctor kaise Bane (BAMS कैसे करे)

बीएएमएस कोर्स करने के लिए आपको सबसे पहले उल्लेखनीय योग्यताओं से गुजरना होगा उसके बाद ही आप इस कोर्स के लिए योग्य बनेंगे।

अगर आप के पास सारे कालीफिकेशन्स है तो अब आप इस स्टेप्स को बारीकी से समझे क्योंकि, यहां मैंने बताये है कि आप आयुर्वेद डॉक्टर कैसे बनेंगे।

>> Bsc in Radiology में करियर बनाये

इंटरमीडिएट में अछि नंबर लाये: सबसे पहले आपको अपने इंटरमीडिएट के एग्जाम अच्छे से देना है।

क्योंकि, अगर इसमें अच्छे नंबर नहीं आएंगे तो आप BAMS डॉक्टर बनने का एंट्रेंस एग्जाम के लिए क्वालीफाई नहीं होंगे।

इसलिए 12 वी में हमेसा 60 प्रतिशत से ज्यादा नंबर लाने की कोशिश करे हालांकि इसके लिए न्यूनतम नंबर 50 प्रतिशत ही है परंतु अधिक नंबर आपको आगे जाकर फायदा पहुचायेगा।

Form फिलअप करे: BAMS के एंट्रेंस एग्जाम के लिए आपको फॉर्म फील करना होता।

फॉर्म फिलअप के दौरान UR (जनरल) वर्ग के लिए 1500 रुपये, EWS / OBC के लिए 1400 तथा SC/ST/PwD/Transgender के लिए 800 रुपये जमा करना होता है।

>> BPT Course करके फ़िज़ियोथेरेपिस्ट बने

फॉर्म फिलअप करने के लिए आपको ऑफिसियल साइट पर जाना है वहां Fill Application Form के बटन दिखाई देगा उसे क्लिक करके फॉर्म ओपन कर लीजिए।

उसके बाद आपके सारे डिटेल्स और दस्तावेजों बगैरह अपलोड करके सबमिट कर दीजिए और आखिर में उसके दो प्रिंट आउट निकाल लीजिए।

एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करें: एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी अच्छे करे। इसके लिए आपको तीन ही सब्जेक्ट्स बारीकी से पढ़ना है फिजिक्स ,केमिस्ट्री, तथा बायोलॉजी।

पढ़ाई के दौरान सारे सब्जेक्ट्स के नोट्स बनाते जाए क्योंकि इसके सिलेबस बहुत बड़ी है इसलिए एग्जाम के दौरान यही नोट से आपको सहायता करेगा।

इसके अलावा नोट्स बनाकर पढ़ने में आपको अच्छे से पढ़ाई याद रह जायेगा।

>> ANM नर्सिंग के बारे में पूरी जानकारी

एंट्रेंस एग्जाम: एंट्रेंस एग्जाम में कोई तुक्का नहीं लगानी क्योंकि इसमें नेगेटिव मार्किंग है।

जी हां, हर सवाल के जवाब के रूप में चार ऑप्शन दिया जाता है जिसमे से आपको सही वाले जवाब चुनना पड़ता है।

अगर आप गलत जवाब दे देते है तो एक नंबर कट लिया जाता है और अगर जवाब सही है तो चार नंबर मिल जाएगा।

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन: एंट्रेंस एग्जाम के रिजल्ट निकालने के बाद ऑनलाइन काउंसलिंग के रजिस्ट्रेशन सुरु होती है।

उस टाइम आपको रजिस्ट्रेशन फीस जमा कर के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर लेना है। रजिस्ट्रेशन के दौरान ही आपको कॉलेज कौर कोर्स बगैरह सेलेस्ट करना होता।

ऑनलाइन काउंसलिंग: एग्जाम में प्राप्त नंबर के आधार पर रैंक लिस्ट तैयार होगा। और रैंक के हिसाब से काउंसिलिंग चलते है।

अगर आपको कॉलेज मिल जाये तो एडमिशन फीस जमा करके एडमिशन ले लेना है।

BAMS ke Admission Process

बीएएमएस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम होता है। पहले तो इस कोर्स में प्रवेश हेतु कई तरह के एंट्रेंस एग्जाम लिए जाते थे।

परंतु आज के समय वे सभी को मिलाकर एक ही एग्जाम लिए जाते है जो कि NEET एग्जाम के नाम से मशहूर है। यहां से NEET एग्जाम के बारे डिटेल्स से जाने।

जब आप एग्जाम में क्वालीफाई हो जाएंगे उसके बाद आप दो तरीके से कॉलेज में एडमिशन ले सकते है।

पहला है, सरकारी कॉलेज में और दूसरा है, प्राइवेट कॉलेज में। सरकारी कॉलेज में प्रवेश, ऑनलाइन काउंसलिंग के माध्यम से ही हो जाते है।

और काउंसलिंग के दौरान कुछ प्राइवेट कॉलेज में भी दाखिला मिलते है यदि आप वहां पर दाखिला नहीं लेना चाहते है तो आप अपनी मन पसंद किसी कॉलेज में जाकर एडमिशन ले सकते है।

ऐसे में आपको ज्यादा कोर्स फीस देना पड़ेगा। इसलिए अच्छे से पढ़ाई करके सरकारी कॉलेज में दाखिला ले लीजिए।

BAMS ki fees (बीएएमएस की फीस कितनी है)

यदि आप जानना चाहते है कि BAMS ki fees kitni hai तो आपको बता दूं, ये कॉलेज के ऊपर निर्भर करती है।

>> DMLT में अपनी करियर कैसे बनाये

हर कॉलेज में अलग अलग कोर्स फीस देखने को मिलेगा। अगर औसत कोर्स फीस की बात करे तो 20,000 से 1,50,000 तक होते है।

Top BAMS College in India

• बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (BHU), बाराणसी, उत्तर प्रदेश

• गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी (GGSIPU), नई दिल्ली

• तिलक आयुर्वेद महाविद्यालय (TAM), पुणे, महाराष्ट्र

• छत्रपति शाहू जी महाराज यूनिवर्सिटी (CSJMU), कानपुर, उत्तर प्रदेश

• माधव यूनिवर्सिटी (MU), सिरोही, राजस्थान

• पतंजलि आयुर्वेद कॉलेज (PAC), हरिद्वार, उत्तराखंड

• आर्यभट्ट नॉलेज यूनिवर्सिटी (AKU), पटना, बिहार

• भारती विद्यापीठ डीम्ड यूनिवर्सिटी (BVDU), मुंबई, महाराष्ट्र

• गवर्नमेंट आयुर्वेदिक कॉलेज हॉस्पिटल, पटना, बिहार

इन कॉलेज के अलावा भी ढेर सारे कॉलेज है जहां से आप बीएएमएस के कोर्स करके आयुर्वेदिक डॉक्टर बन सकते है।

>> D pharma करके फार्मासिस्ट बने

BAMS ke baad kya kare

यदि आपके मन मे ये सवाल आ रहा है की बीएएमएस के बाद हम क्या करेंगे तो आपको बता दूं, BAMS पूरा होने के बाद आपके सामने कई सारे रास्ते खुल जाते है।

आप चाहे तो नौकरी भी कर सकते है या फिर आगे की पढ़ाई जारी रख सकते। हायर स्टडी करने के लिए सबसे अच्छी कोर्स है, MD या MS कर सकते है।

इसके अलावा आप व्हहै तो MBA (Master of Business Administration) के कोर्स कर सकते है।

और अगर नौकरी करना चाहते है तो इन पोस्ट में काम कर सकते है।

अस्पतालों में आयुर्वेद डॉक्टर: सरकार के नियम के अनुसार हर अस्पताल में कम से कम एक आयुर्वेद डॉक्टर होना अनिवार्य है।

सरकार के इस नियम से कई सारे स्टूडेंट्स जो बीएएमएस के पढ़ाई करना चाहते वे प्रेरित होगा।

प्राइवेट नर्सिंग होम में आयुर्वेद डॉक्टर: आप चाहे तो निजी अस्पतालों में भी आयुर्वेदिक डॉक्टर के तौर पे काम कर सकते है।

Diploma in Mass Communication

कॉलेज लेक्चरर: अगर आपको पढ़ाने में मजा आता है तो कॉलेज लेक्चरर के नौकरी आपके लिए बेस्ट है। लेकिन इसके लिए आपको स्नातकोत्तर होना पड़ेगा

आयुर्वेदिक साइंटिस्ट: यदि आपके रिसर्च में रुचि है तो आप रिसर्च में अपनी करियर बना सकते है।

प्राइवेट क्लिनिक: आप खुदकी क्लिनिक भी खोल सकते है।

फार्मास्यूटिकल कंपनी: आयुर्वेदिक फार्मा कंपनी में इस डिग्री धारकों के लिए अछि अवसर है। आप चाहे तो यहां काम कर सकते है।

कुछ आयुर्वेदिक कंपनी के नाम आगे दिया गया है:

• Dabur India Limited

• Patanjali Ayurved Limited

• Ashoka Pharmaceuticals

• Shree Baidyanath Ayurved Bhawan (P) Ltd

• Dhanwantari Distributors Pvt. Ltd

• Zandu Ayurveda

• Aayurmed Biotech Pvt. Ltd

• Apex Laboratories Ltd

इन कंपनी के अलावा ढेर सारे आयुर्वेदिक फार्मा कंपनी है जहां आप काम कर सकते है।

BAMS ki Salary

यदि आप सोच रहे है कि BAMS ki salary kitni hoti hai तो आपको बता दूं, यदि आप सिर्फ बीएएमएस कोर्स करते है तो आपको सरकारी अस्पतालों में MBBS डॉक्टर के समान सैलरी मिलेगा।

>> इंजीनियर बनने के लिए Polytechnic कोर्स के बारे में जाने

इसके अलावा अगर कोई दूसरे जगज काम करते है तो जॉब के पोस्ट के अनुसार आपको सैलरी मिलेगा।

फिरभी यदि औसतन सैलरी की बात करे तो स्टार्टिंग में 40,000 से 60,000 तक सैलरी आसानी से मिल जाएगा।

जैसे जैसे आपके अनुभव बढ़ेंगे आपके सैलरी में भी बढ़ौतरी होगी।

निष्कर्ष: आज की इस आर्टिकल में आपको BAMS Course Details in Hindi के बारे में जानकारी प्रदान की गई है।

आशा करता हूं, आपको समझ आ गया होगा कि BAMS kya hai, BAMS ka full form क्या है, bams ki fees kitni hai, Bams ke baad kya kare इत्यादि।

कमेंट करके आप अपनी अनुभव हमारे साथ साझा कर सकते है और अपनी जिन दोस्तो मेडिकल क्षेत्र में अपनी करियर बनाना चाहते है उनके साथ ये आर्टिकल अवश्य शेयर करे।

ऐसे ही शानदार जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करे और हमे सोशल मीडिया में फॉलो करें।

धन्यवाद!

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Telegram