Notifications
×
Subscribe
Unsubscribe

Automobile Engineering: पात्रता, फीस, एडमिशन, नौकरी, सैलरी डिटेल्स

अगर आप Automobile engineer बनना चाहते है या automobile engineering की पढ़ाई करने करना चाहते है तो आज की आर्टिकल आपके लिए है इस आर्टिकल हम ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग कोर्स के बारे में बात करने वाले है।

इसलिए अगर आप को जानना है कि ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग क्या है, ऑटोमोबाइल इंजीनियर कैसे बने, कोर्स की फीस कितनी होगी, एडमिशन प्रॉसेस क्या है, सिलेबस क्या है, कौन से नौकरी मिलेगी, सैलरी कितना है, इत्यादि।

इन सभी विषयों के बारे में बारीकियों से जानने के लिए इस आर्टिकल को आखिरी तक ध्यानपूर्वक पढ़े तभी आपको automobile engineering course details के बारे में अच्छे से समझ आएगा।

Automobile engineering kya hai

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग वाहन क्षेत्र का एक इंजीनियरिंग कोर्स है जहां अभ्यथियों को वाहनों का डिज़ाइन, विकास, निर्माण तथा गुणवत्ता परीक्षण के बारे में पढ़ाई जाती है।

Automobile engineering, automobile engineer kaise bane, automobile engineering ke smfees

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग के क्षेत्र में जितने भी वाहन होते है उसके पुर्जे को कैसे बनाते है, कैसे मरम्मत करते है, कैसे उसे समय के साथ डेवेलोप किया जाता है उसके बारे खास जानकारी दी जाती है।

Automobile engineer बनने के लिए कई सारे कोर्स है। जैसे सर्टिफिकेट, डिप्लोमा बैचलर कोर्स इत्यादि। कोर्स पूरा होने के पश्चात उम्मीदवारों को वाहन क्षेत्र में अच्छे खासे तनख्वाह के नौकरी मिल जाते है।

Automobile Engineer बनने के लिए योग्यता

इंजीनियरिंग के दूसरे कोर्स की तरह इसके लिए भी कुछ पात्रता चाहिए नो आप आगे देख सकते है:

• शैक्षणिक योग्यता की बात करे तो किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 पास करना होगा फिजिक्स, केमिस्ट्री एबं मैथेमेटिक्स विषय से। इन सभी विषयों में न्यूनतम 50 प्रतिशत नंबर की मांग होती है।

जनरल वर्ग के छात्र के 12वी में कम से कम 50 प्रतिशत नंबर चाहिए और अनुसूचित जनजातियों के छात्रों के लिए नियमानुसार 5 प्रतिशत नंबर की छूट मिलती है।

आपके जानकारी के लिए बता दे, यह कोर्स 10वी के बाद भी किया जा सकता है। इसके पूरे प्रॉसेस आगे मिल जाएगा।

ध्यान रहे, आर्ट्स और कॉमर्स के छात्र बी ऑटोमोबाइल इंजीनियर बन सकते है। इसके लिए जो भी पदक्षेप लेना होता उसके बारे में हमने आर्टिकल के नीचे बताये है।

• ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग के कोर्स में दाखिला लेने के लिए न्यूनतम 17 साल की होनी चाहिए। हालांकि अगर आप डिप्लोमा के कोर्स करेंगे तो इसके लिए न्यूनतम14 साल की आयु होनी चाहिए।

Automobile Engineer kaise Bane

ऑटोमोबाइल इंजीनियर बनने के लिए ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग के कोर्स करना होता। इसके लिए जो कोर्स उपलब्ध है वे आगे दिया गया है।

Diploma in automobile engineering: ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा कोर्स करने के न्यूनतम 10वी पास करना होगा। उसके बाद पॉलीटेक्निक के एग्जाम देकर आप ऑटोमोबाइल इंजीनियर बन सकते है।

डिप्लोमा तीन साल की कोर्स है जिसमे थ्योरी से अधिक प्रैक्टिकल ज्ञान के ऊपर ज्यादा ध्यान दिया गया है। तीन साल की डिप्लोमा कोर्स पूरा होने के पश्चात जूनियर इंजीनियर के रूप में नौकरी मिलते है।

ध्यान रहे, डिप्लोमा इन ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग के कोर्स 10वी तथा 12वी के बाद कोई भी कर सकते है।

Bachelor in automobile engineering: ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में  बैचलर डिग्री यानी B tech करने के लिए न्यूनतम 12 वी पास करना होगा किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से फिजिक्स, केमिस्ट्री तथा मैथेमेटिक्स से।

यह चार साल की डिग्री कोर्स है जिसमे कुल 8 सेमेस्टर लिया जाता है, प्रत्येक छह माह के अंतराल में। चार साल पूरा होने के पश्चात सिनियर इंजीनियर के रूप में नौकरी मिलते है।

ध्यान रहे, अगर कोई स्टूडेंट ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करने के बाद बैचलर डिग्री करना चाहते है तो बैचलर डिग्री के दूसरे वर्ष में लेटरल एंट्री मिल जाएगा। यानी डिप्लोमा के बाद बीटेक करने के लिए आपको तीन साल पढ़ाई करने होगा।

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग के ग्रेजुएशन कोर्स में दाखिला लेने के लिए हर राज्य अलग अलग नाम से एंट्रेंस एग्जाम लिया जाता है पहले उसे उत्तीर्ण होना होगा। जैसे, JEE Mains और JEE Advance.

Automobile Engineering ke Admission process: इस कोर्स में दो तरीके से एडमिशन लिया जाता है, मेरिट के आधार पर एडमिशन और डायरेक्ट एडमिशन।

मेरिट के आधार पर एडमिशन लेने के लिए जो भी इंग्रन्के एग्जाम होता उसे उत्तीर्ण होना होता। एग्जाम में प्राप्त नंबर के आधार पर रैंक तैयार लिस्ट बनाई जाती है और उसी के आधार पर दाखिला मिलता।

अगर रैंक अच्छा हुआ तो सरकारी कॉलेज में दाखिला मिल जाएगा नहीं तो प्राइवेट कॉलेज में शीट मिलेगी।

इसके अलावा आप चाहे तो डायरेक्ट एडमिशन भी ले सकते है। इसके लिए आपको कोई भी एंट्रेंस एग्जाम देने की आवश्यकता नहीं, आप जिस कॉलेज में दाखिला लेना चाहते उसके साथ संपर्क करना होगा। इसके बाद एडमिशन फीस देने के पश्चात एडमिशन ले लेना है।

Automobile engineering course fees

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग कोर्स की फीस देखा जाए तो सरकारी और निजी कॉलेज में भिन्न होता है। अगर सरकारी कॉलेज की बात करे तो, इंसमे बहुत ही कम फीस लगते है। परंतु निजी कॉलेज में सरकारी कॉलेज से बहु गुना ज्यादा फीस लिया जाता है।

जैसे की आप को पहले ही बताया ऑटोमोबाइल इंजीनियर बनने के लिए डिप्लोमा और बीटेक किया जाता है। डिप्लोमा करने के लिए 5,000 से 45,000 रुपये तक सालाना खर्च होता है। और ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में बीटेक करने लिए 10,000 से 60,000 रुपये सालाना लग जाता है।

Best Automobile engineering Colleges

  • Manipal Institute of Technology – [MIT], Karnatak
  • Amity University, Uttar Pradesh
  • Kalinga Institute of Industrial Technology – [KIIT], Odisha
  • IIT Madras – Indian Institute of Technology – [IITM], Tamil Nadu
  • National Institute of Technology – [NITP], Bihar
  • Birla Institute of Technology – [BIT Mesra], Jharkhand
  • Punjab Engineering College University of Technology – [PEC], Chandigarh
  • School of Engineering and Technology, NCU – [SOET], Haryana
  • Vellore Institute of Technology – [VIT University], Tamil Nadu
  • Veermata Jijabai Technological Institute – [VJTI], Maharashtra
  • National Institute of Technology – [NIT], Telangana
  • National Institute of Technology – [NIT], Tripura
  • Ganpat University – [GUNI], Gujarat
  • Graphic Era University, School of Engineering and Technology – [GEU], Uttarakhand
  • Maulana Abul Kalam Azad University of Technology – [MAKAUT], West Bengal
  • Sharda University – [SU], Uttar Pradesh
  • Singhania University, Rajasthan
  • University Institute of Technology, Rajiv Gandhi Proudyogiki Vishwavidyalaya – [UIT- RGPV], Madhya Pradesh

Automobile engineering ke Baad kya kare

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग के बाद अवसर मि बात करे तो, अगर कोई डिप्लोमा किया है तो आगे की पढाई कर सकते है। इसके लिए सबसे अच्छा है बैचलर ऑफ ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग। इसके बाद आप चाहे तो मास्टर डिग्री यानी पोस्टग्रेजुएट डिग्री कर सकते है।

और अगर कोई चाहे तो ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग के कोर्स पूरा होने के पश्चात नौकरी भी कर सकते है। एक ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग निम्नलिखित क्षेत्र में आवेदन कर सकते है।

  • ऑटोमोबाइल प्रोडक्शन इंडस्ट्रीज
  • मोटर वेहीकल विभाग
  • प्रोडक्शन प्लांट
  • ऑटोमोबाइल सर्विसिंग स्टेशन
  • इंडियन रेलवे
  • स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन
  • प्राइवेट ट्रांसपोर्ट कंपनी

Top Recruiting Companies

इंडिया तथा विदेशों में कई सारे कंपनी है जो ऐसे उम्मीदवारों को अपने कंपनियों में नियुक्त करते है।

  • टाटा
  • महिंद्रा एंड महिंद्रा
  • मारुति
  • फोड
  • अशोक लेलैंड
  • बजाज

Automobile engineer ke Salary

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग कोर्स तथा काम के तजुर्बे के ऊपर निर्भर करके सैलरी स्केल निर्धारित होता है। आमतौर पर डिप्लोमा इन ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग के उम्मीदवारों को कम सैलरी मिलते है, लगभग ₹12,000 से ₹15,000 प्रति माह।

परंतु ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में बीटेक करने वालो को अच्छे सैलरी स्केल दिया जाता है, लगभग ₹15,000 से ₹30,000. जैसे जैसे काम के तजुर्बे बढ़ते है सैलरी भी बढ़ना सुरु हो जाता।

निष्कर्ष: इस आर्टिकल में हमने Automobile engineering course के बारे में बताये है ताकि आप को automobile engineer बनने में कोई भी परेशानी न आये।

अगर आप को समझ आया कि ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग कोर्स क्या है, ऑटोमोबाइल इंजीनियर कैसे बने, इसके लिए कितना फीस लगेगा, एडमिशन प्रॉसेस क्या है, कोर्स करने के बाद कौन से नौकरी मिलेगी, सैलरी कितना है, इत्यादि तो अपने दोस्तों से यह जानकारी साझा करें।

यह पढ़े:

Mechanical engineering Course Details

Biotechnology Course Details

कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग

Electronics and communication engineering

दोस्तों के साथ शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published.